Monday, July 3, 2017

एम.ए. (जर्नलिज्म व मास कम्युनिकेशन) के लिए आवेदन अब 21 जुलाई तक

फरीदाबाद, 3 जुलाई,2017(abtaknews.com)वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद ने शैक्षणिक सत्र 2017-18 के लिए एम.ए. (जर्नलिज्म व मास कम्युनिकेशन) पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि को 4 जुलाई से बढ़कर 21 जुलाई करने का निर्णय लिया है। इस पाठ्यक्रम में दाखिला लेने के इच्छुक विद्यार्थी ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन आवेदन भी कर सकते है। यह निर्णय ऑनलाइन आवेदन में कला संकाय के विद्यार्थियों को आ रही दिक्कतों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। हालांकि एमसीए, एमबीए तथा मैथ, फिजिक्स, कैमिस्ट्री व एनवायरमेंटल साइंस विषयों में एमएससी पाठ्यक्रम के लिए आनलाइन दाखिले की अंतिम तिथि 4 जुलाई तथा एम.टैक व एमसीए (लेटरल एंट्री) के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 21 जुलाई रहेगी, जिसमें कोई बदलाव नहीं किया गया है।ऑनलाइन आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की सुविधा एवं तकनीकी सहयोग के लिए विश्वविद्यालय द्वारा हेल्प डेस्क स्थापित किया गया है। उल्लेखनीय है कि एम.ए. (जर्नलिज्म व मॉस कम्युनिकेशन) विश्वविद्यालय में शुरू किया गया पहला कला विषय का पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम को विगत वर्ष 30 सीटों के साथ शुरू किया गया था। पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए पात्रता न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी विषय में ग्रेजुएशन है। ऑफलाइन आवेदन की सुविधा सिर्फ एम.ए. (जर्नलिज्म व मास कम्युनिकेशन) पाठ्यक्रम के लिए रहेगी। ऑफलाइन आवेदन के लिए आवेदन प्रपत्र विश्वविद्यालय की वेबसाइट से डाउनलोड किया जा सकता है। पूरी तरह से भरे हुए आवेदन प्रपत्र 1000 रुपये (एससी/एसटी विद्यार्थियों के लिए 500 रुपये) के डिमांड ड्राफ्ट जोकि विश्वविद्यालय के कुलसचिव के पक्ष में देय होगा तथा जरूरी दस्तावेजों के साथ 21 जुलाई, 2017 को सायं 4 बजे तक प्राप्त किये जायेंगे। इस संबंध में विस्तृत विवरणिका विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर देखी जा सकती है। --------------------   वाईएमसीए विश्वविद्यालय ने पलवल व फरीदाबाद के संबद्ध कालेजों से मांगी जरूरी जानकारी -संबद्ध कालेजों के मामलों की देखरेख के लिए संबंधता शाखा का गठन, प्रो. संदीप ग्रोवर बने डीन (इंस्टीट्यूशन्स) -संबद्ध बी.एड. तथा इंजीनियरिंग कालेजों के प्राचार्यों तथा निदेशकों के साथ कुलपति जल्द करेंगे बैठक फरीदाबाद, 3 जुलाई - वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद ने संबद्ध कालेजों के मामलों की देखरेख के लिए संबद्धता शाखा का गठन किया है तथा जिला पलवल एवं फरीदाबाद के सभी संबद्ध इंजीनियरिंग तथा बी.एड को अपने कालेजों से संबंधित मूल विवरण तथा महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा करवाने के निर्देश जारी किये है ताकि उनकी विश्वविद्यालय के साथ संबद्धता प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जा सके। इस संबंध में जानकारी देते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने बताया कि राज्य सरकार ने अधिसूचना के माध्यम से वाईएमसीए विश्वविद्यालय को शैक्षणिक वर्ष 2017-18 से जिला पलवल तथा फरीदाबाद में स्थित सभी (सरकारी तथा गैर सरकारी) बी.एड. और इंजीनियरिंग कालेजों पर अपनी शक्तियों के प्रयोग के लिए अधिकृत किया है। इन कालेजों में शैक्षणिक सत्र 2017-18 से पहले दाखिल हुए विद्यार्थी वाईएमसीए विश्वविद्यालय बन जायेंगे। हालांकि वे अपने पाठ्यक्रमों व अध्ययनों के शेष भाग के लिए संबंधित सम्बद्ध विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षित तथा प्रमाणित किये जायेंगे। विश्वविद्यालय द्वारा संबद्धता के मामलों को गति प्रदान करने के लिए प्रो. संदीप ग्रोवर को संकायाध्यक्ष (संस्थान) के रूप में नामित किया है तथा कई अन्य कदम उठाये है। कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा संबद्धता से संबंधित मामलों तथा नये शैक्षणिक सत्र की तैयारियों पर चर्चा के लिए जल्द ही सभी संबद्ध बी.एड. तथा इंजीनियरिंग कालेजों के प्राचार्यों तथा निदेशकों की एक बैठक बुलाई जायेगी। उन्होंने बताया कि संबद्ध कालेजों की सुविधा के लिए विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर लिंक http://ymcaust.ac.in/affiliation उपलब्ध करवाया गया है, जिसके अंतर्गत कालेज संबंधित जानकारी हासिल कर सकते है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर प्रदर्शित करने के लिए कालेजों से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियां मांगी गई है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: