Friday, June 23, 2017

प्रेमी को फंसाने के लिये वकील पूजा ने अपनी ही बहन के हाथों करवाया था बच्चा चोरी, दोनों बहनें गिरफ्तार

फरीदाबाद (abtaknews.com) 23 जून,2017 ; गाजियाबाद की वकील पूजा ने फरीदाबाद में अपनी सगी बहन को 10 हजार रूपये देकर अपने प्रेमी को फंसाने के लिये करवाया था सिविल अस्पताल से 15 दिन का बच्चा चोरी।  फरीदाबाद के सिविल अस्पताल से 21 जून को दो दिन पहले महिला द्वारा चुराये गये 15 दिन के बच्चे को क्राईम ब्रांच डीएलएफ टीम ने गाजियाबाद से बरामद कर लिया है और आरोपी दो सगी बहनों को भी बच्चे का अपहरण करने के आरोप में गिरफ्तार कर मामला दर्ज कर लिया है। बता दें कि आरोपी वकील पूजा तलाकशुदा है जिसके पहली शादी से एक लडका और एक  लडकी भी है, पूजा संजय नाम के एक युवक से प्यार करती है जिसे वो उसके बच्चे की मां बनने के ड्रामे में फंसाकर शादी करना चाहती थी। 

अपनी मां की खोद में वही बच्चा है जिसे दो दिन पहले एक महिला नेे सिविल अस्पताल से अपनी सगी बहन के कहने पर चुरा लिया था। जिसकी बच्चा चोरी वाली पूरी करतूत अस्पताल में लगे हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। पुलिस ने इस मामले को तत्परता से लेते हुए दो दिन के समय अंतराल में सुलझा दिया है, जांच करते हुए क्राईम ब्रांच डीएलएफ टीम ने गाजियाबाद से आरोपी महिला और उसकी बहन को गिरफ्तार कर बच्चे को बरामद कर लिया है। पुलिस ने नवजात बच्चे को उसकी मां को सोंप दिया है। बता दें कि पूजा ने अपनी ही बहन को बच्चो चोरी करने के लिये 10 हजार रूपये दिये था जिसके बाद से कविता सिविल अस्पताल में पिछले कई दिनों से बच्चों की फिराक में घूम रही थी।

पूरे मामले की जानकारी देते हुए क्राईम ब्रांच इंचार्ज जसवीर ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि गाजियाबाद में रहने वाली आरोपी पूजा ने अपनी ही बहन को 10 हजार रूपये देकर फरीदाबाद सिविल अस्पताल से बच्चा चोरी करवाया था। पूजा तलाकश्ुादा है जिसके दो बच्चे भी है मगर वह संजय नाम के युवक से शादी करना चाहती थी जिसके लिये उसने अपने प्रेमी संजय से कहा था कि वो उसके बच्चे की मां बनने वाली है मगर संजय ने ध्यान नहीं दिया, जिसे सबूत दिखाकर शादी करने के लिये फंसाने के चक्कर में पूजा ने बच्चे का चुरवाया, ताकि वो अपने प्रेमी को दिखा सके कि वो उसके बच्चे की मां बन चुकी है। हाल ही में पुलिस ने दोनों बहनों कि खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है । 

आरोपी पूजा ने बताया कि उसके पहले से ही एक लडका और एक लडकी है बस प्रेमी से शादी करने के लिये पूरा जाल बिछाया था।बच्चे को वापिस पाने के बाद मां ने पुलिस प्रशासन का आभार जताया और कहा कि वो तो बच्चे को वापिस पाने की उम्मीद ही खो चुके थे। वहीं पिता ने सिविल अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा है अस्पताल की लापरवाही का खामियाजा आमजनों को भुगतना पडता है इसलिये अस्पताल प्रशासन के खिलाफ सख्ती से कार्यवाही की जाये। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: