Tuesday, June 6, 2017

भाई की मौत के गम में बहन ने भी अस्पताल में तोडा दम. पुलिस और डाक्टर ने की लापरवाही


पलवल /फरीदाबाद 6 जून,2017(abtaknews.com)पलवल में जमीनी विवाद के चलते हुई मारपीट के कारण ईलाज के लिये फरीदाबाद सिविल अस्पताल पहुंचे 27 बर्षीय धर्मेन्द्र ने अस्पताल की इंमरजेंसी में दम तोड दिया, अनहोंनी तो उस वक्त हुई जब भाई के गम में अस्पताल के अंदर ही 25 बर्षीय बहन सीमा रानी की भी मौत हो गई। बता दें कि पलवल में जमीनी विवाद के कारण मारपीट के चलते आई गंभीर चोटों के बाद युवक के परिजन उसे फरीदाबाद लेकर पहुंचे जहां उसकी मौत हो गई, मौत के बहन की तबीयत भी अचानक देखते ही देखते बिगड गई और बहन ने भी भाई की मौत के गम में दम तोड दिया। एक ही परिवार के भाई बहन की एक साथ हुई मौत के बाद मां और बडे भाई ने मौत का जिम्मेदार पुलिस और डाक्टरों की लापरवाही को बताया है। मृतक भाई बहन को पोस्टमार्डम के लिये शवगृह में रखवा दिया गया है। हाथों में फोटो एलबंम लेकर अपने बेटे और बेटी की मौत पर चीख -चीखकर आंसू बहाती हुर्ई दिखाई दे रही ये एक मां है जिसके बेटे की जमीनी विवाद में हुई मारपीट के चलते मौत हो गई और बेटी ने भाई की मौत के गम में अस्पताल में ही दम तोड दिया। एक साथ हुई बेटे और बेटी की मौत के बारे में मां लक्ष्मी से बात की गई तो उन्होंने रोते हुए कहा कि अगर थानेदार उनके द्वारा दी गई शिकायत पर कार्यवाही कर लेता तो आज उसके बेटा और बेटी दोनों उसके पास ही होते। लक्ष्मी ने बताया कि वो पलवल में रहते हैं जहां एक स्कूल के पास कुछ जमीन को लेकर उसके बेटे के साथ गुंडों ने मारपीट की थी जिसे ईलाज के लिये फरीदाबाद लाया गया तो डाक्टरों ने उसे मृत बता दिया उसके बाद उसकी बेटी की तबीयत खराब होने लगी, उसने फरीदाबाद सिविल अस्पताल की इंमरजेंसी ड्यूटी पर तैनात महिला डाक्टर को बेटी का ईलाज करने के लिये कहा तो उसने मना करते हुए कहा कि पलवल ले जाकर ईलाज करवाओ यहां ईलाज नहीं होगा, बस फिर क्या था कुछ समय बीतने के बाद बेटी सीमा की हालात ज्यादा खराब हो गई उसने भी अस्पताल में ही दम तोड दिया। मां लक्ष्मी ने रोते बिलखते हुए पुलिस और डाक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: