Sunday, June 4, 2017

उद्योगमंत्री विपुल गोयल ने बढ़ते प्रदूषण को लेकर उद्योगपतियों को उन्हीं के कार्यक्रम में पहले हिदायत और फिर दी चेतावनी


फरीदाबाद (abtaknews.com )पर्यावरण केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने एक बार फरीदाबाद के उद्योगपतियों को उन्हीं के कार्यक्रम के दौरान हिदायत और चेतावनी दोनों देते हुए कहा है कि सभी उद्योगपति पर्यावरण को स्वच्छ बनाने में सरकार की सहायता करें अन्यथा सरकार द्वारा कडी से कडी कार्यवाही की जायेगी। मंत्री गोयल डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा आयोजित किये गये अवेयरनेस मीट एंड इन्फ्ऱास्ट्रक्चर सैशन में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे, जो कि एनआईटी और डीएलएफ कंपनी क्षेत्र को आधारभूत सुविधायें देने के लिये तैयार की गई डीपीआर को लेकर किया गया। जिसमें दर्जनों बिषयों पर चर्चा हुई और 22 करोड एनआईटी व 42 करोड डीएलएफ में दी जाने वाली सुविधाओं के लिये पहले चरण में खर्च किये जायेंगे।

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में स्मार्ट उद्योगों को बनाने के लिये उद्योग व पर्यावरण केबिनेट मंत्री विपुल गोयल लगातार प्रयासरत नजर आ रहे हैं जिसका एक कदम डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा आयोजित किये गये अवेयरनेस मीट एंड इन्फ्ऱास्ट्रक्चर सैशन में देखने को मिला जहां मुख्यअतिथि के रूप में पहुंचे मंत्री विपुल गोयल ने कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्वोलित करके की। कार्यक्रमें एनआईटी और डीएलएफ क्षेत्र के सैंकडों उद्योगपतियों के साथ -साथ नगर निगम अधिकारी व एचआईआईडीसी के अधिकारी भी मौजूद रहे। कार्यक्रम एनआईटी और डीएलएफ कंपनी क्षेत्र में आधरभूत सुविधायें देने के लिये आयोजित किया गया जिसकी डीपीआर बनकर तैयार कर ली  गई जिसके तहत पहले चरण में 22 करोड एनआईटी और 42 करोड डीएलएफ में खर्च किये जायेंगे। 
इस बारे में मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि जल्द ही फरीदाबाद के उद्योगों को हरा भरा कर दिया जायेगा, इस बीच मंत्री ने सभी उद्योगपतियों को हिदायत और चेतावनी दोनों देते हुए कहा है कि सभी उद्योगपति पर्यावरण को स्वच्छ बनाने में सरकार की सहायता करें अन्यथा सरकार द्वारा कडी से कडी कार्यवाही की जायेगी।

डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान जे पी मल्होत्रा ने कहा कि उद्योगिक क्षेत्रों में आधरभूत सुविधायें देने के लिये विचार विमर्श किया गया है और जल्द ही सभी सुविधायें दे दी जायेगी। वहीं उन्होंने मंत्री की चेतावनी को स्वीकार करते हुए कहा कि वो शहर को स्वच्छ बनाने में उनके साथ हैं अगर कोई स्वच्छता में उनका साथ नहीं देता है और पर्यावरण को दूषित करता है तो उसपर कार्यवाही की जाये।

loading...
SHARE THIS

0 comments: