Thursday, June 15, 2017

सात दिवसीय नाट्य एवं कला महोत्सव के तीसरे दिन एक शाम ग़ज़ल के नाम रहा



फरीदाबाद(abtaknews.com)हरियाणा कला परिषद व बृज नट मण्डली द्वारा हुड्डा कन्वेंसन हॉल सेक्टर 12 में चल रहे सात दिवसीय नाट्य एवं कला महोत्सव के तीसरे दिन प्रसिद्ध ग़ज़लकार श्री भूपेंद्र मल्होत्रा द्वारा गज़ल संध्या का आयोजन किया गया. इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में कला परिषद के वरिष्ठ सलाहकार श्री संजय भसीन, प्रयास वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष श्री जगत मदान, गायन एवं वादन के वरिष्ठ कलाकार श्री अनिल संदूजा और वरिष्ठ नाट्य कलाकार श्री अर्पित भसीन आदि मौजूद रहे.
इस मौके पर गजलकार श्री भूपेंद्र मल्होत्रा ने सरस्वती वन्दना से ग़ज़ल संध्या की शुरुआत की. इसके बाद उन्होंने कई गज़लों की शानदार प्रस्तुति दी।
"जिंदगी में तो सभी प्यार किया करते हैं,
मैं तो मर कर भी मेरी जान तुझे चाहूँगा"
इनकी इन पंक्तियों ने सभागार में उपस्तिथ सभी दर्शकों का मन मोह लिया। इसके साथ ही
"प्यार का पहला खत लिखने में वक्त तो लगता है,
नए परिंदों को उड़ने में वक्त तो लगता है". पंक्तियों ने सभागार को तालियों की गड़गड़ाहट से भर दिया।
कार्यक्रम के अंत में बृज नट मण्डली के अध्यक्ष श्री बृज मोहन भारद्वाज ने सभागार में उपस्तिथ सभी लोगों के प्यार और सहयोग का आभार प्रकट किया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: