Tuesday, June 27, 2017

डिपो होल्डरों ने किया जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रण कार्यालय पर प्रदर्शन


फरीदाबाद 27 जून,2017(abtaknews.com ) फरीदाबाद में डिपो होल्डर में को ईमानदारी छोड बेईमानी की राह दिखाने को मजबूर कर रही है सरकार, ऐसा ही कुछ आरोप फरीदाबाद के डिपो हाल्डरों ने सरकार पर लगाते हुए सेक्टर 12 स्थित जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रण फरीदाबाद के कार्यालय पर प्रदर्शन किया और कम मात्रा में मिल रहे राशन और कमीश्रन की मांग को लेकर एक ज्ञापन जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रण अधिकारी को सोंपा। डिपो होल्डरों ने अधिकारियों पर भ्रष्ट्राचार का अरोप लगाते हुए कहा है कि चंडीगढ से उन्हें कमीश्न आता है मगर अधिकारी कमीश्र देने के बदले 20 प्रतिशत रिश्वत मांगते हैं। घर-घर और गरीब से गरीब तक यानि की हर जरूरतमंत व्यक्ति तक सरकार द्वारा दिये जाने वाला राशन पहुंचना चाहिये, शायद सरकार की यही योजना होती है मगर सरकार की इन्हीं योजनाओं को सरकार के ही अधिकारी पलीता लगाते हुए नजर आते हैं, ऐसा ही फरीदाबाद में डिपो होल्डरों के साथ किया जा रहा है न तो डिपो होल्डरों को लोगों मेें राशन बांटने के लिये पूरा गेंहू दिया जा रहा है और न ही डिपो होल्डरों को कमीश्र, जब तक अधिकारी उन्हें पूरा गेंहू नहीं देगे तो वो कहां से जनता को बांटेगे। इसी संबंध में आज फरीदाबाद के डिपो होल्डरों ने जिला खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रण कार्यालय पर कम मात्रा में मिल रहे राशन और कमीश्रन की मांग को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया और अधिकारी को ज्ञापन सोंपा। इस बारे में डिपो होल्डरों की माने तो उनका कहना है कि कम मात्रा में उन्हें राशन दिया जा रहा है अगर वो राशन का वितरण लोगों में करते हैं तो किसी को पूरा राशन मिलेगा और डिपो होल्डरों को बेईमान माना जायेगा, इस बीच  कई बार तो झगडा भी हुआ है इतना ही नहीं डिपो होल्डरों को सिर्फ सरकार  द्वारा दिया जाने वाला कमीश्र ही बचता है वो भी 2 साल से नहीं दिया जा रहा है अगर किसी को मिलता है तो उसे 20 प्रतिशत अधिकारियों को रिश्वत देनी पडती है। उनकी मांग है कि गेहू पूरी मात्रा में उन्हें मिलना चाहिये ताकि वो सभी को बांट सके और उन्हें कमीश्र समय से मिलना चाहिये ताकि किसी के मन में बेईमानी करने का ख्याव ही न आये।

loading...
SHARE THIS

0 comments: