Monday, June 19, 2017

रोडवेज बस कन्डक्टर और ड्राईवरों की आंखों का किया टेस्ट


फरीदाबाद 19 जून,2017(abtaknews.com )सडक़ सुरक्षा एवं सुरक्षित स्कूल वाहन पॉलिसी के तहत समीरपाल सरो, आईएएस, उपायुक्त, फरीदाबाद के आदेशानुसार, आशुतोष राजन एचसीएस, सचिव आरटीए के दिशा निर्देशानुसार सडक़ सुरक्षा के नोडल अधिकारी डा0 एमपी सिंह ने माननीय उच्च न्यायालय के आदेशों की पालना करने हेतु हरियाणा रोडवेज, बल्लबगढ में कार्यरत बस कन्डक्टर और ड्राईवर की आंखों का टेस्ट करने हेतु आई टेस्ट कैम्प सिविल अस्पताल, फरीदाबाद के साथ लगाया, जिसका विधिवत उदघाटन राजीव नागपाल, महाप्रबन्धक, हरियाणा रोडवेज ने किया। इस अवसर पर श्री सुखबीर सिंह, सहसचिव कार्यालय सचिव प्रादेशिक परिवहन प्राधिकरण फरीदाबाद, नानक चन्द चीफ इन्सपैक्टर आई स्पेशलिस्ट डा0 निधि व डा0 ललित भी मौजूद थे। 
सडक़ सुरक्षा के नोडल अधिकारी डा0 एमपी सिंह ने कहा कि समय रहते हुए यदि दृष्टि दोष का पता चल जाता है तो भविष्य में होने वाली दुर्घटनाओं से बचा जा सकता है। इस अवसर पर राजीव नागपाल, महाप्रबन्धक ने डाक्टरों को सम्बोधित करते हुए कहा कि बस चालक की यदि दृष्टि ठीक नहीं है और गाड़ी चलाने के काबिल नहीं है तो कृपया हमारे ऑफिस में लिखित में सूचना दें ताकि गाड़ी में बैठी हुई 55 सवारियों का जानमाल का नुकसान ना हो। 
डा0 निधि व डा0 ललित ने 58 लोगों के आंखों की जांच पड़ताल की जिनको दवाई की जरूरत थी उनको दवाई लिखी और जिनको चश्मा बदलने की जरूरत थी उनके चश्मा बदले। कुछ बस ड्राईवर जिनकी उम्र 55 साल से ऊपर की थी जिनका शुगर लेवल बढा हुआ था या पहले जो आंखे बनवा चुके थे उनको सावधानी बरतने की हिदायत दी। 
उपायुक्त, समीरपाल सरो का कहना है कि बस में अनेकों परिवार यात्रा करते हैं उनको गन्तव्य स्थान तक सुरक्षित पहुंचाना जिला प्रशासन का काम है इसलिए प्रशासन समय-समय पर परिवहन आयुक्त के आदेशानुसार चालक और परिचालकों के लिए आई टैस्टअप कैम्प, हैल्थ चैकअप कैम्प व जागरूकता कार्यक्रम प्रादेशिक परिवहन प्राधिकरण के साथ मिलकर व रोड सेफ्टी के नोडल अधिकारी के साथ मिलकर पर करते रहते हैं। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: