Monday, June 26, 2017

सुपरहिट निर्देशक सुनील अग्निहोत्री के बेटे सिद्धार्थ भी निर्देशक बने



मुंबई (abtaknews.com) 26 जून,2017 ; सुपरहिट धारावाहिक 'चंद्रकांता',बेताल पचीसी,जय गणेश तथा अक्षय कुमार के साथ फिल्मदावा','जय किशनतथा जैकी श्रॉफ के साथ 'लाटसाब'व  इत्यादि का निर्देशन करनेवाले निर्देशक सुनील अग्निहोत्री के बेटे सिद्धार्थ अग्निहोत्री ने भी एक शार्ट फिल्मइक्वल मॉम्सके जरिये फिल्म निर्देशन के जगत में अपना कदम रक्खा है। यह फिल्म यू टियूब पर काफी हिट हो गयी है।इसे निर्माण ओगिलवीमुंबई के साथ मिलकर निर्मात्री पूजा खूबचंदानी,अपेक्षा अग्रवाल व सिद्धार्थ अग्निहोत्री ने किया हैजिसके लेखक अक्षय शेठ है। फिल्म में गोद लिए(अडॉप्टेड) बच्चे की माँ के मैटरनिटी लिव जैसे संवेदनशील मुद्दे को बड़े खूबसूरत ढंग से दर्शाने का और सरकार को एक सन्देश पहुंचाने का काम किया है। इसमें एक बच्चा और उसकी माँ (प्रिया मलिक) के जरिये इसे सिर्फ दो मिनट में दिखाया गया है। जिसे कई फिल्म फेस्टिवल में भी भेजने को तैयारी हो रही है।   
             
निर्देशन सिद्धार्थ अग्निहोत्री ने न्यूयोर्क फिल्म अकादमी,न्यूयोर्क से फिल्म मेकिंग का कोर्स किया है। अपना खुद का 'ऐल्लुसिओनिस्ट फिल्म्सनामक प्रोडक्शन हाउस खोला हैजिसके जरिये विज्ञापन फिल्म,वेब सीरीज़टीवी शो इत्यादि का निर्माण करते है।फिल्मइक्वल मॉम्सका सब्जेक्ट उनको बहुत अच्छा लगाइसलिए पहली बार निर्देशन किया। इन्होने कभी भी फिल्म इंडस्ट्री में अपने पिता निर्देशक सुनील अग्निहोत्री की पहचान दिखाने की कोशिश नहीं की और ना ही वे चाहते है,उनकी से उनको कोई फेवर करे। सिद्धार्थ अपनी पहचान अपने काम से फिल्म इंडस्ट्री में  बनाना चाहते है। इसलिए पहले केवल विज्ञापन जगत से जुड़े और वहां पर काम किया।अब वे फिल्म निर्देशन करना चाहते हैलेकिन जब उनको दिल को छू लेनेवाली कोई कहानी मिलेगी तभी वे निर्देशन करेंगे। अपनी शॉर्ट फिल्म के बारे में निर्देशक सिद्धार्थ अग्निहोत्री कहते है," आज जब गर्भवती महिलाओं को तीन से छ: महीने की मैटरनिटी लिव यानि छुट्टी मिलती है तो जो महिलाये छोटे बच्चे को गोद लेती है या अडॉप्ट करती है तो उसको भी मैटरनिटी लिव क्यों नहींइसलिए सरकार को चाहिए कि वे उनको भी मैटरनिटी लिव दे।" 



loading...
SHARE THIS

0 comments: