Friday, June 2, 2017

नगर निगम में व्याप्त महाभ्रष्टाचार और अनियमितताओं को लेकर सत्याग्रह जारी



फरीदाबाद, 2 जून,2017(abataknews.com) भ्रष्टाचार विरोधी मंच ने आरोप लगाया है कि फरीदाबाद नगर निगम में व्याप्त महाभ्रष्टाचार को रोकने एवं अतीत में हुए घोटालों की जांच को मांग को लेकर पिछले 17 दिन से निगम मुख्यालय पर सत्याग्रह कर रहे आदंोलनकारियों को निरंतर मिल रहे जनसमर्थन से नगर निगम प्रशासन बौखला गया है और शांतिपूर्वक तरीके से आंदोलनक कर रहे आंदोलनकारियों को निगम मुख्यालय से हटाने की योजना बना रहा है।  मंच के संयोजक डा. ब्रहमदत्त पदमश्री और अनशनकारी बाबा रामकेवल ने आज यहां बताया कि उनके द्वारा प्रमाणों के साथ उठाए जा रहे भ्रष्टाचार के मामलों की जांच के आदेश देने की बजाए  यदि नगर निगम प्रशासन ऐसी कोई अलोकतांत्रिक या गैरकानूनी कार्यवाही  करता है इससे शहरवासियों में हरियाणा सरकार व निगम के प्रति आक्रोश और अधिक फैलेगा।  उन्होंने कहा कि उनके आंदोलन से किसी प्रकार की शांति भंग नहीं हो रही है, माईक आदि का इस्तेमाल भी नहीं हो रहा है, कोई रोड जाम नहीं किया जा रहा है, निगम कार्यालय का कोई काम बाधित नहीं हो रहा है बल्कि वे तो माननीय प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के भ्रष्टाचार मुक्त आह्वान के अनुरूप निगम के करोड़ों करोड़ रूपये के ऐसे भ्रष्टाचार के मामलों को उजागर कर रहे हैं, जिनके कारण 22 लाख की आबादी वाला फरीदाबाद शहर बरबादी के कगार पर पहुंच गया है। उन्होंने चेतावनी दी है कि जो भी अधिकारी शांतिपूर्वक आंदोलन को कुचलने के आदेश जारी करेगा उसके विरूद्ध मंच के द्वारा कानूनी कार्यवाही की जायेगी।
इधर निगम मुख्यालय पर चल रहे सत्याग्रह के समर्थन में आज 17वें दिन भी सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के महासचिव सुभाष लाम्बा, हरियाणा पर्यटन कर्मचारी संघ के महासचिव युद्धवीर खत्री, रेजिडेन्ट वैलफेयर एसोसिएशन फैडरेशन सेक्टर 3 के सचिव रतन लाल राणा, मंच के नेता धीरज हिन्दुस्तानी, विष्णु गोयल, व राजेश शर्मा, कर्मचारी नेता नरेश बैंसला, शाहाबीर खान, धीर सिंह, देवेन्द्र अधाना, महेश कौशिक, रामबिहारी यादव, शिवराज भड़ाना, सुरजीत नागर, कर्म चंद बघेल, राम चंद्र जांगड़ा, रााम सिंह खेड़ी, नाहर सिंह यादव, मान सिंह, हरीदत्त, धन सिंह अत्री, अशोक कुमार वधवा व दीप चंद शर्मा आदि भी सत्याग्रह पर बैठे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: