Wednesday, June 21, 2017

बरसात ने खोली निगम दावों की पोल, एसज़ीएम नगर में सडक पर भरा गंदा पानी, सीपीएस त्रिखा को कोसते लोग

 
waterlogging-sgm-nagar-badkhal-constituency-faridabad
 
फरीदाबाद(abtaknews.com) जलभराव को लेकर लगातार निगम फरीदाबाद में अधिकारियों की हो रही बैठकों के बाद शहर को जलभराव से मुक्त करने वाले दावों की बरसात ने पोल खोल दी है। बडखल विधानसभा क्षेत्र की संजय कालोनी में नाले का पानी ओवरफ्लो होकर घर में घुस रहा है, सडक पानी से पूरी तरह लबालबा भर चुकी है, जिससे महामारी फैलने का खतरा भी पैदा हो गया है। दुर्भागय की बात तो ये हैं कि गंदे पानी आलम हरियाणा की सीपीएस और बडखल विधानसभा की विधायक सीमा त्रिखा के निवास स्थान से मात्र 500 मीटर की दूरी पर है।  एक तरफ फरीदाबाद स्मार्ट सिटी का दर्जा हासिल करके शहर को स्मार्ट बनाने की तैयारी में नगर निगम लगा हुआ है और दूसरी तरफ निगम अधिकारी अपनी जिम्मेदारियों से बचते नजर आ रहे है। थोडी सी बरसात और सीवर व नाले का गंदा पानी गलियों में तैरने लगा है। लेकिन निगम प्रशासन केवल स्वच्छ शहर का सपना संजोये हुए कुम्भकर्णी नींद में सोया हुआ है। 
 
बडखल विधानसभा क्षेत्र के एसजीएम नगर की आर्दश कालोनी है जहां कई-कई फुट गंदा पानी सडक़ पर इस कदर भरा हुआ है कि आने-जाने वाले लोगों का यहां से गुजरना तो मुश्किल हो ही रहा है, साथ यहां रहने वाले लोगों का जीवन भी नरकीय बन गया है। कमाल की बात तो ये हैं कि सडक पर ये गंदा पानी हरियाणा की सीपीएस और बडखल विधानसभा की विधायक सीमा त्रिखा के निवास स्थान से मात्र 500 मीटर की दूरी पर है।  यह नाले का पानी है, जो एक स्पताह से भरा हुआ है। जिसके शिकायत स्थानीय विधायक व सीपीएस सीमा त्रीखा से लेकर निगम अधिकारियों को कई बार की जा चुकी है, लेकिन समस्या तस कि तस है। यहां तक कि नाले व सीवर का गंदा पानी अब तो लोगों के घरों में भी प्रवेश कर गया है, जिससे उनका सामान खराब हो रहा है और बरसाती मौसम में होने वाली बिमारियों का खतरा बना हुआ है। 
 
गंदे पानी के बीच रहने वाली महिला नजमा ने बताया कि पानी उनके घर में घुस गया है। सडक़ पर भरे गंदे पानी को एक सप्ताह हो चुका है और वे इसकी शिकायत सीपीएस सीमा त्रीखा से कर चुके है। लेकिन समाधान अभी तक कुछ नहीं हुआ है। मेयर सुमन बाला का कहना है कि पानी निकासी की कुछ मोटरे खराब हो गई थी, उन्हे ठीक करने के आदेश दे दिए गए है। बरसात में कहीं भी जल भराव न हो, इसके लिए निगम नालों की सफाई करा रहा है और रेन हार्वेसटिंग सिस्टम के अलावा निकासी की मोटरों को ठीक कराया जा रहा है। 
अगर ऐसा ही स्मार्ट सिटी है तो लोगों को नहीं चाहिए यह, उन्हे तो केवल मूलभूत सुविधाएं ही मुहैया हो, बस इतना कर दें निगम अधिकारी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: