Thursday, June 8, 2017

इंकलाबी मजदूर व इंडस्टीयल वर्करज यूनियनों ने सत्याग्रह को दिया समर्थन


फरीदाबाद, 8 जून,2017(abtaknews.com ) फरीदाबाद नगर निगम में व्याप्त महाभ्रष्टाचार को रोकने और पूर्व में हुए घोटालों की जांच की मांग को लेकर निगम मुख्यालय पर अनशनकारी बाबा रामकेवल, सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता डा. ब्रहमदत्त पदमश्री और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला के चल रहे सत्याग्रह को आज इंकलाबी मजदूर केन्द्र व वीनस इंडस्टीयल कारपोरेशन वर्करज यूनियन के कार्यकर्ताओं ने सत्याग्रह स्थल पर आकर अपने-अपने संगठनों की ओर से भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम का समर्थन किया।  इंकलाबी मजदूर केन्द्र के संजय मौर्या, जयप्रकाश व नीतेश ने और  वीनस इंडस्टीयल कारपोरेशन वर्करज यूनियन के चैयरमेन वीरेन्द्र चैधरी, प्रधान श्याम बाबू,, उपप्रधान हरवीर सिंह, महासचिव गौपाली सिंह, संगठन सचिव सुरेश चंद, उपमहासचिव विजय सिंह, प्रचार सचिव धनवीर सिंह नेगी कोषाध्यक्ष शिवनाथ और सचिव मिश्री लाल सत्याग्रहियों के साथ आज सत्याग्रह पर बैठे।  कर्मी नेता शाहाबीर खान, धन सिंह अ़ी, धीर सिंह, हरीदत्त, सुरजीत नागर, समाज सेवी तिलक राज भाटिया, रामनारायण भाटिया, राजकुमार अग्रजी, प्रबोधचन्द  शंगारी, रामबिहारी यादव, गिर्राज शर्मा, कैलाश शर्मा, सुशीला, प्रेम सिंह गोला व बसीर खान आदि भी सत्याग्रह पर बैठे।
इधर पिछले 23 दिन से सत्याग्रह कर रहे अनशनकारी बाबा रामकेवल, पदमश्री डा. ब्रहमदत्त और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला ने आज यहां आरोप लगाया है कि निग्मायुक्त व नगर निगम प्रशासन के अधिकारी भ्रष्टाचार व घोटालों के उजागर होने के कारण बौखला गये हैं और घोटालों की जांच करवाने की बजाए सत्याग्रहियों का सहयोग कर रहे कर्मचारियों और यहां तक कि रिटायर्ड कर्मचारियों तक को भी नोटिस जारी कर के कार्यवाही करने की धमकी दी जा रही है।  उन्होंने आरोप लगाया है कि निगम के उच्चाधिकारी स्वयं सीधे तौर से घोटालों में सलिप्त हैं, जिनका बाई नेम खुलाशा एक-दो दिन में कर दिया जायेगा।  उन्होंने कहा कि निगम कोष को हानि पहुंचाने के कारण ऐसे अधिकारियों के विरूद्ध एफ.आइ्र.र्आर. दर्ज करवाने पर भ्रष्टाचार विरोधी मंच गंभीरता से विचार कर रहा है।  उन्होंने निग्मायुक्त को कहा है कि छुट्टी लेकर सत्याग्रह पर बैठे कर्मचारियों को अनुशासनिक कार्यवचाही की धमकी देने की बजाए वह अपने स्वयं के कार्यकाल में हुई अदायगी की ही जांच करवा करके देख लें - उनकी आंखे फटी की फटी रह जायेगी।  निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला ने भी धमकी दी है कि यदि निग्मायुक्त व नगर निगम प्रशासन ने देशहित, नगर निगम हित व फरीदाबाद के हित में किये जा रहे शांतिपर्वूक सत्याग्रह से छेड़छाड़ करने की कोशिश की तो वह स्वयं अनशनकारी बाबा रामकेवल के साथ मरणव्रत पर बैठ जायेंगे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: