Thursday, June 15, 2017

निगमायुक्त ने ली स्वास्थ्य विभाग और निगम अधिकारियों की बैठक


फरीदाबाद, 15 जून,2017(abtaknews.com) स्वच्छ भारत मिशन के तहत चल रहे स्वच्छता पखवाड़े (शहर को खुले में शौच मुक्त करना) और मानसून सीजन को देखते हुए वार्डों में प्रतिदिन नाले-नालियों की प्रमुखता से साफ सफाई कार्यों की प्रगति रिपोर्ट को लेकर निगमायुक्त सोनल गोयल ने स्वास्थ्य विभाग, इंजीनियरिंग ब्रांच के मुख्य अभियन्ता व तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंताओं, सहायक अभियन्ताओं की मीटिंग ली जिसमें स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों को खुले में शौच मुक्त करने बारे और इंजीनियरिंग ब्रांच ने शहर के प्रमुख नाले-नालियों के सफाई कार्यों की रिपोर्ट पेष की। मीटिंग में निगम के मुख्य अभियन्ता डी.आर. भास्कर, कार्यकारी अभियन्ता श्याम सिंह (स्वास्थ्य विभाग),, रमन शर्मा, रमेष बंसल सहित तीनों जोनों के सहायक अभियन्ता और कनिष्ट अभियन्ता, एसआई, एएसआई और दरोगा भी मौजूद थे। 
मीटिंग में कार्यकारी अभियन्ता श्याम सिंह (स्वास्थ्य विभाग) ने निगमायुक्त के संज्ञान में  लाया कि  नगर निगम फरीदाबाद द्वारा नगर निगम के 40 वार्डों में स्वच्छ भारत मिषन के तहत निगम क्षेत्र को खुले में शौचमुक्त करने के लिए स्वच्छता अभियान चलाया हुआ है जिसके तहत नगर निगम के 20 वार्डों को खुले में शौचमुक्त किया जा चुका है तथा बाकी 20 वार्डों को खुले में शौचमुक्त करने के लिए नगर निगम के सफाई विभाग के सुपरवाईजरों द्वारा वार्डों के आरडब्ल्यूए के प्रधान, स्थानीय कालोनियों से लिए गए निगरानी कमेटी के मैम्बरों व वार्ड के पार्षदों के सहयोग से प्रात:काल के समय निगम क्षेत्रों में खुले में शौच कर रहे लोगों को खुले में शौच न करने के लिए जागरूक किया जा रहा है तथा उन्हें खुले में शौच करने से होने वाली बिमारियों के बारे में भी बताया जा रहा है। खुले में शौचमुक्त होने वाले वार्डों में 75 स्थानों को चिन्हित किया गया है जहां लोग खुले में शौच करते है। उन स्थानों पर नगर निगम द्वारा पोर्टेबल शौचालय उपलब्ध करवाए गए है। उन्होंने बताया कि 44 स्थानों पर 192 पोर्टेबल शौचालय निगम द्वारा उपलब्ध करवा दिए गए है और बाकी बचे 31 स्थानों पर जल्दी ही पोर्टेबल शौचालय उपलब्ध करवा दिएजाएंगे। उन्होंने बताया कि पब्लिक शौचालयों, सामुदायिक शौचालयों और नगर निगम द्वारा उपलब्ध करवाए गए पोर्टेबल शौचालयों के इस्तेमाल के बारे में लोगों को प्रेरित किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त लोगों से ;प्भ्भ्स्द्ध इंडीविजवल हाउस होल्ड लैटरिन के तहत कुल 17695 फार्म प्राप्त हुए है जिसमें से 14284 फार्म वैरिफाई किये गये जो योग्य है और 14283 फार्म अप्रूवड किए गए और 2076 फार्मो को रिजेक्ट किया गया। निगम द्वारा 8286 लाभपात्रों को पहली किष्त शौचालय बनाने के लिए जारी कर दी गई है बकाया 5054 पात्र लोगों का पैसा बैंक द्वारा उनके खातों में डाला जा रहा है इसके अलावा 5270 लाभ पात्रों ने अपने शौचालय बना लिए है जिनके फोटो बेवसाइट पर अपेडट किए जा चुके है। 
स्वच्छ भारत मिषन पखवाडे के अंतर्गत स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि 57 कम्युनिटी पब्लिक शौचालय है जिनमें 804 सीट है जो अच्छी हालत में बने हुए है। विज्ञापन नीति के तहत 38 जो पब्लिक टॉयलेट है इनमें 152 सीटे हैं को बनाने के लिए अलॉट कर दिया गया है जिनमें से दो पर कार्य चल रहा है। इसके अतिरिक्त इसी नीति के तहत 30 पब्लिक शौचालयों के लिए 5 बार टेंडर आमंत्रित किए गए परन्तु किसी भी ठेकेदार ने कार्य नहीं लिया और 16 पब्लिक शौचालय निर्माण, संचालन एवं हस्तान्तरण (ठव्ज्) आधार पर अलॉट कर दिए जिनमें से 1 शौचालय पब्लिक को इस्तेमाल हेतू निगम ने समर्पित कर दिया। इसके अतिरिक्त 45 कम्युनिटी शौचालयों के लिए 3 बार टैंडर आमंत्रित किए गए किसी भी ठेकेदार ने अभी तक कार्य नहीं लिया है। चैथी बार टैंडर आमंत्रित किए जा रहे है।
निगमायुक्त सोनल गोयल ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कहा कि 15 अगस्त 2017 तक फरीदाबाद शहर को खुले में शौच मुक्त बनाए। उन्होंने कार्यकारी अभियन्ता श्याम सिंह (स्वास्थ्य विभाग), एसआई, एएसआई, दरोगा व कनिष्ठ अभियन्ताओं को निर्देष दिये कि जो 20 वार्ड खुले में शौच मुक्त करने से रह गए है उनको शीघ्र ही अमलीजामा पहनाया जाए ताकि 15 अगस्त तक शहर को खुले में शौचमुक्त घोषित किया जा सके।  स्वच्छता अभियान के तहत निगमायुक्त ने प्रतिदिन वार्डों में साफ-सफाई जारी रखने और कूड़ा उठाने के भी आदेष दिए।
इसी प्रकार मीटिंग में चीफ इंजीनियर डी.आर. भास्कर ने भी निगमायुक्त सोनल गोयल के संज्ञान में  बताया कि नगर निगम फरीदाबाद के तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंता द्वारा प्रतिदिन शहर के नाले नालियों की सफाई करवाई जा रही है ताकि लोगों को बरसाती मौसम में किसी भी प्रकार की परेषानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने बताया कि बल्लभगढ़, ओल्ड फरीदाबाद और एनआईटी में प्रतिदिन विभिन्न क्षेत्रों में जेसीबी तथा पौकलैंड मषीन द्वारा प्रमुखता से नालों की सफाई का कार्य भी प्रगति से चल रहा है। निगमायुक्त ने इंजीनियरिंग ब्रांच के अधिकारियों को नाले-नालियों की सफाई कार्य में तेज गति लाने और मलवे को तुरंत उठवाने के आदेष भी दिए ताकि 25 जून तक नालों की सफाई का कार्य पूरा हो सकें।


loading...
SHARE THIS

0 comments: