Wednesday, June 7, 2017

फरीदाबाद में बहन को छेड़छाड़ से बचाने गए भाई को दबंगों ने मार डाला



फरीदाबाद(abtaknews.com) 06 जून,2017; सत्तारूढ़ भाजपा प्रदेश व देश में तीन साल की उपलब्धि का राग अलाप रही है और शहर के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। फरीदाबाद में दिल को दहला देने वाला एक मामला सामने आया है जहां एक भाई को अपनी बहन की इज्जत बचाने की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। दरअसल में मामला दिल्ली से सटे फरीदाबाद के भूपानी  थाना क्षेत्र  के अंतर्गत आने वाले रायपुर कला इलाके का है जहां पर मृतक की बहन गांव के ही खेतों में पशुओ  लिए चारा लेने गई थी लेकिन वहां कुछ दबंगों ने उसकी इज्जत से खिलवाड़ करना चाहा जिसकी सूचना उसके साथ उसकी छोटी बहन ने घर पर आकर अपने भाइयों को दे दी सूचना मिलते ही उसके दो भाई बहन को बचाने के लिए दौड़ पड़े जैसे ही उसने अपनी बहन को दरिंदो  से छुड़ाने का प्रयास किया उन दरिंदों ने उन पर भी हमला कर दिया और बहन के सामने ही भाई को तेजधार  हथियार से हमला करके  घायल कर दिया। जिसके बाद उसे आनन-फानन में फरीदाबाद की सिविल अस्पताल में पहुंचाया गया लेकिन गंभीर हालत को देखते हुए भाई को दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया लेकिन रास्ते में ही उसकी मौत हो गई. फिलहाल पुलिस ने घटना में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है। 

सिविल अस्पताल बादशाह खान में रोती बिलखती महिला मृतक विनोद की मौसी ने बताया कि मृतक विनोद  अपने घर पर था  और उसकी बहन  पशु के लिए चारा लेने गई थी  जिसके साथ उसकी छोटी बहन भी थी  जैसे ही उसकी बहन  चारा लेने खेत में गई कुछ दबंगों ने  उसे अपनी हवस का शिकार बनाने की नियत से दबोच लिया सारी घटना छोटी बहन के सामने हो रही थी। जिसके बाद छोटी बहन ने घर भागकर  सबसे पहले सूचना अपने  भाइयों को दी भाई सूचना मिलते ही खेत की तरफ दौड़ लगा दी  और बहन को दरिंदों के चंगुल से बचाने का प्रयास किया। लेकिन हैवान हो चुके दरिंदो ने  बहन के साथ तो मारपीट की ही  साथ-साथ भाई विनोद को भी  किसी तेजधार हथियार से घायल कर दिया।  घायल अवस्था में विनोद को  फरीदाबाद के सिविल अस्पताल  बादशाह खान लाया गया   जहां उसकी गंभीर हालत को देखते हुए दिल्ली रेफर कर दिया गया  लेकिन रास्ते में  विनोद की मौत हो गई।  गौरतलब है कि  विनोद की शादी अभी 5 महीने पहले ही हुई थी  जिसकी पत्नी के हाथों की मेहंदी भी नहीं छूटी थी कि उसका सुहाग उजड़ गया ।

मृतक विनोद की बहन सोनू और घटना की मुख्य गवाह ने अबतक न्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि वह पास  के खेतों में पशुओ के लिए चारा लेने गई थी जहां पर कुछ दबंगों ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाने की नीयत से उस पर हमला बोल दिया जिसका विरोध उसके साथ की अन्य महिलाओं ने और उसकी बहन ने भी किया लेकिन दरिंदे नहीं माने जिसके बाद इसकी सूचना उसके भाइयों को लग गई सूचना पाते हैं उसके भाई मौके पर पहुंचे और उसे छुड़ाने का प्रयास किया लेकिन दरिंदे  नहीं रुके और उन्होंने उसके भाई पर तेजधार हथियार से हमला कर दिया और दूसरे भाई को सिर पर डंडा मारकर घायल कर दिया।

एसीपी यशपाल सिंह ने मीडिया को बताया कि उन्हें इस घटना के बारे में जैसे ही सूचना मिली पर मौके पर पहुंच गए और घायल को सिविल अस्पताल  बादशाह खान में इलाज के लिए भर्ती करवाया लेकिन उसकी गंभीर हालत को देखते हुए उसे दिल्ली रेफर कर दिया गया लेकिन उसकी रस्ते में ही मौत हो गई। लड़की से मिली शिकायत के अनुसार लड़की ने उन्हें बताया कि वह खेतों में चारा  लेने गई थी जहां पर दबंगों ने गलत नियत से उसपर हमला कर दिया और विरोध किया तो उसकी पिटाई भी की जिसका विरोध करने पर उसके भाई की कुछ दबंगों ने तेज हथियार मारकर घायल कर दिया इसके बाद उसके इलाज के दौरान  मौत हो गई फिलहाल इस मामले में लड़की के बयान पर मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और  मामले की जांच कर रही है। आरोपी धर्मेंद्र ने मीडिया को बताया कि उसने किसी को नहीं मारा है और न ही कोई छेड़छाड़ की थी। उन्हें झूठे मामले में फंसाया जा रहा है। 

ये मामला दर्ज किया है पुलिस ने ;; कोनरेश नाथ पुत्र मोमनाथ निवासी गाॅव राजपुर फुलेरा जिला फरीदाबाद की षिकायत पर थाना भूपानी फरीदाबाद में अभियोग न0 228/17 धारा 302,120बी,34 आई.पी.सी. के अधीन अंकित हुआ जिसमे षिकायतकर्ता ने बतलाया कि मैं मेहनत मजदुरी करता हूॅ। दिनांक 06.06.17 को मैं अपनी पत्नी रीना व अपने चाचा की लडकी सोनू के साथ बलबीर मास्टर के खेतों में चारा लेने के लिए गया था। वहा पर धमेन्द्र पुत्र सुमेरीव उसका भाई तेजपाल, आजाद निवासी गाॅव सिडाक, षिवनारायण निवासी गाॅव राजपुर फुलेरा बैठकर षराब पी रहे थे। धर्मेन्द्र व तेजपाल ने मेरी पत्नी व मेरे चाचा की लडकी को चारा लेने से मना कर दिया। जो फिर भी मेरे चाचा की लडकी ने थोडा सा चारा ले लिया। जिस पर धर्मेन्द्र व तेजपाल ने सोनू के साथ मारपीट षुरू कर दी। मैने व मेरी पत्नी रीना ने सोनू को बचाने की कोषिष की व षोर किया, तो मौके पर मेरे चाचा का लडका मुकेष व विनोद भी आ गये। जो मुकेष व विनोद को आता देखकर तेजपाल व धमेन्द्र ने कमरे के अन्दर से बल्लम व तेजपाल लाठी लेकर आया। षिवनारायण व आजाद ने कहा कि आज बचने नही चाहिए। विनोद को आते ही षिवनारायण ने पकड लिया और धमेन्द्र ने अपने हाथ में लिया हुआ बल्लम विनोद की छाती में दाहिनी तरफ घोंप दिया तेजपाल ने अपने हाथ में ली हुई लाठी मुकेष के बाऐ हाथ पर मारी अजाद ने लाठी रोहित के सिर में मारी व अन्य लोगो ने मेरी पत्नी रीना व मेरे चाचा की लडकी सोनू को लात घुसों से मारा। वहा पर षोर सुनकर काफी लोग गाॅव की तरफ से भाग कर आये जिन्हे आता देखकर ये मौका से भाग गये। हमने इलाज के लिए विनोद को बी.के. अस्पताल में दाखिल कराया। जिसको उन्होने दिल्ली के लिए रैफर कर दिया। विनोद की तबियत काफी बिगड गई। जिसको हमने सर्वोदय में भर्ती कराया जहा डाक्टर ने उसके मृत घोशित कर दिया। आरोपीयों के खिलाफ कानूनी कार्यवाही की जावे। जिस पर पुलिस ने अभियोंग अंकित कर आगामी कार्यवाही शुरू कर दी है। 



loading...
SHARE THIS

0 comments: