Wednesday, June 7, 2017

नगर निगम को भ्रष्ट अधिकारी दोनो हाथ से लूट रहे हैं ;- भ्रष्टाचार विरोधी मंच


फरीदाबाद, 7 जून,2017(abtaknews.com) पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय बार कौंसिल की एनरोलमेंट कमेटी के चैयरमेन ओ.पी. शर्मा ने कहा है कि हरियाणा में नकारा सरकार के संरक्षण में भ्रष्टाचार फल फूल रहा है। चारों ओर लूट-खसोट मची हुई है, बेड़ा-गर्क हो गया है। उन्होंने अफसोस जाहिर करते हुए कहा कि नगर निगम के 40 में से 38 पार्षदों को मंच के द्वारा निगम के भष्टाचार की जांच के लिए ज्ञापन दिये जाने के बावजूद  नगर निगम सदन की कल हुई बैठक में चर्चा तक न होना यह साबित करता है कि निगम में प्रजातंत्र नहीं बल्कि लूट तंत्र एवं लाल फीताशाही हावी है।  भ्रष्टाचार विरोधी मंच के तत्वाव्धन में फरीदाबाद नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार को रोकने और पूर्व में हुए घोटालों की जांच की मांग को लेकर चल रहे सत्याग्रह का समर्थन करने आए श्री ओ.पी. शर्मा ने अपने सम्बोधन में यह बात कही।  उन्होंने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार को मिटाकर के रामराज्य लागू करने का वायदा कर सतासीन हुई वर्तमान सरकार में न केवल भ्रष्ट अधिकारियों ने दोनो हाथ से लूट मचा रखी है बल्कि निजी स्कूलों की लूट खसोट के मामले में स्वयं मुख्यमंत्री भ्रष्टाचारियों से समझौता करने की बात अभिभावक एकता मंच के लोगों को कह चुके हैं। उन्होंने नगर निगम के भ्रष्टाचार को उजागर कर उसकी जांच की मांग को लेकर संघर्ष के रास्ते पर आने वाले बहादुर निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला को शाबाशी देते हुए हरियाणा सरकार को चेतावनी दी है कि रोहिल्ला की आवाज को कुचलने के गंभीर परिणाम होंगे। रिटायर्ड कर्मचारी संघ हरियाणा के नेता यू.एम. खान, टी.डी. जटवानी, एस.बी. अग्रवाल, सामाजिक विकास मंच के प्रधान अशोक रावल, हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के नेता सुमीत गौड़ आदि ने भी इस अवसर पर सत्याग्रह का समर्थन किया।  सुमीत गौड़ ने शहर की जनता को साथ लेकर नगर निगम के भ्रष्टाचार के विरोध में एक कार-मोटर साईकिल रैली निकालने का एलान भी इस अवसर किया।
श्री शर्मा ने सत्याग्रहियों अनशनकारी बाबा रामकेवल, सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता डा. ब्रहमदत्त पदमश्री और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला के सत्याग्रह का पुरजोर समर्थन करते हुए शहर की सभी सामाजिक संस्थाओं, जनसंगठनों, सच्चे व ईमानदार व्यक्तियों को इक्टठे होकर के भ्रष्टाचारियों के मुकाबले पर आने का आह्वान कियां उन्होंने आरोप लगाया कि फरीदाबाद नगर निगम भ्रष्टाचार का अड्डा बन गया है। सड़कें बनती है-उखड़ जाती है, अवैध निर्माण व अतिक्रमण को राजनेताओं व भ्रष्ट अधिकारियों  ने अवैध कमाई का जरिया बना लिया है।  उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार के विरोध में पिछले 22 दिन से सत्याग्रह कर रहे सत्याग्रहियों के साथ शहर के लाखों लोगों की भावनायें जुड़ी है, अतः जनभावनाओं की बेकद्री करते हुए यदि हरियाणा सरकार ने इनकी आवाज को अनसुना किया तो वे इस मसले को लेकर निगम अधिकारियों के विरूद्ध पंजाब व हरियाणा उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दायर कर सी.बी.आई. से सारे सिस्टम की जांच की मांग करेंगे।
निग्मायुक्त श्रीमती सोनल गोयल पर आरोप
 मंच के संयोजक अनशनकारी बाबा रामकेवल और डा. ब्रहमदत्त पदमश्री ने निग्मायुक्त के द्वारा भ्रष्टाचार के प्रमाण मांगे जाने बारे बार-बार दिये जा रहे ब्यानों को बेहूदापूर्ण हरकत बताते हुए कहा कि शहर के लाखों लोग सफाई, सीवर, टूटी हुई सड़कों, नालों की सफाई न होने, अवैध कब्जों, पानी की निकासी एवं अन्य मूलभूत सुविधाओं से त्रस्त हैं और निग्मायुक्त प्रमाण मांग रही है जबकि दूसरी ओर सरकार की आडिट रिपोर्ट एवं नगर निगम के अधिकारी आर.टी.आई. में घोटालों की जानकारी सत्यापित करके दे रहे हैं और इन्हीं सूचनाओं के आधार पर गत 27 मई को निग्मायुक्त सहित सरकार को चार्जशीट सांैपी जा चुकी है।  उन्होंने निग्मायुक्त को कहा है कि वह गैर-जिम्मेदारपूर्ण व्यवहार का त्याग कर मंच के द्वारा सौंपी गई चार्जशीट में उल्लेखित घोटालों की जांच के लिए सरकार को सिफारिश करें और नगर निगम के सिस्टम में सुधार के लिए ठोस कदम उठाएं। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: