Wednesday, June 28, 2017

बरसात से हुए जलभराव के बाद निगमायुक्त ने ली अधिकारियों की बैठक

water-logging-heavy-rain-at-nh-2-faridabad-haryana

फरीदाबाद, 28 जून,2017(Abtaknews.com) मानसून सीजन को देखते हए शहर के डिवीजन स्तर पर नाले-नालियो की प्रमुखता से साफ-सफाई और विभिन्न वार्डों में लगे रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की सफाई को लेकर निगमायुक्त सोनल गोयल ने नेषनल हाइवे अर्थोरिटी, डीएमआरसी, निगम के संयुक्त आयुक्त बल्लबगढ़ व तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंताओं, सहायक अभियन्ताओं की मीटिंग ली। मीटिंग में निगमायुक्त ने बारी-बारी से सभी जलभराव वाले बिन्दुओं पर विस्तार से चर्चा की और जलभराव वाले स्थानों पर आवष्यक कार्यवाही करने के निर्देष दिए। उन्होंने नेषनल हाईवे अर्थोरिटी, डीएमआरसी, नगर निगम, हुडा को व्हटसप पर एक ग्रुप बनाकर उससे जुडऩे के निर्देष दिए ताकि बरसाती सीजन में किसी के भी क्षेत्र में कहीं पर भी जलभराव की स्थिति होती है तो वह एक दूसरे से संपर्क कर जलभराव की समस्या का समाधान कर सकते है। उन्होंने अधिकारियों को सख्त निर्देष देते हुए कहा कि बरसाती सीजन के मददेनजर डिस्पोजल चालू हालत और सही स्थिति में होने चाहिए और तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंता यह भी सुनिष्चित कर ले कि जब बर्षा हो रही हो तो सभी डिस्पोजल चल रहे हों इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाष नहीं जाएगी। 
 मीटिंगं तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंताओं ने अपने-अपने डिवीजन स्तर पर प्रतिदिन होने वाले नाले-नालियों की सफाई की रिपोर्ट भी प्रस्तुत की गई। निगमायुक्त ने तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंताओं, सहायक अभियंताओं को निर्देष दिए कि 30 जून तक शहर के सभी नाले-नालियों की सफाई करना सुनिष्चित करें ताकि बरसाती सीजन में लोगों को जलभराव संबंधी समस्या से निजात मिल सकें। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि वर्षा जल संचयन के लिए विभिन्न वार्डों में लगे रेनवॉटर हावेस्टिंग सिस्टम चालू और सही स्थिति में होने चाहिए।  मीटिंग में निगमायुक्त के संज्ञान में नेषनल हाईवे अर्थोरिटी के अधिकारियों ने बताया कि हाईवे पर जलभराव की स्थिति से निपटने के लिए पुख्ता इंतजामात कर लिए गए है। हाईवे के दोनों तरफ पानी निकासी की पाईप लाईनें बिदा दी गई है  और बाकी जगह भी बरसाती पानी निकासी के लिए पाईन लाईन बिछाने का कार्य प्रगति पर है जो 30 जून तक पूरा हो जाएगा। डिवीजन-1 के कार्यकारी अभियन्ता विजय ढाका ने बताया कि 60 फुट रोड, एयरफोर्स रोड, गुरूद्वारा रोड और 22 फीट रोड वार्ड-3 में नालो की प्रमुखता से सफाई करवाई जा चुकी हैं और जहां-जहां सीवरेज जाम और नालियां भरी हुई है उन पर सफाई कार्य सुचारू रूप से चालू है।  डिवीजन-।। के कार्यकारी अभियंता सतीष कुमार अग्रवाल ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि  बी.के. चैक से नीलम-नेहरू ग्राउंड तथा डिलाईट होटल से बाटा पेट्रोल पम्प, अजरौंदा चैक, ईएसआई चैक पर नालों की सफाई का कार्य पूरा करवा दिया गया है। इसके अतिरिक्त बी0के0 चैक और नीलम चैक चैराहों पर प्रतिदिन साफ-सफाई का कार्य भी जारी है। मेट्रो मोड पर बरसाती पानी की निकासी के लिए डीजल पंप का निर्माण करने के साथ-साथ मेट्रो रोड से बस स्टैंड, तिकोना पार्क में सीवरेज लाईनों और नालियों की सफाई का कार्य चल रहा है। सडक़ों के आसपास बनी पुलिया की मरम्मत भी करवा दी गई है। इसके अलावा मानसून सीजन में ओल्ड फरीदाबाद रेलवे अंडरपास और एनएचपीसी चैक रेलवे अंडरपास के पास काफी पानी जमा हो जाता है। ये दोनों ही अंडरपास हुडा से संबंधित है परन्तु निगम द्वारा 40 हाफ पावर का डीजल पंप लगा दिया गया है जिससे दोनों अंडरपासों का पानी आसानी से निकल जाएगा। दयाल बाग कालोनी में बरसाती पानी की निकासी के लिए 6 लैवर लगाए जाएंगे जो बरसात में प्रतिदिन पानी निकासी का कार्य करेंगे और वहां से अतिक्रमण भी पूरी तरह से साफ करवा दिया गया है। उन्होंने बताया कि खटटन पहाड़ी नजदीक गुरूकुल के आसपास क्षेत्रों में जलभराव संबंधी समस्या के निपटान हेतू इलैक्ट्रिक मोटर पम्प और डीजन पंपों की व्यवस्था कर दी गई हैं।  वहीं डिवीजन 3 और 5 में डीएलएफ इंडस्ट्रियल एरिया के सभी नाले, सेक्टर-37, मथुरा रोड से वाईपास रोड़ के नालों, ओल्ड चैक से वाईपास, सेक्टर-7-8 की डिवाइडिंग रोड के साथ-सााथ खेड़ी पूलके नालों की सफाई करवा दी गई हीै। बाकी बचे नालों पर सफाई कार्य सुचारू रूप सेचल रहा है। वहीं मीटिंग में डिवीजन-4 के कार्यकारी अभियन्ता रमन शर्मा ने रिपोर्ट पेष करते हुए बताया कि मोहना रोड नाले पर सफाई का कार्य 80 प्रतिषत तथा मलेरना रोड नाले पर सफाई कार्य 50 प्रतिषत छज्जूराम रोड नाले का 95 प्रतिषत, तिगांव रोड नाले में सफाई कार्य 50 प्रतिषत, इंडस्ट्रियल एरिया एनआईटी का 50 प्रतिषत सफाई का कार्य पूरा हो चुका है शेष सफाई कार्य 30 जून तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके अतिरिक्त डिवीजन-4 में बल्लभगढ़ सीटी में 4 और वार्ड-2 में चार डिस्पोजलों पर सफाई कार्य तीव्र गति से चल रहा है।

मीटिंग में तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंताओं ने निगमायुक्त को बताया कि शहर में भूजल स्तर के ग्राफ में बढ़ोत्तरी करने के लिए विभिन्न वार्डों में लगाए गए रेनवाटर हार्वेस्टिंग सिस्टमों की सफाई करवाई जा रही है। मानसून सीजन से पहले-पहले रेनवॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम काम करने लगेंगे। जिन-जिन क्षेत्रों में रेनवॉटर हावेस्टिंग सिस्टम खराब हैं उनको भी ठीक किया जा रहा है। 30 जून तक शहर के विभिन्न क्षेत्रों में लगे हार्वेस्टिंग सिस्टम पूरी तरह से चालू हालत में होंगे जो बरसाती सीजन में काम करेंगे। उन्होंने बताया कि  जलभराव संबंधी समस्या से निपटने के लिए डिस्पोजल व पानी निकासी के पंप, जनरेटर, मोटर उपकरण प्रतिदिन  सही स्थिति और चालू हालत में काम कर रहे है। प्रतिदिन सहायक अभियंताओं से इसकी रिपोर्ट ली जा रही है और और तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंता यह भी सुनिष्चित कर ले कि जब बर्षा हो रही हो तो सभी डिस्पोजल चल रहे हों इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही करने वालों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: