Sunday, June 11, 2017

तकनीकी शिक्षा और लघु उद्योगों के विकास के लिए आदर्श बन रहा हरियाणा : कलराज मिश्र


फरीदाबाद 11 जून,2017(abtaknews.com )हरियाणा में जिस तरह डिजिटल साक्षरता,तकनीकी शिक्षा और लघु उद्योगों के विस्तार के लिए काम हो रहा है,वो देश के बाकी राज्यों के लिए भी एक आदर्श प्रस्तुत कर रहा है। ये विचार केंद्रीय सूक्ष्म,लघु और मंझले उद्योग मंत्री कलराज मिश्र ने एश्लॉन इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग के वार्षिक उत्सव समारोह में शिरकत करते हुए व्यक्त किए। इस समारोह में कलराज मिश्र मुख्य अतिथि और हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल विशिष्ट अतिथि के तौर पर मौजूद रहे। कलराज मिश्र और विपुल गोयल ने इस मौके पर संस्थान में स्किल डेवलेपमेंट सेंटर का भी उद्घाटन किया। साथ ही एश्लॉन कॉलेज में गरीब छात्रों के लिए चलाए जा रहे डिजिटल साक्षरता अभियान का भी जायजा लिया। कलराज मिश्र ने उद्योग मंत्री विपुल गोयल द्वारा हाल में कराए गए एमएसएमई सम्मेलन की तारीफ करते हुए कहा कि लघु उद्योंगों को बढ़ावा देकर हरियाणा देश की तरक्की और रोजगार सृजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। वहीं इस मौके पर उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने एश्लॉन इंस्टीट्यूट को 10 साल पूरा करने पर बधाई और शुभकामनाएं देते हुए डिजिटल इंडिया के निर्माण में संस्थान के कार्यों की प्रशंसा की। उन्होने कहा कि डिजिटल साक्षरता अभियान,स्किल डेवलेपमेंट सेंटरों की स्थापना,गांवों को गोद लेकर स्वच्छता अभियान चलाने जैसे कार्य बाकी संस्थानों के लिए भी प्रेरणा हैं। उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार दुधौला में ऐसी स्किल डेवलेपमेंट यूनिवर्सिटी का निर्माण करने जा रही है,जिससे आईटीआई पास छात्रों को भी ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन का मौका मिलेगा। उन्होने कहा कि रोजगार सृजन के लिए प्रदेश सरकार ने 22 आईटीआई को मॉडर्न आईटीआई में बदलने का कार्य किया है। उन्होने कहा कि देश और प्रदेश की विकास दर में सबसे ज्यादा योगदान लघु उद्योगों का है। उन्होने कहा कि तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देकर हरियाणा सरकार लघु उद्योगों का विस्तार करने की योजना पर काम कर रही है ताकि स्किल डेवलेपमेंट के द्वारा हरियाणा में युवाओं की ऐसी पौध तैयार की जाए जो नौकरी पाने के साथ नौकरी देने वाले भी बनें। विपुल गोयल ने एश्लॉन इंस्टीट्यूट की सामाजिक कार्यों में सहभागिता की सराहना करते हुए कहा कि हमें युवाओं को ऐसी शिक्षा देनी है कि वो माउस के भी मास्टर हों और मानवीय मूल्यों में भी आगे रहें। इस मौके पर एश्लॉन इंस्टीट्यूट के चेयरमैन प्रभात अग्रवाल ने बताया कि उनका संस्थान फरीदाबाद में 84 गांव और 39 वार्डों में डिजिटल साक्षरता अभियान चलाएगा,साथ ही देश भर में 1 हजार स्किल डेवलेपमेंट सेंटर स्थापित करना उनका लक्ष्य है। उन्होने कहा कि स्वच्छता अभियान के लिए उनके संस्थान ने 5 गांव भी गोद लेने का फैसला किया है। इस मौके पर डिप्टी मेयर मनमोहन गर्ग,प्रिंसीपल डॉ प्रवीण पांडे,राजेंद्र बंसल,महेंद्र कुमार,पी आर चुघ,फरीदाबाद और अन्य क्षेत्रों के स्कूलों के प्रतिनिधि,कई पार्षद और कई गांवों के सरपंच भी मौजूद रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: