Wednesday, June 14, 2017

नगर निगम में भ्रष्टाचार रोकने व घोटालों की जांच की मांग को लेकर आप कार्यकर्ता का प्रदर्शन



फरीदाबाद, 14 जून,2017(abtaknews.com )फरीदाबाद नगर निगम में महाभ्रष्टाचार को रोकने और पूर्व में हुए घोटालों की जांच की मांग को लेकर पिछले 29 दिन से चल रहा आंदोलन तेजी पकड़ता जा रहा है।  आए दिन शहर की अनेकों सामाजिक संस्थाओं, राजनैतिक दलों और सामाजिक संगठनों का समर्थन इस आंदोलन को मिल रहा है।  आम आदमी पार्टी के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने आज इस आंदोलन के समर्थन में और आंदोलन के प्रति संवेदनहीनता बरतने के विरोध में आज यहां निग्मायुक्त कार्यालय के बाहर जोरदार प्रदर्शन किया।  निग्मायुक्त की अनुपस्थिति में आप पार्टी ने मुख्यमंत्री को सम्बोधित एक ज्ञापन संयुक्त आयुक्त मुकेश सोलंकी को सौंपा।  ज्ञापन में भ्रष्टाचार विरोधी मंच के द्वारा उठाए गए घोटालों व निगम के घोटालों की जांच सी.बी.आई. या एस.आई.टी. से करवाने की मांग की गई है।  बाद में ये कार्यकर्ता जुलूस की शकल में अनशनकारी बाबा रामकेवल, डा. ब्रहमदत्त पदमश्री और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला का समर्थन करने सत्याग्रह स्थल पर भी पहुंचे।  सत्याग्रह स्थल पर उपस्थित नागरिकों को सम्बोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता रणबीर सिंह चंदीला ने कहा कि पाकिस्तान से उजड़ कर आए पुरूषाथर््िायों ने फरीदाबाद शहर का बसाया था लेकिन निगम के भ्रष्टाचारियों , राजनेताओं और अधिकारियों के गठजोड़ ने इसे उजाड़ने का काम किया है।  उन्होंने तीनों सत्याग्रहियों के सत्याग्रह को भ्रष्टाचार के विरूद्ध की संज्ञा देते हुए सरकार को चुनौती दी कि इस आंदोलन को हल्के में लेने की भूल न करें क्योंकि यह व्यक्ति विशेष का आंदोलन न होकर फरीदाबाद की जनता का आंदोलन है और पूरे शहरवासियों में इसकी चर्चा है। उन्होंने शहर के सभी राजनैतिक दलों से दलगत राजनीति से उपर उठकर सत्याग्रह के समर्थन में आने की अपील की जिससे कि भ्रष्टाचार से त्रस्त शहरवासियों को राहत मिल सके।

एंटी करप्शन फ्रंट के राष्ट्रीय  अध्यक्ष एम.पी. नागर एडवोकेट के नेतृत्व में फ्रंट के कार्यकता भी आज सत्याग्रहियों के समर्थन में सत्याग्रह पर बैठे।  उन्होंने आरोप लगाया कि फरीदाबाद नगर निगम में पूरे हरियाणा में सबसे ज्यादा भ्रष्ट हैं और यहां पर कोई सिस्टम नहीं है।  उन्होंने शहरवासियों से इस आंदोलन में बढ़-चढ़ कर भाग लेने की अपील की। फ्रंट ने भ्रष्टाचार को समूल नष्ट करने के लिए भ्रष्टाचारी को 10 साल से लेकर फांसी तक की सजा देने की वकालत की।  उन्होंने निगम के भ्रष्टाचार की जांच के लिए बिना किसी देरी के एस.आई.टी. का गठन करने की मांग की और दोषी अधिकारियों के विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज करने की मांग भी की। साघ्वी शकंुतला ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किये। आम आदमी पार्टी के नेता मंजू गुप्ता, उपकार सिंह, बृजेश नागर, दीप्ति त्यागी, दिनेश भारद्वाज, धर्मबीर भड़ाना, सुबोध शर्मा, राजन गुप्ता और एंटी करप्शन फ्रंट के नेता वासदेव अहेरिया, सुरजीत नागर, संदीप सेठी, प्रवीन ग्रोवर, तेजपाल चंदीला, कल्पना राणा, सुमीत रावत, रमेश कुकरेजा, रविन्द्र चंदीला, दीपक योगाचार्य, अन्नू पुनियानी, खेमराज बृजवासी, शिव प्रसाद, विनोद कुमार, बिजेन्द्र गोला के इलावा वरूण श्योकंद समाज सेवी धन सिंह अत्री, शाहाबीर खान, धीरज हिन्दुस्तानी, राजेश शर्मा, धीर सिंह, बनारसी राठी आदि ने भी सत्याग्रह में हिस्सा लिया।

loading...
SHARE THIS

0 comments: