Sunday, June 4, 2017

राजीनामा की कॉपी ना दिए जाने पर पुलिस वालों के विरूद्व मुकदमा दर्ज करने के आदेश


फरीदाबाद (abtaknews.com )चौकी इन्चार्ज सुमेर सिंह पुलिस चौकी खेडी पुल व एएसआई महेश कुमार के द्वारा बदनियती से आरोपी भतौला निवासी सुखबीर सिंह को नाजायज तरीखे से चौकी में हुए लिखित फैसले को खुर्दबुर्द कर दिया जिस राजीनामे पर बार एससोसिएसन फरीदाबाद के माहसचिव सतबीर शर्मा, बार काउसिंल पंजाब एण्ड हरियाणा अनुसासन व निगरानी कमैटी के मनोनित सदस्य शिवदत्त वशिष्ठ, वरिष्ट अधिवक्ता दलपत सिंह, पुर्व माहमन्त्री अनील पारासर, संजय दिक्षित, छैल मोहन गौतम, पवन कौशिक, भीम सिंह नागर, योगेश नागर व धमेन्द्र चंदीला ने बतौर गवाह हस्ताक्षर किए थे जिसके अनुसार आरोपी सुखबीर सिंह ने शिकायतकर्ता अधिवक्ता छैल मोहन गौतम के 2 लाख रूपये देने की बाबत कबूल की थी। जिसका लिखित में उपरोक्त सभी अधिवक्ताओ के समक्ष समझोता हुआ था और इस समझौतेनामा की कॉपी दोषि पुलिस कर्मचारी सुमेर सिंह व महेश ने यह कह कर अपने पास रख ली कि दो दिनो के अन्दर आरेापी सुखबीर सिंह 2 लाख रूपये का चैक मुझे दे देगा जिसमें हम आपको दे देगें। परन्तु जब दोषि पुलिस कर्मचारियो से 2 लाख रूपये के चैक लेने की बात कही तो उन्होने साफ मना कर दिया और कहा कि आरोपी ने उन्हे चैक न दिया जिस पर सभी अधिवक्तागणो ने जोकि राजीनामा के समय मौजूद थे उस राजीनामा की असल कॉपी चौकी इन्चार्ज सुमेर सिंह व एएसआईघ्महेाश कुमार से मांगी तो उस राजीनामा की कॉपी को देने से साफ मना कर दिया और वकीलो के साथ अर्भद भाषा का प्रयोग करते हुए चौकी से चले जाने केा कहा इस घटना की शिकायत सभी अधिवक्तागणो ने डी$सी$ सैन्ट्रल भूपेन्द्र सिंह से की जिस पर उन्होने तुरन्त संज्ञान लेते हुए दोषि पुलिस कर्मचारी सुमेर सिंह व महेश कुमार को एक घन्टे के अन्दर उपरोक्त केस से सम्बन्धित सभी दस्तावेज अपने सम्मुख पेश करने के आदेश दिए। परन्तु दोषि पुलिसकर्मी तय समय के अनुसार मांगे गए दस्तावेज पेश ना कर सके जिस पर डीसिपी साहब ने तुरन्त प्रभाव से दोषि कर्मचारियो की जांच ए$सी$पी$ यशपाल खटाना को सौप दी और जांच के तुरन्त बाद दोषि पुलिसकर्मियो के खिलाफ राजीनामा के कागत उपलब्ध ना कराने की स्थिति में दोषि पुलिसकर्मियो के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने की हिदायत दी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: