Wednesday, June 7, 2017

वाईएमसीए विश्वविद्यालय द्वारा पीएचडी के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित


फरीदाबाद, 7 जून,2017(abataknews.com ) वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद द्वारा शैक्षणिक सत्र 2017-18 में इंजीनियरिंग, विज्ञान एवं प्रबंधन के विभिन्न विषयों में पूर्णकालीन डॉक्टरेट कार्यक्रम (पीएचडी) में दाखिले के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये है। विश्वविद्यालय के ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल पर आवेदन की अंतिम तिथि 30 जून, 2017 है।
 इस संबंध में जानकारी देते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा आगामी शैक्षणिक सत्र में डॉक्टरेट कार्यक्रम के लिए विभिन्न विभागों में 50 सीटों पर दाखिले के लिए आवेदन आमंत्रित किये गये है। विश्वविद्यालय द्वारा वर्ष 2010 में शुरू किये गये डॉक्टरेट कार्यक्रम के अंतर्गत इस समय लगभग 162 विद्यार्थी विभिन्न विषयों में शोध कर रहे है। जिन विभागों में डॉक्टरेट कार्यक्रम के अंतर्गत आवेदन आमंत्रित किये गये है, उनमें मैकेनिकल इंजीनियरिंग में 12 सीटों, इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में 10 सीटों, कम्प्यूटर इंजीनियरिंग में सात सीटों, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में छह सीटों, भौतिकी विज्ञान में पांच, प्रबंधन अध्ययन में तीन सीटों, आईटी व कम्प्यूटर एप्लीकेशन्स में दो सीटों, गणित में दो सीटों, अंग्रेजी, रसायन व पर्यावरण विज्ञान में एक-एक सीट के लिए आवेदन आमंत्रित किये गये है। इन सीटों पर आरक्षण का लाभ राज्य सरकार आरक्षण नीति के तहत दिया जायेगा।
डॉक्टरेट कार्यक्रम में दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जायेगा जो 16 जुलाई, 2017 को प्रातः 10 बजे से 12 बजे तक आयोजित की जायेगी। इससे पूर्व, प्रवेश परीक्षा के लिए उम्मीदवारों की सूची 7 जुलाई को वेबसाइट पर जारी कर दी जायेगी। प्रवेश परीक्षा का परिणाम 18 जुलाई को घोषित किया जायेगा। ऐसे उम्मीदवारों जो गेट, सीएसआईआर/यूजीसी की नैट (जेआरएफ)/स्लेट परीक्षा उत्तीर्ण है तथा परीक्षा की वैधता संबंधी शर्त पूरी करते है अथवा संबंधित विषय में नियमित एमफिल है, को प्रवेश परीक्षा से छूट रहेगी। विश्वविद्यालय द्वारा शोधार्थियों के लिए युनिवसिर्टी रिसर्च स्कोलरशिप नियमों के अंतर्गत 8000 रुपये प्रतिमाह तथा आमस्मिक खर्च के रूप में 5000 रुपये प्रतिवर्ष का प्रावधान है।विश्वविद्यालय के डॉक्टरेट कार्यक्रम से संबंधित पात्रता व शर्तें तथा प्रवेश परीक्षा का पाठ्य विवरण विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: