Thursday, June 22, 2017

निगम संपत्ति कर बकायेदारों संपत्ति नीलाम करेगा


फरीदाबाद 22 जून,2017(abtaknews.com) कर वसूली के लिए बकायेदारों के खिलाफ अभियान को लेकर निगमायुक्त सोनल गोयल ने एनआईटी, ओल्ड और बल्लबगढ़  के क्षेत्रीय एवं कराधान अधिकारियों की मीटिंग ली। मीटिंग में फैसला लिया गया कि हरियाणा सरकार द्वारा 15 जून 2017 तक 15 प्रतिषत ब्याज माफी छूट योजना का लाभ देने के बावजूद भी जिन बकायेदारों ने निगम में अपना कर जमा नहीं करवाया उन बकायेदारों को नोटिस देकर उनकी प्रॉपर्टी को सील किया जाए और नोटिस देने के बावजूद भी जो बकायेदार संपत्ति कर निगम में नहीं जमा करा रहे है उनकी संपत्ति को नीलाम किया जाए। मीटिंग में निगम के अतिरिक्त आयुक्त पार्थ गुप्ता, एनआईटी जोन के जेडटीओ हैड क्र्वाटर विजय सिंह, ओल्ड और बल्लबगढ़ जोन के क्षेत्रीय एवं कराधान अधिकारी महेन्द्र सिंह व प्रेमप्रकाष सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद थे। एनआईटी जोन के जेडटीओ हैड क्र्वाटर विजय सिंह ने निगमायुक्त को बताया कि निगम ने 1 जून से 21 जून तक बकायेदारों से संपत्ति कर, फायर टैक्स, डिवीजनल चार्ज, लाईसेंस फीस, पानी- और सीवरेज के कुल 507.50 लाख रूपये वसूल किए। जो पिछले वर्ष 1 जून 2016 से 21 जून 2016 (485.92 लाख) थे की तुलना में अत्यधिक है जिससे निगम के राजस्व में बढ़ोत्तरी हुई है।  एनआईटी, ओल्ड, और बल्लबगढ़ जोन के अधिकारियों निगमायुक्त के संज्ञान में बताया कि एनआईटी जोन-1 में संपत्ति कर, फायर टैक्स, डिवीजनल चार्ज, लाईसेंस फीस, अन्य खर्चे और सीवरेज और पानी करों से कुल 61.89 लाख रूपये की वसूली की गई। इसी प्रकार एनआईटी जोन-।। से संपत्ति कर, फायर टैक्स, डिवीजनल चार्ज, लाईसेंस फीस, अन्य खर्चे और सीवरेज और पानी करों से निगम ने 42.92 लाख रूप्ये और एनआईटी जोन-।।। से 42.40 लाख रूपये निगम ने वसूल किए। इसी प्रकार संपत्ति कर, फायर टैक्स, डिवीजनल चार्ज, लाईसेंस फीस, अन्य खर्चे और सीवरेज और पानी करों से ओल्ड जोन-1 ने 103.00 लाख, ओल्ड जोन-।। ने168.54 लाख रूपये कर के रूप में वसूले। इसके अलावा बकायेदारों से अधिकारियों ने बल्लबगढ़ जोन-। से 53.33 लाख और बल्लबगढ़ जोन-।। से 35.42 लाख रूपये वसूल कर निगम के राजस्व में बढ़ोत्तरी की।
मीटिंग में निगमायुक्त सोनल गोयल के समक्ष अधिकारियों ने बताया कि एनआईटी जोन-। में 405/6, ह्नदय राम कालोनी मुजेसर पर निगम के 209318.00 लाख रूपये, जोन-।। में एन.एच.-5 स्थित शॉप नंबर-212 पर 205140.00 लाख रूपये, सेक्टर-21ए स्थित मकान नंबर-567 पर 281755.00 लाख रूपये के अलावा ओल्ड जोन-1 और 2 में सेक्टर-6 स्थित डोमैक्स/78 पर 307000 लाख रूपये, सेक्टर-6 स्थित लाम्बा/6ए पर निगम के 445000 व रीता वासुदेवा 1एफ-1सी/क्राउन इंटीरियर मॉल 302000 लाख रूपये बकायेदारों से वसूलने है और उनकी यूनिटों को सील कर दिया गया परन्तु फिर भी उन बकायेदारों ने निगम में अपना संपत्ति कर जमा नहीं करवाया है। निगमायुक्त ने अधिकारियों को सख्त निर्देष देते हुए कहा जो बकायेदार संपत्ति सील होने के उपरान्त भी निगम में अपना संपत्ति कर जमा नहीं करवा रहे है उनके विरूद्ध तुरंत नीलामी की कार्यवाही अमल में लाई जाए।  निगमायुक्त ने कहा कि एक ओर तो निगम की कमजोर वित्तीय स्थिति के कारण न केवल आम जनता को अति आवश्यक जन सुविधायें प्रदान करने में अत्यधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, वहीं दूसरी ओर बड़े-बड़े डिफाल्टर निगम का  लाखों- करोड़ो रूपये का सम्पत्ति कर भुगतान छूट मिलने के बावजूद भी नहीं कर रहे हैं जिसे व्यापक जनहित में किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।




loading...
SHARE THIS

0 comments: