Tuesday, June 6, 2017

मजदूर यूनियनों ने भी दिया भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम को अपना समर्थन


फरीदाबाद, 6 जून,2017(abtaknews.com) फरीदाबाद नगर निगम में व्याप्त महाभ्रष्टाचार को रोकने और पूर्व में हुए घोटालों की जांच की मांग को लेकर निगम मुख्यालय पर अनशनकारी बाबा रामकेवल, सर्वोच्च न्यायालय के अधिवक्ता डा. ब्रहमदत्त पदमश्री और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला के चल रहे सत्याग्रह को शहर की सामाजिक संस्थाओं के साथ-साथ अब मजदूर संगठनों का भी समर्थन मिलना जारी है।  आल एस्कार्टस इम्पलाईज यूनियन के प्रधान वजीर सिंह डागर व पूर्व महासचिव इन्द्रपाल सिंह ने सत्याग्रह स्थल पर आकर एस्कार्टस की कम्पनियों में काम करने वाले 20000 से अधिक कामगारों की ओर से भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम का समर्थन किया और एलान किया एस्कार्टस के कामगार फरीदाबाद शहर के हित में जारी सत्याग्रह व संघर्ष के साथ हैं।  हिन्द मजदूर सभा के जिला महासचिव आर.डी. यादव ने भी इस अवसर पर अपने सम्बोधन में अपने संगठन की ओर से सत्याग्रह का समर्थन किया।  इन मजदूर नेताओं ने सरकार से सत्याग्रहियों की मांग को बिना किसी देरी के पूरा करने की मांग की अन्यथा इस आंदोलन को निगम मुख्यालय के साथ-साथ पूरे शहर में फैला दिया जायेगा।  सामाजिक विकास मंच फरीदाबाद के संरक्षक रामजी लाल, प्रधान अशोक रावल, उपाध्यक्ष फतेह सिंह डांगी, महासचिव जय सिंह सागर और सलाहकार राजेन्द्र सिंह ने भी सत्याग्रह स्थल पर आकर अपनी संस्था की ओर से भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम के प्रति समर्थन व्यक्त किया।  भारतीय जनता पार्टी के नेता मदन लाल आजाद और समाज सेवी सुरेश गौतम, बृजेश नागर व प्रबोध चन्द्र शंगारी भी अपना समर्थन व्यक्त करने सत्याग्रह स्थल पर आए। 
इधर पिछले 21 दिन से सत्याग्रह कर रहे अनशनकारी बाबा रामकेवल, पदमश्री डा. ब्रहमदत्त और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला ने क्षोभपूर्ण शब्दों में कहा कि भ्रष्टाचार के प्रति जीरो टोलरेंस की नीति वाली हरियाणा सरकार के अधिकारी भ्रष्टाचार विरोधी मंच के द्वारा प्रमाणों के साथ पेश किये गये घोटालों पर संवेदनहीनता दिखा रहे हैं।  उन्होंने निग्मायुक्त के इस बयान का कड़ा प्रतिवाद किया कि मंच के द्वारा उठाए गए मामलों की पहले ही जांच चल रही है।  उन्होंने सवालिया अंदाज में कहा कि नगर निगम प्रशासन बताए कि मंच के द्वारा उठाए गए मामलों की जांच के लिए किस अधिकारी को कब जांच अधिकारी नियुक्त किया गया।  उन्होंने कहा कि मंच के द्वारा कई-कई हजार करोड़ रूपये के घोटालों से युक्त द्वितीय चार्जशीट तैयार की जा रही है, जिसे शीघ्र ही सरकार को प्रेषित कर दिया जायेगा। अनशनकारी बाबा रामकेवल ने अपनी इस धमकी को आज पुन: दोहराया है कि यदि सरकार ने मंच के द्वारा उठाए गए मुद्दो का समाधान नहीं किया तो वे अन्न का त्याग कर के अनशन चालू कर देंगे।  सत्याग्रही व सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता डा. ब्रहमदत्त पदमश्री और जाने-माने आर.टी.आई. कार्यकर्ता वरूण श्योकंद ने कहा कि यदि सरकार ने निगम के घोटालों की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो या एस.आई.टी. से नहीं करवाई तो वे इस जांच के लिए न्यायालय में जनहित याचिका दायर करेंगे। सत्याग्रह पर अन्य के इलावा शाहाबीर खान, धीर सिंह, सुमेर, महेन्द्र सिंह, प्रबोध चंद शंगारी, नाहर सिंह यादव, भगवान दास राम लाल, रण सिंह भड़ाना, नगर निगम कार्यालय यूनियन के महासचिव दशरथ रेढ़ू, राकेश चिंडालिया आदि भी आज सत्याग्रह पर बैठे।    

loading...
SHARE THIS

0 comments: