Tuesday, June 13, 2017

फरीदाबाद में रोडवेज कर्मचारियों द्वारा बसों का चक्का जाम, यात्री रहे परेशान

haryana-roadways-strike-faridabad-today

फरीदाबाद (abtaknews.com) 13 जून,2017 ; हरियाणा में एक फिर रोडवेज कर्मचारियों ने चक्का जाम कर दिया है, जिसका असर फरीदाबाद में भी देखने को मिल रहा है जहां बल्लभगढ बस स्टॉप पर हरियाणा रोडवेज कर्मचारी बसों को पहियों में बे्रक लगाकर धरने  पर बैठ गये हैं, और हरियाणा सरकार मुर्दाबाद हमारी मांगे पूरी करो के विरोध स्वरूप नारे लगा रहे हैं। कर्मचारियों ने पूरे हरियाणा में सरकार द्वारा जिनी वाहनों को दिये गये परमिटों को लेकर रोडवेज हडताल की है उनकी मांग है कि निजी वाहनों के परमिट रद्द किये जायें और हरियाणा में रोडवेज बसों की संख्यां बढाई जाये। हडताल के बाद हजारों यात्रियों से खचाखच भरे रहने वाले बल्लभगढ बस स्टॉप पर सन्नाटा नजर आया, जो यात्रि बस स्टॉप पर आये और हडताल को देख अपना सामान लेकर वापिस लौटते हुए दिखे। आज की हडताल से फरीदाबाद में जहां हजारों यात्रियों को परेशानी हुई तो वहीं निजी बस चालाकों ने अंदर से लेकर उपर तक सवारियों से बस भरकर चांदी कूटी। 
haryana-roadways-strike-faridabad-today

किसी को ड्यूटी जाना था तो किसी को स्कूल व कालेज, कोई अपनी रिश्तेदारी में जाने के लिये बस स्टॉप पहुंचा तो कोई गर्मियों की छुट्टी मानने के लिये दूर की सोचकर बस स्टॉप पहुंचा,, लेकिन कोई कहीं भी न जा सक। ऐसा ही दृश्य फरीदाबाद के बल्लभगढ बस स्टॉप पर देखने को मिला। जहां ये हजारों यात्री हरियाणा में ही नहीं देश के अन्य शहरों में जाने के लिये बस का साहरा लेते थे मगर आज हरियाणा रोडवेज कर्मचारियों की हडताल के चलते बसों का चक्का जाम रहा। सैंकडों बसे लाईन में बस डिपो पर एक साथ दिखी तो इनके चालक परिचालक हडताल पर बैठकर हरियाणा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए नजर आये। बसों की हडताल के कारण यात्रियों को वापिस अपना सामान लेकर लौटना पडा जिससे उन्हें बहुत बडी परेशानी हुई। 
haryana-roadways-strike-faridabad-today

यात्रियों से बात की गई तो उन्होंने कहा कि आये दिन बिन बताये रोडवेज कर्मचारी हडताल कर देते है भुगतना यात्रियों को पडता है। गुडगांव जाने वाले व्यक्ति की माने तो उन्हें 9:30 बजे तक दफ्तर पहुंचना होता है मगर आज हडताल के कारण वो बल्लभगढ में ही खडे हैं। युवक किशन डागर ने बताया कि उन्हें अपने दफ्तर पहुंचना है नई नोकरी लगी है अगर समय से नहीं पहुंचे तो नोकरी खतरे में पड सकती है, उन्हें पहले से पता भी नहीं था कि रोडवेज हडताल है बस स्टॉप आने के बाद मालूम हुआ है। अमित को  मेवात जाने के लिये बल्लभगढ बस स्टॉप पहुंचा तो उसे पता लगा कि आज फिर से हडताल है साल में 4 बार कर्मचारी हडताल कर देते हैं पहले से कोई सूचना नहीं होती है, उन्हें नूंह जाना है जहां कि लिये कोई निजी बस भी नहीं जाती है अब वो करें तो क्यों करें। वहीं कालेज जाने के लिये गांवों से बल्लभगढ बस स्टॉप पर पहुंची छात्राओं की माने तो उनका आज कालजे में प्रक्टीकल है उन्हें पहले से नहीं पता था कि आज बसों की हडताल है अन्यथा वो कोई और उपाय करती, मगर अब वो बसों की हडताल के चलते कालेज में प्रक्टीकल नही दे पायेंगी।
हडताल पर बैठे रोडवेज कर्मचारियों के नेता जितेन्द्र धनखड की माने तो आज वो हडताल पर कोई वेतनमान या फिर निजी मांग के लिये नहीं बल्कि प्रदेश में निजी वाहनों की मनमर्जी रोकने और प्रदेशवासियों को बेहतर सुविधा दिलाने के लिये बैठे हैं। उनका आरोप है कि प्रदेश में सरकार ने अपने सगे संबधियों को निजी बस चलाने के परमिट दे दिये हैं जो कि गलत हैं वो चाहते हैं कि सरकार प्रदेश में कम से कम 15 हजार नई बसों की संख्यां बढाये और निजी बस चालकों के परमिटों को रद्द करें।


loading...
SHARE THIS

0 comments: