Friday, June 23, 2017

7 दिन के अल्टीमेट के बाद किसानों ने किसा जिलउपायुक्त कार्यालय का किया घेराव



फरीदाबाद(abtaknews.com)नहरपार के 19 गांवों के गुस्साये सैंकडों किसानों ने जिलाउपायुक्त को पिछले दिनों दिये गये 7 दिन के अल्टीमेट के बाद भी कोई कार्यवाही न होने के चलते आज सेक्टर 12 लघुसचिवाल का घेराव किया और जमकर हरियाणा सरकार के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाये। कांग्रेस सरकार में अधिग्रहण की गई फरीदाबाद नहर पार के गांवों की जमीन के मालिकों को अब मुआवजे के लिये दर दर की ठोकरें खानी पड रही हैं, सैशन और हाई कोर्ट द्वारा मुआवजे की राशि बढा दी गई है मगर निचले स्तर के अधिकारी बडी हुई मुआवजे की राशि को देने के लिये तैयार नहीं हैं। जिसके लिये किसान लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं। 
सरकार को अपनी जमीन देने के बाद बर्षो से फरीदाबाद नहर पार के 19 गांवों के किसान दर दर की ठोंकरें खा रहे हैं, आपको बता दें कि कांग्रेस सरकार ने फरीदाबाद के नहरपार क्षेत्र में ग्रेटर फरीदाबाद बनाने के लिये 19 गांवों की जमीन अधिग्रहित की थी जिसकी सैशन और हाई कोर्ट द्वारा मुआवजे की राशि बढा दी गई थी, मगर बर्षो बीत जाने के बाद भी हुडा अधिकारी हाई कोर्ट के फेंसले की भी अवेहलना कर रहे हैं जिसकी सजा किसानों को भुगतनी पड रही है। 

जिसको लेकर पिछले दिनों किसानों को जिला उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए डीसी को अपनी मांगो से संबंधित ज्ञापन सौंपा था और 7 दिन का अल्टीमेट दिया था, मगर 7 दिनों के बाद भी कोई कार्यवाही न होने से गुस्साये सैंकडों किसानों ने आज लघुसचिवाल का घेराव किया और जमकर हरियाणा के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाये। इस प्रदर्शन में किसानों को सर्व कर्मचारी संघ के नेताओं ने भी समर्थन दिया। समर्थन देने पहुंचे सर्व कर्मचारी संघ के नेता सुभाष लांबा ने कहा कि किसानों का शोषण किया जा रहा है, जब किसानों की जमीन अधिग्रहित की गई तो उन्हें पॉलिसी के तहत प्लॉट देने का वायदा किया गया था जिसके लिये किसनों से 50 -50 हजार रूपये भी ले लिये गये मगर अभी तक किसी किसान को प्लॉट नहीं दी गई। किसानों का 2 हजार करोड रूपये सरकार पर है मगर 3 साल बाद भी सरकार किसानों को उनका पैसा नहीं दिया गया है। वहीं किसानों को जिला प्रशासन धारा 144 लगाने का डर भी दिखा रहा है। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: