Tuesday, June 13, 2017

वाईएमसीए विश्वविद्यालय में एमसीए, एमबीए तथा एमएससी आवेदन की अंतिम तिथि 4 जुलाई


फरीदाबाद, 13 जून,2017(abtaknews.com )वाईएमसीए विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, फरीदाबाद ने शैक्षणिक सत्र 2017-18 के लिए विज्ञान, प्रबंधन तथा कला में विभिन्न पाठ्यक्रमों में दाखिलों के लिए आॅनलाइन आवेदन आमंत्रित किये है। विश्वविद्यालय के आॅनलाइन एडमिशन पोर्टल पर आवेदन की अंतिम तिथि 4 जुलाई, 2017 है। जिन पाठ्यक्रमों के लिए आॅनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये है, उनमें एमसीए, एमबीए, मैथ, फिजिक्स, कैमिस्ट्री व एनवायरमेंटल साइंस विषयों एमएससी तथा एमए (जर्नलिज्म व मास कम्युनिकेशन) शामिल हैं।

बीएससी फिजिक्स (आॅनर्स) की शुरूआतः
    कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा बीएससी फिजिक्स (आॅनर्स) 60 सीटों के साथ शुरू किया जा रहा है, जिसमें आवेदन के लिए फिजिक्स, कैमिस्ट्री और मैथ्स विषयों के साथ न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों सहित 12वीं उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। इस  पाठ्यक्रम से फिजिक्स में उच्चतर शिक्षा लेने वाले विद्यार्थियों को लाभ होगा। दाखिला मेरिट के आधार पर होगा।
    बीएससी फिजिक्स (आॅनर्स) के बाद विद्यार्थियों के पास उच्चतर शिक्षा में अप्लाइड इलेक्ट्रॉनिक्स, एस्ट्रॉनमी, जियोफिजिक्स, वैक्यूम साइंसेज, न्यूक्लियर फिजिक्स, मेडिकल फिजिक्स, एटॉमिक एंड मॉल्यूक्यूलर फिजिक्स, एस्ट्रोफिजिक्स में पढ़ाई के विकल्प खुल जाते है। देश व विदेशों में कई प्रतिष्ठित शैक्षणिक व अनुसंधान संस्थान ऐसे विकल्प प्रदान करते है, जहां विद्यार्थियों को रिसर्च व डेवलपमेंट प्रोजेक्ट्स पर काम करने का मौका मिलता है। नैनो टैक्नोलाॅजी व मटीरियल फिजिक्स में काफी स्कोप है। इसके साथ-साथ कालेज, विश्वविद्यालयों तथा अनुसंधान केन्द्र व प्रयोगशालाओं में टीचिंग व साइंटिस्ट के रूप में करियर विकल्प मौजूद है। यदि राइटिंग स्किल्स अच्छी है तो साइंस जर्नलिज्म में भी विकल्प है।

रिटेल व सप्लाई चेन मैनेजमेंट में एमबीए की शुरूआत
    विश्वविद्यालय द्वारा रिटेल मैनेजमेंट, सप्लाई चेन मैनेजमेंट, ई-काॅमर्स तथा ट्रेवल व टूरिज्म में विशेषज्ञता के साथ एमबीए का नया पाठ्यक्रम शुरू किया गया है। रिटेल व सप्लाई चेन उद्योग के विस्तार से क्षेत्र में रोजगार के नये अवसर सृजित हो रहे है और इन उद्योगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए प्रशिक्षित कार्यबल देने के उद्देश्य से एमबीए का नया पाठ्यक्रम शुरू किया गया है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय द्वारा फाइनेंशियल, ह्युमन रिसाॅर्स व मार्केटिंग मैनेजमेंट में विशेषज्ञता के साथ एमबीए पाठ्यक्रम पहले से चलाया जा रहा है। एमबीए के दोनों पाठ्यक्रमों की 60-60 सीटों पर दाखिले के लिए पात्रता न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी विषय में ग्रेजुएशन है। दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर होगा।

विगत वर्ष शुरू हुआ था एमए (जर्नलिज्म व माॅस कम्युनिकेशन)  
    एमए (जर्नलिज्म व माॅस कम्युनिकेशन) विश्वविद्यालय में पहला कला विषय का पाठ्यक्रम है। इस पाठ्यक्रम को विगत वर्ष 30 सीटों के साथ शुरू किया गया था। पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए पात्रता न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ किसी भी विषय में ग्रेजुएशन है। दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर होगा। मास कम्युनिकेशन का दायरा निरंतर बढ़ रहा है, जिससे इस क्षेत्र के रोजगार के अवसर भी बढ़ रहे है। समाचार पत्र-पत्रिकाओं व न्यूज चैनल के अलावा वेब जर्नलिज्म व ब्लॉगिंग, फिल्मों व टीवी सीरियल्स में भी स्टोरी राइटिंग, स्क्रिप्ट राइटंग, स्क्रीन प्ले राइटिंग करने से लेकर सिनेमेटोग्रॉफी तथा रेडिया जाॅकी के रूप में करियर के कई विकल्प मौजूद है।

    विश्वविद्यालय द्वारा एमएससी में विगत वर्ष 60 सीटों के साथ कैमिस्ट्री व 35 सीटों के साथ एनवायरमेंटल साइंस विषयों में पाठ्यक्रम शुरू किये थे। इसके अलावा, विश्वविद्यालय में 60-60 सीटों के साथ मैथ व फिजिक्स में दो वर्षीय एमएससी पाठ्यक्रम पहले से चल रहे है। पाठ्यक्रम में दाखिले के लिए अभ्यार्थी न्यूनतम 50 प्रतिशत अंकों के साथ ग्रेजुएशन हो तथा नियमित विषय में रूप में संबंधित विषय पढ़ा हो। दाखिला प्रवेश परीक्षा के आधार पर होगा। 
    उपरोक्त पाठ्यक्रमों की सीटों पर आरक्षण का लाभ राज्य सरकार की आरक्षण नीति के तहत दिया जायेगा। अनुसूचित जाति व जनजाति के आवेदकों के लिए न्यूनतम अंकों की पात्रता में छूट रहेगी। पाठ्यक्रमों से संबंधित पात्रता व शर्तें तथा प्रवेश परीक्षा का पाठ्य विवरण विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर देखा जा सकता है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: