Tuesday, June 13, 2017

18 जून को संघ लोक सेवा आयोग द्वारा करवाई जायेगी सिविल सर्विस प्रारम्भिक परीक्षा


फरीदाबाद, 13 जून,2017(abtaknews.com )संघ लोक सेवा आयोग द्वारा 18 जून 2017 को देश की सर्वोच्च महत्वपूर्ण परीक्षा करवाई जायेगी। इसके लिए जिला फरीदाबाद में विभिन्न शिक्षण संस्थानों में 22 परीक्षा केन्द्र स्थापित किए गए हैं। परीक्षा की पवित्रता को बनाए रखने के लिए आज उपायुक्त समीरपाल सरों ने इस परीक्षा से जुड़े अधिकारियों की एक आवश्यक बैठक ली। उन्होंने अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि इस परीक्षा को पारदर्शी तरीके से सम्पन्न करवाने के लिए अधिकारी कोई कोर-कसर न रखें।  उपायुक्त समीरपाल सरों ने लघु सचिवालय के सभागार में बुलाई इस बैठक में अधिकारियों को कहा कि उन्हें संघ लोक सेवा आयोग द्वारा परीक्षा को लेकर जारी की गई हिदायतों को समय रहते पढ़ लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि कई बार छोटी-छोटी बातों की हम अनदेखी कर देते हैं और बाद में वे एक बड़ी समस्या का रूप धारण कर लेती हैं। इसलिए अधिकारियों को अपने विवेक से काम लेते हुए इस परीक्षा को पारदर्शी तरीके से सम्पन्न करवाना है। उन्होंने पिछले वर्ष में इस परीक्षा को लेकर अधिकारियों द्वारा की गई डयूटी की सराहना भी की और कहा कि वे अब की बार और मुस्तैदी के साथ पूर्ण उत्तरदायित्व से अपनी डयूटी का निर्वहन करेंगे। उन्होंने कहा कि परीक्षा को व्यवस्थित तरीके से करवाने के लिए 22 डयूटी मैजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। इनके साथ-साथ ट्रांजिट ऑफिसर भी नियुक्त किए गए हैं। उन्होंने अधिकारियों को कहा कि वे आवंटित परीक्षा केन्द्र का दौरा कर वहां सभी प्रकार की व्यवस्थाओं को समय रहते पूरा करवा लें।  उपायुक्त ने कहा कि मौसम की नजाकत को देखते हुए अथवा अधिक बारिश होने की सूरत में पहले ही पर्याप्त व्यवस्था को सुनिश्चित कर लिया जाना चािहए। संघ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी हिदायतों का अक्षरश: अनुसरण किया जाना चाहिए। उन्होंने जोर देकर कहा कि यह परीक्षा चूंकि देश की सबसे प्रतिष्ठित व सर्वोच्च परीक्षा है इसलिए प्रत्येक अधिकारी को पूरे उत्तरदायित्व के साथ अपनी डयूटी करनी होगी। उन्होंने कहा कि परीक्षा केन्द्र में प्रत्येक कमरे में समय को दर्शाने वाली घड़ी लगी होनी चाहिए। सभी घडिय़ों का समय भी एक जैसा होना चाहिए। परीक्षा समय पर शुरू हो और समय पर ही समाप्त हो। परीक्षा समाप्ति के बाद उत्तर पुस्तिकाओं को डाकघर में पूरी सुरक्षा के बीच जमा करवाया जाना चाहिए। इसके लिए उन्होंने डीसीपी जिला मुख्यालय क्रिम कपूर को पुलिस के पर्याप्त अधिकारियों की डयूटी लगाने के लिए कहा। उपायुक्त ने कहा कि इस परीक्षा के सही संचालन के लिए फरीदाबाद के अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र दहिया को समन्वयक सुपरवाइजर बनाया गया है। इनके साथ नगराधीश सतबीर मान को सहायक समन्वयक सुपरवाइजर बनाया गया है। परीक्षा को निर्विघ्न व पारदर्शी तरीके से सम्पन्न करवाने के लिए एक कन्ट्रोल रूम भी बनाया गया है। इसके लिए युद्धिष्ठिर कुमार अधीक्षक को इस कन्ट्रोल रूम का प्रभारी बनाया गया है। उपायुक्त ने बताया कि बडख़ल के एसडीएम रीगन कुमार को परीक्षा केन्द्र 1 से 11 तक का तथा बल्लभगढ़ के एसडीएम अमरदीप जैन को परीक्षा केन्द्र 12 से 22 तक का इंस्पैक्टिंग ऑफिसर बनाया गया है। इसी प्रकार परीक्षा में प्रयुक्त होने वाले संवेदनशील मैटिरियल के वितरण के लिए अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय के अधीक्षक सुरेन्द्र रहेजा को पाबन्द किया गया है। अतिरिक्त उपायुक्त जितेन्द्र दहिया ने इस परीक्षा के लिए तैनात किए गए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि यह परीक्षा दो सत्रों में होगी। प्रात: कालीन सत्र 09:30 बजे से 11:30 बजे तक का होगा। सायं कालीन सत्र 02:30 बजे से 04:30 बजे तक का होगा। परीक्षा के बाद उत्तर पुस्तिकाओं/ओएमआर सीट तथा अन्य परीक्षा उपयोगी सामान को डाकघर में जमा करवाया जायेगा। इस काम के लिए फरीदाबाद के खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी प्रदीप कुमार तथा नगर निगम के कार्यकारी अभियन्ता एस.के. अग्रवाल को नोडल अधिकारी बनाया गया है। इस परीक्षा के संचालन में संघ लोक सेवा आयोग के अधिकारी व कर्मचारी भी सहयोग करेंगे।  इस मौके पर नगराधीश सतबीर मान ने परीक्षा को लेकर संघ लोक सेवा आयोग द्वारा जारी हिदायतों बारे अधिकारियों को जानकारी दी। उन्होंने अधिकारियों को सचेत करते हुए कहा कि इस परीक्षा की गरिमा के अनुरूप अधिकारी पूर्ण विवेक के साथ डयूटी करें। डयूटी पर तैनात किए गए कर्मियों को पहचान-पत्र जारी किए जा रहे हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कोई भी डयूटी मैजिस्ट्रेट, ट्रांजिट टीम के अधिकारी परीक्षा केन्द्र में मोबाइल लेकर नहीं जा सकेंगे। उन्होंने परीक्षा केन्द्र अधीक्षकों को आगाह करते हुए कहा कि वे परीक्षा केन्द्र को इंगित करने वाले साइन बोर्ड लगवाना भी सुनिश्चित करें। शौचालयों का निरीक्षण समय-समय पर करते रहें ताकि नकल होने जैसी कोई बात सामने न आये। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि परीक्षा केन्द्र अधीक्षक की अनुमति के बिना कोई भी अन्य अधिकारी परीक्षा केन्द्र में प्रवेश नहीं करेगा। सीटिंग प्लान जैसे बिंदुओं को समय रहते चिन्हित कर लिया जाना चाहिए। उन्होंने बताया कि कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा केन्द्र में घड़ी या अन्य इलैक्ट्रोनिक डिवाइस परीक्षा केन्द्र में नहीं ले जा सकेगा। परीक्षा केन्द्रों में पीने के पानी जैसी सुविधाओं की व्यवस्था को भी सुनिश्चित कर लें। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: