Sunday, June 4, 2017

स्कूल अपग्रेड को लेकर 10 दिन से धरना दे रही छात्राओं ने कहा कि जंग रहेगी मरते दमतक



फरीदाबाद (abtaknews.com) 04जून,2017 ; भीषण गर्मी की चिलचिलाती धूप में गाँव मुजेडी की छात्राओं और उनके परिजनों का सरकारी स्कूल को अपग्रेड कराने को लेकर 10वें दिन भी लगातार धरना जारी रहा। बीते दिन धरने के दौरान 3 लडकियां गर्मी के चलते बेहोश हो गई थी, जिन्हें सरकारी हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था लेकिन तीनो छात्राये हॉस्पिटल से छुट्टी लेकर फिर से धरने पर बैठ गई हैं। छात्राओं ने प्रण ले लिया है कि जब तक स्कूल अपग्रेड नहीं हो जाता तब तक वो स्कूल से धरना समाप्त नहीं करेंगी इसके लिये चाहे उन्हें जान भी क्यों न देनी पडे।

गांव मुजेडी के सरकारी स्कूल में धरने पर बैठी दिखाई दे रही ये वो ही गांव की बेटियां है जो धरने पर बैठने के लिए मजबूर हो गई है इन की एक ही मांग है कि उनके स्कूल को अपग्रेड कर 12  वी तक का किया जाए ताकि वह अपनी पढाई इसी स्कूल में पूरी कर पाए और अपना भविष्य को उज्जवल कर सके। दरअसल ये धरना पिछले 10 दिनों से लगातार जारी है लड़कियों ने अपनी मांग को लेकर जिला प्रशाशन को हस्ताक्षर युक्त शिकायत भी दी लेकिन उनकी मांग जस की तस बानी हुई है उन्हें कोई ठोस आश्वाशन नहीं मिल रहा छात्रों के मुताबिक गाँव का सरकारी स्कूल केवल आठवीं तक का ही है।  जिस के आठवीं पास होने के बाद सभी छात्रों को गाँव से सात आठ किलो मीटर की दुरी पार कर अन्य स्कूलों में जाना पड़ता है । जिस के चलते  दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है , गाँव में 12वीं तक स्कूल न होने के कारन उनके परिजनों ने उनकी पढाई  बंद करा दी क्योंकि जब ये लड़किया अन्य स्कूलो में जाते है  तो उनके साथ छेड़छाड़ होती है स्कूलों में उनके साथ गलत व्यवहार होता है । इसलिये छात्राओं ने साफ - साफ आरोप लगाते हुए कहा कि उनके पास अधिकारी और सत्ताधारी आ रहे मगर स्कूल अपग्रेड की मांग मानने की जगह धरना समाप्त करने की धमकी देने के लिये। छात्राओं ने कह दिया है कि जब तक स्कूल अपग्रेड नहीं हो जायेगा तब तक धरना जारी रहेगा, चाहे इस बीच उन्हें अपने प्राण ही क्यों न देने पडे। छात्राओं के इस जोश के चलते गांव के लोगों ने भी उनके धरने का समर्थन करना शुरू कर दिया है। 

आंदोलनकारी छात्रों के परिजनों ने अबतकन्यूज़ पोर्टल टीम को बताया कि अब हम सभी अपनी-अपनी बेटियों के साथ धरने पर बैठ गये हैं, महिलाओं ने कहा कि उनकी बच्चियों को बाहर स्कूल पढने जाते समय किन किन समस्याओं का समाना करना पडता है जिसका और कोई अंदाजा नही लगा सकता है। इसलिये उन्होंने भी साफ - साफ कह दिया है कि अब तो आर पार की लडाई होगी।


loading...
SHARE THIS

0 comments: