Sunday, May 7, 2017

हरियाणा कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल बोले केजरीवाल है आयोग्यता के न्यूनतम स्तर का नेता

haryana-cabinate-minister-vipul-goel-remark-on-kejrival

फरीदाबाद (abtaknews.com ) आप पार्टी के ढहते हुए किले में कंकड मारते हुए हरियाणा केबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने कहा है कि झूठ और फरेब की राजनीति करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल आयोग्य से भी न्यूनतम स्तर पर है जिनका किला अब पूरी तरह ध्वस्त हो चुका है, इतना ही नहीं मंत्री महोदय ने  जैन समाज को राजनीति में आने के लिये निमंत्रण दिया और कहा कि आयोग्य राजनैतिज्ञों की जगह जैन समाज को लेनी चाहिये। मंत्री आज जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑरगेनेशन जीतो के कार्यक्रम में मुख्यअतिथि के रूप में पहुंचे थे, जीतो द्वारा सूरजकुंड के एक निजी 5 स्टार होटल में कार्यक्रम आयोजित किया गया था जिसमें उन्होंने फरीदाबद चैप्टर का शुभारंभ किया, जैन मंंदिरों के लिये प्रख्यात जीतो अब देश दुनियां में शिक्षा के मंदिर बनायेगी।´
देश दुनिया में भव्य जैन मंदिरों के लिये प्रख्यात जैन समाज अब जीतो संस्था के माध्यम से शिक्षा के मंदिर समाज को देने की पहल कर रहा है, जिसके लिये आज जैन इंटरनेशनल ट्रेड ऑरगेनेशन जीतो ने सूरजकुंड के एक निजी होटल में हरियाणा के अंदर गुडगांव के बाद दूसरे फरीदाबाद में चैप्टर का शुभारंभ किया, जिसमें मुख्यअतिथि के रूप में हरियाणा केबिनेट मंत्री विपुल गोयल मौजूद रहे।
मंंत्री गोयल ने बताया कि जीतो के पूरे देश में 82 चैप्टर और विदेशों में 6 चैप्टर चल रहे हैं जिसमें अब फरीदाबाद का नाम भी जुड गया है, जीतो समाज के लोगों को शिक्षित करने के लिये शिक्षा के मंदिर बना रही है। वहीं मंत्री ने जैन समाज के लोगों को राजनीति में आने के लिये निमंत्रण देते हुए कहा कि राजनीति देश के लोगों की जीवन शैली को तय करती है, व्यापार पर टैक्स, बिजली का बिल, गैस का दाम और वर्करों का वेतन जैसे अहम भागों को राजनीति ही तय करती है। वहीं आप पार्टी में चल रही कलह और पार्टी के बारे में पूछे जाने पर मंत्री महोदय जोर से हसने लगे और कहा कि ऐसे लोगों के लिये मैं क्या बोलू- झूठे और फरेब का किला बनाने वाले केजरीवाल का किला अब ढह गया है,इतना ही नहीं मंत्री महोदय ने केजरीवाल को आयोग्य ही नहीं अयोगय से भी न्यूनतम स्तर का राजनेता बताया।
वहीं जीतो संस्था के नॉर्थ जौन के चेयरमैन जी एस ने बताया कि पूरे देश में चैप्टर स्थापित करने का एक मात्र उद्देश्य समाज को शिक्षा के मंदिर उपलब्ध करवाकर प्रशासनिक और समाजिक क्षेत्र में आगे बढाने का है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: