Thursday, May 25, 2017

नगर निगम में व्याप्त महाभ्रष्टाचार और घोटालों के खिलाफ सत्याग्रह जारी


फरीदाबाद, 25 मई,2017(abtaknews.com)भ्रष्टाचार विरोधी मंच ने आज यहां खुलासा किया है कि फरीदाबाद नगर निगम के द्वारा पिछले वर्षों में विभिन्न सरकारी विभागों व एजेसिंयों और निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों को विभिन्न कार्याे के लिए टैम्पररी एडवांस के तौर पर स्वीकृत की गई लगभग 753 करोड़ रूपये की राशि अभी तक अन-एडजस्टड पड़ी हुई है। 31 मार्च 2016 तक के इन आंकड़ों के अनुसार इस 753 करोड़ रूपये की राशि में से लगभग 51 करोड़ रूपये की राशि की अदायगी किये हुए 6 महीने का समय हो गया है, 15 लाख रूपये की राशि की अदायगी किये 6 महीने से 1 साल के बीच का समय, 187 करोड़ रूपये की राशि की अदायगी किये हुए 1 साल से लेकर 3 साल का समय और 515 करोड़ रूपये की राशि की अदायगी किये हुए 3 साल से ज्यादा का समय हो गया है।  इस 753 करोड़ रूपये की राशि में से 748 करोड़ रूपये की राशि सरकारी विभागों/एजेंसियों व निजी एजेसिंयों का दी गई है जबकि  5 करोड़ रूपये की राशि निगम के कार्यों के लिए अधिकारियों का अदा की गई थी। नियमानुसार टैम्परेरी एडवांस की राशि को या तो एडजस्ट करवाना होता है या फिर वापिस नगर निगम कोष में जमा करवाना आवश्यक होता है, लेकिन न तो एडजस्ट करवाई गई है और न ही निगम कोष में जमा करवाई की गई - जो कि एक बड़े बड़ी अनियमितता की ओर संकेत करता है। मंच ने इस सारे ऐपिसोड की उच्च स्तरीय जांच की मांग सरकार से की है। मंच के नेताओं के अनुसार निगम के घोटालों की एक विस्तृत चार्जशीट तैयार की जा रही है जो कि लगभग अंतिम चरण में हैं और संभवतया कल सायं तक सरकार के सम्मुख प्रस्तुत कर इन घोटालों की केन्द्रीय जांच ब्यूरो या विशेष जांच दल से जांच करने की मांग की जायेगी।
इधर निगम मुख्यालय पर भ्रष्टाचार के विरोध में अनशनकारी बाबा रामकेवल, पदमश्री डा. ब्रहमदत्त और निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला के चल रहे सत्याग्रह के समर्थन में रिटायर्ड कर्मचारी संघ हरियाणा की ओर से नगर निगम के सैंकड़ों सेवानिवृत निगम अधिकारियों व कर्मचारियों ने सत्याग्रह किया।  संघ की ओर से कर्मी नेता यू.एम. खान, रमेश खत्री, टेक चंद सौरोत, धन सिंह अत्री, नवल सिंह, निगम के पूर्व संयुक्त आयुक्त टी.डी. जटवानी, वित नियंत्रक एस.बी. अग्रवाल, पूर्व जेड.टी.ओ. सरदार हरपाल सिंह, हंसराज, भीम सिंह, पूर्व सरपंच श्रीकृृष्ण आदि ने सत्याग्रह के प्रति अपना जोरदार समर्थन व्यक्त करते हुए एलान किया कि हर बृहस्पतिवार को उनके संघ की ओर से सैंकड़ों सेवानिवृत अधिकारी व कर्मचारी इस सत्याग्रह में शामिल होंगे। सेक्टर 3 रेजिडेन्ट वेलफेयर एसोसिएशन फैडरेशन  के महासचिव रतन लाल राणा, वरिष्ठ उपप्रधान राजेन्द्र भाटी व उपप्रधान धर्मपाल चहल ने भी फैडरेशन की ओर से अपना समर्थन व्यक्त करते हुए 31 मई बुद्धवार को सत्याग्रह पर बैठने का एलान किया है।  28 मई को भ्रष्टाचार का मामला उजागर करने पर बी.एस.एफ. से बर्खास्त किये गये तेज बहादुर सिंह यादव सत्याग्रह का समर्थन करने फरीदाबाद आ रहे हैं, जबकि 29 मई सोमवार को फाउंडेशन अगेंस्ट थैलासीमिया के तत्वाव्धान में थैलासीमिक बच्चे और उनके अभिभावक भ्रष्टाचार के विरूद्ध चल रहे इस संघर्ष में शिरक्त करेंगे। संजय गांधी मैमोरियल नगर रेजिडेन्ट वैलफेयर एसोसिएशन के प्रधान लज्जा राम ने भी सत्याग्रह का समर्थन करते हुए 30 मई मंगलवार को सत्याग्रह पर बैठने की घोषणा की है।   नरियाला गांव के सरपंच योगेश कौशिक ने भी सत्याग्रह का समर्थन व्यक्त करते हुए एलान किया कि उनके गांव के लोग भी एक दिन सत्याग्रह का समर्थन करने आयेंगे।
वक्ताओं ने अपने सम्बोधन में कहा कि वर्तमान सरकार ने ईमानदार अधिकारियों का जीना दूभर कर दिया गया है, लेकिन भ्रष्टाचार विरोधी मंच के साथ शहर की जनता तेजी से जुड़ने लगी है और कलम की ताकत के रूप में इस्तेमाल करने वाले राजनेताओं व अधिकारियों के हौंसले पस्त होंगे।  इन वक्ताआंे ने निगम अधिकारी रतन लाल रोहिल्ला की बगावत को शहर व नगर निगम को बचाने की खातिर की गई बगावत की संज्ञा देते हुए केन्द्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गूर्जर सहित शहर के सभी विधायकों से आंदोलनकारियों से बात कर निगम के भ्रष्टाचार की समाप्ति के लिए ठोस कदम उठाने की मांग की।  सत्याग्रह पर अन्य के इलावा धीरज हिन्दुस्तानी, शाहबीर खान, रामबिहारी यादव, राजकुमार अग्रजी, लाजपत राय फागना, धीर सिंह आदि भी उपस्थित रहे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: