Monday, May 15, 2017

चंदावली गांव में दाव पर लगा हुआ है सामाजिक सौहार्द, सरपंच परिवार है शामिल




बल्लबगढ़ (abtaknews.com) 15 मई ,2017 ; मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में 5 करोड देने और प्रदेश में सबसे पहले सीसीटीवी कैमरा लगवाने वाल फरीदाबाद का गांव चंदावली इन दिनों गांव में टूट रहे भाईचारे और आपस में हो रहे झगडे को लेकर चर्चा में है और इस झगडे की बजह सोशल मीडिया बताई जा रही है, जिसको लेकर आज गांव की ने सरदारी पुलिस आयुक्त हनीफ कुरैशी से मुलाकात की और पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करवाकर दोषी व्यक्तियों के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की। जिसपर पुलिस आयुक्त ने गांव के सैकडों लोगों को निष्पक्ष कार्यवाही का आश्वान दिया है। बता दें कि 2 मई को एक व्यक्ति ने गांव में बन रही नाली की फोटोज फेसबुक पर शेयर कर दी थी जिसको लेकर गुस्से में आये सरपंच पक्ष के लोगों को उसके साथ मारपीट कर दी। लोगों का आरोप है कि सरपंच मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में दिये 5 करोड रूपयों को बसूल कर रहा है

पूरे प्रदेश में भाईचारे और पंचायती फैंसले की मिशाल बने चंदावली गांव में इन दिनों तनाव और आपसी मनमुटाव का मामला सामने आ रहा है। गत 2 मई को गांव में पंचायत फंड में करोडों रूपये होने के बाद भी ग्रामीण खुद अपने पैसे से नाली बनाने को मजबूर थे जिसकी कुछ फोटोज देवेन्द्र ने फेसबुक पर शेयर कर दी, जिससे गुस्साये सरपंच पक्ष के लोगों ने उनके साथ मारपीट कर दी, मारपीट में 3 लोगों को चोटें आई जिसपर सरपंच पक्ष के लोगों के खिलाफ मामला दर्ज 6 मई को करवाया गया, इसी मामले में सरपंच पक्ष के लोगों ने क्रॉस केस बनाने के लिये सरपंच अंजु रानी का साहरा लेकर उसके साथ मारपीट करने का झूठा मुकदमा दर्ज करवाया है जो कि बिल्कुल गलत है, इतना ही नहीं सरपंच के पिता गिर्राज यादव पूरे गांव में सौहार्द और भाईचारे को तोडना चाहते हैं, वह पंचायती फंड से मुख्यमंत्री रिलीफ फंड को दिये गये 5 करोड रूपयों की बसूली कर रहे हैं कभी लोगों को डराते हुए कहते हैं कि मैं सीएम के बहुत करीब हूं तो कभी पुलिस चौकी में जाकर पुलिसकर्मियों को सीएम का डर दिखाते है, इसलिये वो चाहते हैं कि इस पूरे मामले की निष्पक्षता से जांच की जाये।

वहीं इस झगडे में चोटिल हुए ओमदत्त  ने अबतक न्यूज़ पोर्टल को बताया कि वो दुकान पर बैठा था तभी सरपंच के परिजनों ने उनपर पंच और हथियारों से हमला किया जिससे उसके सिर में गहरी चोट आ गई।वहीं नारायन की माने तो सरपंच के पिता गिर्राज यादव ने राजनीतिक पावर का इस्तेमाल करते हुए उनपर महिला सरपंच अंजु रानी को थप्पड मारने का झूठा मुकदमा दर्ज करवाया है जबकि सरपंच अंजु रानी उन्हें पहचानती तक नहीं है।  इस मौके पर गांव की सरदारी में मोहन डागर समाजसेवी, राजकुमार सैनी ब्लॉक समिति मैम्बर, सुदर लांबा, बुद्धा सैनी समाजसेवी, वरूण सौकंद आरटीआई कार्यकर्ता, रचना शर्मा पूर्व सरपंच, संजय सैनी, रनवीर मैम्बर, खेंमचंद मैम्बर, सतवीर, नंदकिशोर, धर्मवीर मास्टर, मोहन सैनी, लेखराम सैनी, किशन चहल, नेतराम सैनी, हरिकिशन, रिंकु,  धर्मपाल सैनी, भीम सैनी, प्रकाश चहल और राजू सिद्धू सहित सैंकडों ग्रामीण मौजूद रहे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: