Tuesday, May 2, 2017

श्रीरामानुज जयंती के अवसर पर देर शाम निकली शोभायात्रा में शामिल हुए हजारों भक्त


फरीदाबाद,02 मई,2017(abtaknews.com )श्री सिद्धदाता आश्रम में चल रहे पांच दिवसीय ब्रह्मोत्सव के चौथे दिन भाष्यकार रामानुज स्वामी की विशाल शोभायात्रा में हजारों भक्त शामिल हुए। शोभायात्रा आश्रम की बाहरी परिक्रमा मार्क से होती हुई सूरजकुुंड रोड का चक्कर काटकर आश्रम पर ही संपन्न हुई। शोभायात्रा में सैकड़ों महिलाओं ने सिर पर कलश उठाए वहीं हजारों अन्य लोगों ने संप्रदाय के झंडों और बैनरों के साथ भागीदारी की। इस अवसर पर रोशनी और जयकारों के बीच रात्रि में भी दिन का अहसा होता नजर आया।
आश्रम के अधिपति अनंतश्री विभूषित इंद्रप्रस्थ एवं हरियाणा पीठाधीश्वर श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने हरियाणा सरकार में केबिनेट मंत्री विपुल के सहयोग से शोभायात्रा को प्रारंभ करवाया। जिसमें श्री रामानुज स्वामी की मूर्ति बड़ी ही सुशोभित हो रही थी। विपुल गोयल ने कहा कि रामानुज स्वामी की 1000वीं जयंती के अवसर पर देश विदेश में अनेक कार्यक्रमों के जरिए उनकी शिक्षाओं को बताया जा रहा है। जिसमें श्री सिद्धदाता आश्रम के प्रयास महत्वपूर्ण हैं। वहीं भारत व हरियाणा सरकार भी परम संत की शिक्षाओं को प्रसार देने में कोई कसर नहीं छोड़ेगी।
यात्रा के समापन अवसर पर भक्तों के बीच स्वामी पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने कहा कि भारत सरकार ने हमारे परमाचार्य रामानुज स्वामी की जयंती पर 25 रुपये का विशेष डाक टिकट जारी कर बड़े उपकार का कार्य किया है। इस डाक टिकट के माध्यम से भी लोगों को रामानुज स्वामी के बारे में जानने की इच्छा जागृत होगी।
उन्होंने कहा कि कुलीन ब्राह्मण परिवार में जन्म लेने वाले रामानुज स्वामी जातिगत भेदभाव के बहुत खिलाफ थे। उन्होंने जातीय आधार पर लोगों का तिरस्कार करने वाली अपनी स्त्री को भी कड़ा दंड दिया। रामानुज स्वामी ने संसार को बताया कि ईश्वर, जीव और माया तीनों का अस्तित्व है और यह तीनों मिलकर ब्रह्म होते हैं। उन्होंने कहा कि जीव व माया बेशक ईश्वर से उत्पन्न हुए लेकिन वह ईश्वर नहीं हैं। इस प्रकार उन्होंने विशिष्ट अद्वैत का सिद्धांत संसार को दिया। इस अवसर पर अलवर से आए जगदगुरु फलाहारी स्वामी भी मौजूद रहे। श्रीमद जगदगुरु रामानुजाचार्य स्वामी श्री पुरुषोत्तमाचार्य जी महाराज ने यात्रा के बाद सभी भक्तों को प्रसाद प्रदान किया। यह कार्यक्रम रात 12 बजे तक चलता रहा।

loading...
SHARE THIS

0 comments: