Monday, May 8, 2017

शिक्षा का व्यवसायीकरण करने वाले प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ पेरेंट्स ने खोला मोर्चा


फरीदाबाद: 8 मई,2017(abtaknews.com): शिक्षा का व्यवसायीकरण कर रहे निजी स्कूल प्रबधकों को राज्य व जिला प्रशासन द्वारा दिये जा रहे खुले संरक्षण के विरोध स्वरूप पूरे प्रदेश में शूरू किए गए अवज्ञा आंदोलन के तहत शनिवार को अभिभावक एकता मंच के बैनर तले सैक्टर 10 स्थित मिलन चौक पर अभिभावकों की एक सभा आयोजित करके कैण्डल मार्च निकाला व सरकार के नकारत्मक रूख के खिलाफ रोष प्रकट किया गया। जिसमें  पेरेंट्स एसोसिएशन,अग्रवाल पब्लिक स्कूल, रेयान  ग्रांड कोलम्बस इंटरनैषनल, एपीजे, एमवीन, मार्डन डीपीएस, डीएवी, द्रोणाचार्य, मानव रचना, हरमन मायनर, आइषर, जीवा, मार्डन, डाईनेस्टी, सैन्ट जोन्स् आदि के अभिभवकों के साथ साथ कई सामाजिक व आरडब्लयू के सदस्यों ने भाग लिया। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष एडवोकेट शिव कुमार जोशी, सचिव डा. मनोज शर्मा, प्रदेष अध्यक्ष ओ.पी शर्मा, प्रदेश महासचिव कैलाष शर्मा, प्रदेश संरक्षक सुभाष लाम्बा, आई डी शर्मा, ओमबीर सिंह, आरडब्लूए तीन के महासचिव रत्नलाल राणा ने अपने सबंोधन में कहा कि नेता व अधिकारी शुरू से ही निजी स्कूलों का साथ दे रहें है।

लेकिन जब से मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री ने कहा है कि बच्चों के भविष्य की खातिर स्कूल वालों से समझोता कर लो तब से तो स्थानीय सांसद,विधायक, व जिला प्रशासन के अधिकारी अभिभावकों को वही भाषा बोल रहें हैं जो मुख्यमंत्री महोदय ने बोली है इसी के चलते स्कूल वालों के हौंसले पहले से ज्यादा बुलंद हो गए है। उन्होंने मासूम बच्चों को ढाल बनाकर और अधिक अभिभावकों के साथ मनमानी व लूट खसौट शुरू कर दी है इससे पूरे प्रदेश के छात्र व अभिभावक सडक़ो पर उतर कर तपती गर्मी में आदोलन करके अपना रोष प्रकट कर रहे हैं लेकिन इसका राज्य व जिला प्रशासप पर कोई भी असर नहीं हो रहा है अत: अभिभावकों ने अब जनआदोलन के रूप में अवज्ञा आदोलन की शुरूआत की है। कैलाश शर्मा ने बताया कि 7 मई को सांय 6से 8 बजे तक राज्य के 21 जिलों में रोष सभा व कैण्डल मार्च निकालकर अवज्ञा आदोलन की शुरूआत की गई है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ,शिक्षामंत्री, सांसद, विधायक,डीसी, डीईओ आदि को कई दर्जन ज्ञापन देकर , गुलाब के फूल देकर अपील की गई कि वह अभिभावकों की मदद करें लेकिन उन्होंने आज तक उन करोड़ों अभिभवकों की कोई मदद नहीं की जिनके  वोट से वें नेता बने है इसकी जगह उन्होंने उन चंद स्कूल प्रबंधकों की खुलकर मदद की है जिन्होंने उन्हें बोट ही नहीं दिया है। अत: उन्हें अब कोई ज्ञापन/मांगपत्र नहीं दिया जाएगा इसकी जगह सभी 90 विधान सभा क्षेत्रों में अवज्ञा आदोलन चलाकर अभिभावकों को जागरूक किया जाएगा और उस क्षेत्र के विधायक की स्कूलों से सांठ गांठ की पोल खोली जाएगी। इन कार्यक्रमों की रूपरेखा तय करने के लिए शीघ्र ही सीएम सिटी करनाल में सभी जिलों के अभिभावक संगठनों के पदाधिकारियों की एक बड़ी बैठक आयोजित की जाएगी। कैण्डल मार्च में  बीएस विर्दी, वेदप्रकाश, मोनिका, सुरेन्द्र शर्मा, राजीव, अर्चना अग्रवाल, विपिन पांडे, त्रिलोचन सिंह, कपिल खट्टर,भीम सिंह, दिनेश गेरा,शराफत खान,   नरेश शर्मा, राजेन्द्र भाटी, विजय, राजन त्यागी आदि ने भाग लिया।


loading...
SHARE THIS

0 comments: