Monday, May 8, 2017

विपुल गोयल ने बसेलवा कॉलोनी में किया परशुराम भवन का शिलान्यास


फरीदाबाद 8 मई,2017(abtaknews.com) उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने बसेलवा कॉलोनी ,ओल्ड फरीदाबाद में परशुराम भवन का शिलान्यास किया। इस मौके पर अखिल भारतीय ब्राह्मण सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पं0 सुरेन्द्र शर्मा (बबली) और ब्राह्मण सभा के सद्स्यों ने उद्योग मंत्री का भव्य स्वागत किया। इस मौके पर भगवद् गीता पाठ और कवि सम्मेलन का भी आयोजन किया गया। विपुल गोयल ने इस मौके पर कहा कि भगवान परशुराम का जीवन अत्याचार के खिलाफ लड़ाई का प्रतीक है,गीता का सार भी अन्याय के खिलाफ खड़े होने का संदेश देता है और कवियों की कलम तो अन्याय के खिलाफ लड़ाई में तलवार से भी घातक है। इसीलिए इन तीनों आयोजनों का संगम एक ही संदेश देता है कि बुराई के खिलाफ बदलते भारत के दौर में बुराईयों के खिलाफ युद्ध में हम सच्चाई का साथ दें।  उन्होने कहा कि भगवान परशुराम को भगवान विष्णु का छठा अवतार माना जाता है लेकिन उन्हे शिवहरि भी कहा जाता है । क्योंकि परशु में भगवान शिव समाहित हैं तो राम में विष्णु । अक्षय तृतीया को जन्म लेने के कारण भगवान परशुराम की शस्त्रशक्ति भी अक्षय है और शास्त्र संपदा भी अनंत है। भगवान परशुराम के सिद्धांत आज भी हम सबके लिए प्रेरणा हैं। 
उन्होने कहा कि भगवान परशुराम ने कहा था कि न्याय और सत्य की स्थापना करना किसी भी राजा का पहला कर्तव्य होता है। अब राजा-महाराजा तो नहीं रहे,अब तो जनता का शासन है और जनता ने जिस प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अगुवाई में बीजेपी की सरकार चुनी है तो ये सरकार भी सत्य और न्याय की स्थापना के लिए दिन रात काम करने में जुटी है। इस कार्यक्रम पार्षद सुभाष आहुजा, विनोद भाटी जी, नरेश नंबरदार ,वरिष्ठ अधिवक्ता ओ पी शर्मा जी,अतुल त्रिखा ,अनीता शर्मा जी,सुखवीर मलेरना जी,बी डी कौशिक,बृजमोहन वशिष्ठ,महेश शर्मा,जे शी शर्मा जी,जगमोहन थानेदार जी,ज्ञानदेव वत्स जी,त्रिलोक चन्द जी ,पं श्यामा जी व हरीश कुलेना जी,माक होराम जी,कृष्ण पहलवान जी,सुरेन्द्र भुरा जी,अनीता पाराशर ,पी सी गोड़ जी,के एल शर्मा जी,ओ पी शास्त्री जी,अनिल शर्मा जी,वाई के शर्मा जी,प्रमोद छुट्टी ,एल आर शर्मा जी,राधेश्याम शर्मा जी,राजकुमार कौशिक जी,रामदत्त भारद्वाज जी,हरिपाल वत्सजी,रामकिशन मवई जी,कपिल मोहना जी,व अन्य वरिष्ठ गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे ।

loading...
SHARE THIS

0 comments: