Monday, May 15, 2017

किसानों की मांगे नहीं मानी तो हरियाणा में होंगे आंदोलन : अम्बावता


फरीदाबाद(abtaknews.com ) 15 मई,2017; हरियाणा की भाजपा सरकार किसान विरोधी सरकार हैमुख्यमंत्री ने अब तककिसानों की किसी मांग पर ध्यान नहीं दियाऔर यदि आगामी छह माह तक सरकार नेकिसानों की मांगों को नहीं माना तो फिर पूरे हरियाणा में किसान तीखे आंदोलन करेगा।भारतीय किसान यूनियन (के राष्ट्रीय अध्यक्ष ऋषिपाल अम्बावता ने पलवल जिले मेंस्थित जाट धर्मशाला में आयोजित किसान पंचायत में मौजूद किसानों को संबोधित करते हुएकहे।
श्री अम्बावता ने कहा केन्द्र सरकार ने पिछले तीन वर्ष में किसानों के लिए कोई काम नहींकिया।

देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जितनी बार विदेशों के दौरों पर गए हैं उतनी बार यदिदेश के गांवों में घूम लेतेऔर किसानों के लिए सोच लेते तो भारत के 70 प्रतिशत लोगों केअच्छे दिन  जाते। उन्होने केन्द्र सरकार से मांग करते हुए कहा भाजपा जल्द किसानआयोग और नई किसान नीति बनाएताकि देश में किसान आत्म हत्याएं रूक सकें।
श्री अम्बावता ने कहा किसान कर्ज के बोझ तले दबा हुआ है इसलिए आत्म हत्या करने परमजबूर है। भाकियू ने देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लालको पत्र लिखकर यूपी सरकार की तर्ज पर हरियाणा के किसान का कर्ज माफ करने की अपीलकी है। यदि यूपी की तर्ज पर पूरे देश में किसानों के कर्जे माफ  हुए तो पूरे देश में किसानआंदोलन किए जाएंगे। 
श्री अम्बावता ने पलवल किसान पंचायत के साथ ही लगातार होने वाली किसान पंचायतों कीघोषणा की। इसके बाद मेवातगुरूग्रामरेवाडीरोहतकपानीपतअम्बालाकैथलझझर,असंदजींदकुरूक्षेत्रकरनालबदरौला और अंत में चण्डीगढ़ में होगी। उन्होने बताया 21जिलों में 21 किसान पंचायतों के माध्यम से किसानों को जाग्रित किया जाएगा। उन्होने मौजूदकिसानों को आगामी 10 से 12 जून तक हरिद्वार के अलखनंदा मैदान में चलने वाले 18 वेंराष्ट्रीय किसान अधिवेशन में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने के लिए आमंत्रित किया।
इस अवसर पर भाकियू राष्ट्रीय महासचिव इन्द्र स्वामी ने किसानों की अनेक समस्याओं कोरखाऔर कहा देश में किसान और जवान दोनों दुखी हैं। दोंनों ही रोटी के लिए तरस रहे हैंऔरदोनों ही मौत को गले लगा रहे हैंमगर बदले में क्या मिल रहा हैसिर्फ झूठे वायदे। उन्होनेकहा पूरे देश का किसान भाकियू के साथ आकर एकता का परिचय दे ताकि उनकी मांगों कोपूरा करने के लिए लडाई लडी जा सके। किसान पंचायत में हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष शमशेरसिंह दहिया ने कहा वर्तमान भाजपा सरकार के मुखिया मनोहर लाल से किसानों ने कई बारमिलने की कोशिश की मगर उन्होने समय नहीं दियाऔर जब किसान उनसे मिलने पहुंच गएतो किसानों को गिरफ्तार करा दिया गया। दहिया ने कहा यह सरकार सिर्फ व्यापारियों कीसरकार है। उन्होने कहा किसानों की मांग है कि सरकार गंगा-जमुना के रेत को बाहरी लोगों को देकर गांव के किसानों को ही बेचने की इजाजत दे ताकि ग्रामीणों को काम और किसानों कोपैसा मिले। आज जो खेती घाटे का व्यापार बन गई है उसे फसल का दाम बढाकर राहत प्रदानकरे। उन्होने कहा पूरे देश का किसान राष्ट्रीय अध्यक्ष चौऋषिपाल अम्बावता के नेतृत्व में एकहो रहा है।
इस अवसर पर भाकिूय प्रवक्ता मानसिंह डागरज्ञानचंद अहुजाप्रदेश महिला अध्यक्ष शालिनीमेहताप्रदेश सचिव ठाकुर भारत पाल बागपुरपलवल अध्यक्ष ऋषिपाल चौहानगौतमबुद्धनगर अध्यक्ष नरेश चपरगढ़मास्टर रामवीर सिंहबालक राम शास्त्री ने अपने विचार रखेजबकि रागणी गायक सुरेन्द्र करानाबिजेन्द्र सिंहजितेन्द्र सिंहदिगम्बर सिहकृष्ण कुमार,दीपचन्द, <

loading...
SHARE THIS

0 comments: