Tuesday, May 23, 2017

निगमायुक्त सोनल गोयल ने फरीदाबाद की सफाई व्यवस्था का लिया जायजा


फरीदाबाद, 23 मई,2017(abtaknews.com ) नगर निगम की निगमायुक्त सोनल गोयल ने आज सफाई व्यवस्था को लेकर आज शहर के सेक्टर-17 के दो पार्को, ओल्ड सब्जी मंडी, सेक्टर-11, 24, सेक्टर-22-23 की डिवाइडिंग रोड, एनआईटी स्थित बस अडडा में सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। इस अवसर पर अतिरिक्त आयुक्त पार्थ गुप्ता, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी श्याम सिंह, कार्यकारी अभियन्ता रमेष बंसल, बागवानी के कार्यकारी अभियन्ता सुरेन्द्र पूनिया सहित निगम के सहायक सफाई निरीक्षक, सफाई निरीक्षक भी मौजूद थे।निगमायुक्त सोनल गोयल ने सबसे पहले सेक्टर-17 के दो पार्कों आसपास सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। जहां पर दोनों पार्कों में पतझड़ केे मौसम के चलते पेड़ों से गिरी पत्तियों के ढेर दिखाई दिए। उन्होंने बागवानी के अधिकारियों को पार्कों में प्रदूषण और गंदगी से निपटने के लिए सूखे पत्तों और गार्डन वेस्ट से वनस्पतिक खाद (कम्पोस्ट) बनाने के निर्देष दिए। नगर निगम द्वारा  उद्यान विभाग सूखे पत्तों और गार्डन वेस्ट वनस्पतिक खाद बनाने का कार्य भी शुरू किया है जिसका उपयोग पार्कों में किया जाएगा।
गौरतलब है कि निगमायुक्त ने बताया कि निगम प्रषासन द्वारा अब तक लगभग 70 पार्कों में कम्पोस्ट बनाने की कार्यवाही की जा रही हैं और एक सप्ताह के अंदर लगभग 20 और पार्कों में कम्पोस्ट बनाने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। कम्पोस्ट बनाने के लिए पार्कों में छायादार स्थान पर पत्तों के ढेर बनाये जाते है जो कि लगभग तीन फुट ऊंची होती है। हर एक फुट पर खाद या मिटटी की हल्की परत डाली जाती है और फिर पत्तों को गीला किया जाता है। नमी बनी रहे जब यह सुनिष्चित हो जाता है तो 4-5 माह में कम्पोस्ट खाद तैयार हो जाती है। इस कम्पोस्ट को जमीन की उर्वरा शक्ति बढ़ाने के लिए पार्कों एवं पौधों में उपयोग किया जाता है। इससे भूमि में पानी सोखने की शक्ति भी बढ़ जाती है। निरीक्षण के दौरान निगमायुक्त ने उद्यान विभाग के अधिकारियों को छोटे एवं मध्यम पार्कों में इस प्रक्रिया को अपनाने के निर्देष दिए। इस प्रक्रिया से पार्कों का जैविक वेस्ट दूसरे कूड़े में नहीं मिलेगा एवं पार्क के इस जैविक वेस्ट को पार्क में ही प्रयोग किया जाएगा और सूखे पत्ते एवं गार्डन वेस्ट की यह समस्या भी समाप्त हो जाएगी।
अपने निरीक्षण दौरे के दौरान निगमायुक्त ने ओल्ड सब्जी मंडी का दौरा किया जहां पर सफाई व्यवस्था ठीक नहीं थी, जगह-जगह कूड़े के ढेर सड़कों के किनारे पड़े हुए थे। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सब्जी मंडी में सफाई व्यवस्था दुरूस्त करने और प्रतिदिन कूड़े के ढेर उठाने के निर्देष दिए। इसके उपरांत निगमायुक्त ने एनआईटी स्थित बस अडडा, सेक्टर-11, 22-23 की डिवाइडिंग रोड के साथ-साथ सेक्टर-24 में कूड़े के क्लैक्षन पाइंटों का भी जायजा लिया। जहां पर सफाई व्यवस्था संतोषजनक पाई गई।
निगमायुक्त सोनल गोयल ने शहरवासियों से भी शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए निगम प्रषासन का सहयोग देने की अपील करते हुए कहा कि वे अपने घरों, दुकानों या संस्थानों आदि का कूड़ा कूड़ेदान में या आसपास निर्धारित कूड़ा क्लैक्षन पाइंट में डाले जिससे शहर की साफ-सफाई व्यवस्था दुरूस्त हो सके। स्वच्छ फरीदाबाद-स्वस्थ फरीदाबाद नारे के साथ शहर में सफाई अभियान आगे भी चलता रहेगा जिससे शहर की सफाई व्यवस्था को और दुरूस्त किया जा सकें। उन्होंने सभी सफाई निरीक्षक और सहायक सफाई निरीक्षक सहित सफाई कर्मचारियों को प्रतिदिन समय पर अपनी हाजिरी लगाना सुनिष्चित करने और डयूटी के समय वर्दी पहनने के भी आदेष दिए।


loading...
SHARE THIS

0 comments: