Friday, May 19, 2017

विधायक ललित नागर ने समर्थकों संग बदरौला बिजली सब स्टेशन का किया घेराव


फरीदाबाद(abtaknews.com) तिगांव विधानसभा क्षेत्र में व्याप्त बिजली की विकराल समस्या को लेकर आज क्षेत्र के कांग्रेसी विधायक ललित नागर ने बदरौला स्थित बिजली पावर हाऊस का घेराव कर जमकर विरोध में सांकेतिक धरना देकर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सहित बिजली विभाग के आला अधिकारियों को खुले शब्दों में चेतावनी दी कि अगर जल्द ही क्षेत्र में बिजली की आपूर्ति सुचारु नहीं की गई तो तिगांव विधानसभा क्षेत्र के लोग बिजली के बिल भरना ही बंद कर देंगे और फिर भी विभाग नहीं चेता तो  सेक्टर-12 स्थित जिला मुख्यालय एवं सेक्टर-23 स्थित बिजली विभाग के एस.सी. कार्यालय पर एक विशाल आंदोलन किया जाएगा।  तपती गर्मी के बावजूद विधायक ललित नागर के इस धरना-प्रदर्शन में क्षेत्र के लोग कई घंटे तक पसीना-पसीना होकर भी डटे रहे और उन्होंने बिजली विभाग व सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। धरना-प्रदर्शन में लोगों के बढ़ते आक्रोश को देखते हुए मौके पर तिगांव के थाना प्रभारी राधेश्याम के नेतृत्व में भारी पुलिस बल मौके पर तैनात रहा।  बाद में कार्यालय में मौजूद एसडीओ ने मौके पर आकर विधायक को बताया कि ओवरलोडिंग की वजह से क्षेत्र के लोगों को बिजली की समस्या झेलनी पड़ रही है, जल्द ही समस्या को दूर कर दिया जाएगा। इस अवसर पर धरने पर मौजूद उपस्थित प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए विधायक ललित नागर ने अपनी जोशिले अंदाज में हरियाणा सरकार की जगमग योजना को पूरी तरह से फ्लॉप करार देते हुए इसे लूट की योजना करार दिया। उन्होंने कहा कि पूरे हरियाणा प्रदेश के 395 गांवों को इस जगमग योजना शामिल किया गया है, लेकिन इन सभी गांवों में जगमग योजना का व्यापक विरोध हो रहा है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि इस योजना के तहत अनेकों गांवों को विपक्ष के विधायकों द्वारा गोद लिया गांव बताया गया है, जो पूरी तरह से विपक्षी विधायकों की छवि को जनता के बीच खराब करने की एक साजिश है क्योंकि इस जगमग योजना से एक भी गांव को लाभ होने वाला नहीं है बल्कि उन गांवों में अनाप-शनाप बिल भेजे जा रहे है।

उन्होंने प्रदेश में व्याप्त बिजली समस्या के लिए हरियाणा सरकार की नीति को दोषी करार देते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार में प्रदेश में 4 थर्मल पावर बिजली बनाने का काम करते थे, लेकिन इस सरकार ने आते ही इन सभी चारों बिजली कारखानों को बंद कर प्रधानमंत्री मोदी के चहेते अडानी को खुश करने के लिए उनकी कंपनी से बिजली खरीदनी शुरु कर दी। यही कारण है कि प्रदेश के लोगों को जहां 8 से 10 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से महंगी बिजली मिल रही है वहीं बिजली की समस्या के चलते लोगों में त्राहि-त्राहि मच रही है। तिगांव विधानसभा क्षेत्र में व्याप्त बिजली संकट पर बोलते हुए विधायक ललित नागर ने कहा कि उन्होंने क्षेत्र की इस समस्या को लेकर पिछले विधानसभा क्षेत्र में प्रमुखता से उठाया था, जिस पर सरकार ने उन्हें सदन में आश्वासन दिया था कि ग्रामीण क्षेत्र होने के चलते आपके क्षेत्र में 18 घण्टे बिजली दी जा रही है, लेकिन असलियत यह है कि आज तक क्षेत्र मेें मात्र 4 से 6 घण्टे ही बिजली मिल रही है और इस समय में भी 20 से 30 अघोषित कटों ने क्षेत्र के लोगों का जीना दुश्वार कर दिया है। उन्होंने बिजली विभाग को प्रदेश का सबसे बड़ा भ्रष्टाचार का अड्डा बताते हुए कहा कि आज लोगों को घरेलू कनेक्शन लेने के लिए 10 से 20 हजार व किसानों के ट्यूबवैल के लिए 1 से 2 लाख रुपए की मोटी रिश्वत ली जा रही है। इस अवसर पर विधायक ने उपस्थित लोगों से दोनों हाथ उठवाकर आगामी आंदोलन के लिए तैयार रहने के लिए आश्वासन दिया। इस मौके पर जगबीर सरपंच, रतनपाल सरपंच, विनोद सरपंच, लायकराम सरपंच, सुरेश अधाना (पूर्व पार्षद), सुशील पार्षद, राजकुमार मेम्बर, महेश नागर, राजेंद्र नागर उप सरपंच, वरिष्ठ कांग्रेसी नेता युद्धवीर झा,  बाबू अधाना, देवेंद्र मास्टर, सुखराज अवाना, सुंदर नेता, सुरजपाल भूरा, विकास  वर्मा नंबरदार, एडवोकेट राजेश खटाना, आज़ाद चैयरमैन, बलराज सरदाना, सुनील चेयरमैन, धीरज सरपंच, चरती बाबा, फिरे अधाना, धरमबीर नागर, बीरपाल ठेकेदार, राजिन्द्र मास्टर, रामपाल नागर, देवेंद्र चैयरमैंन, लाला सुनील,  कंवर श्याम भाटी, माँगे महाशय, आज़ाद अधाना, महक नंबरदार, अनिल बैसला, अनिल चेची, प्रदीप धनकड, खेमवीर नंबरदार, अजब नागर, निरोत्तम मेम्बर, जैना बोहरा, चौधरी हँसा, राजपाल चंदीला, नेपाल बैसला, करतार बी0 डी0 ओ0, बिजेंद्र नर्वत, परवीन नर्वत, कमल चंदीला, जगदीश कौशिक, भीम मास्टर, विनय भाटी, जगमाल नागर सहित चौरासी पाल के गणमान्य लोग मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: