Sunday, May 7, 2017

विदेशी पर्यटकों के लिए हरियाणा में जल्द बनेगें सूचना एवं सुविधा केंद्र


चंडीगढ़, 7 मई,2017(abtaknews.com ) देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों को कुरुक्षेत्र के 48 कोस में स्थित धर्मनगरी के पर्यटन व तीर्थ स्थलों की जानकारी उपलब्ध करवाने के लिए शहर के प्रमुख 5 स्थानों पर आधुनिक सूचना एवं सुविधा केन्द्रों की स्थापना की जाएगी। इतना ही नहीं कुरुक्षेत्र को सांस्कृतिक और पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने की योजना है ताकि कुरुक्षेत्र हरियाणा की सांस्कृतिक राजधानी के रुप में विकसित हो सके और पर्यटकों को इस विरासत के दर्शन करवाएं जा सके। इन तमाम पहलुओं को ध्यान में रखकर ही श्रीकृष्णा सर्किट प्रोजैक्ट को अमलीजामा पहनाया जाएगा। केन्द्र सरकार ने श्रीकृष्णा सर्किट प्रोजैक्ट के लिए करीब 100 करोड़ रुपए की राशि राज्य सरकार के पास भेजी गई है। 
यह जानकारी देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि कुरुक्षेत्र जिला प्रशासन ने एनपीसी के सदस्यों के साथ श्रीकृष्णा सर्किट की प्रगति और दस्तावेजों की समीक्षा की है और सरकारी साधनों के साथ-साथ निजी क्षेत्र जिनमें होटल, अक्षरधाम, तिरूपति बालाजी मंदिर, इस्कान जीओ गीता, अष्ठाधायी मंदिर के साथ-साथ अन्य क्षेत्रों के सम्बन्धित फीडबैक भी हासिल किया। इसका मकसद था कि कुरुक्षेत्र के तमाम साधनों, संसधानों, सुविधाओं को जहन में रखकर पर्यटकों को आमंत्रित किया जाए। उन्होंने कहा कि इस प्रोजैक्ट के तहत ब्रहमसरोवर के दक्षिण-पूर्वी तट की तरफ पार्किंग और शौचालय बनाने का काम शुरु कर दिया गया है। इसके अलावा शहर में पर्यटकों को 48 कोस व धर्मनगरी से जुड़ी तमाम ऐतिहासिक और पौराणिक जानकारियां देने के लिए पिपली, रेलवे स्टेशन, ब्रहमसरोवर, सन्निहित सरोवर व ज्योतिसर में आधुनिक सूचना एवं सुविधा केन्द्रों की स्थापना की जाएगी। इन सूचना केन्द्रों पर 48 कोस व कुरुक्षेत्र से सम्बन्धित ब्रोशर, बुकलेट, शौलाचय, क्लाक रुम, मोबाईल एप, डिजीटल गैलरी आदि की सुविधाएं भी उपलब्ध करवाई जाएंगी।
उन्होंने कहा कि इस सर्किट के तहत अब तक की श्रीकृष्णा सर्किट की प्रगति एवं सर्वेक्षण रिपोर्ट भारत सरकार के पास भेजी जाएगी। इसके अलावा इस प्रोजैक्ट के तहत तमाम योजनाओं को तेजी से अमलीजामा पहनाने का प्रयास किया जाएगा । इस प्रोजैक्ट का मास्टर प्लान सम्बन्धित एजेंसी द्वारा भारत सरकार के पास भिजवाया जा चुका है। इस प्रोजैक्ट को हरियाणा पर्यटन विभाग की तरफ से तेजी से आगे बढ़ाया जा रहा है।

loading...
SHARE THIS

0 comments: