Friday, May 12, 2017

एसआरएस के खिलाफ धोखाधड़ी का एक और मुकदमा दर्ज



फरीदाबाद(abtaknews.com)12मई,2017 : शहर की बिल्डर कंपनी एसआरएस और उसके डायरेक्टर अनिल जिंदल व उनके सहयोगियों के खिलाफ धोखाधड़ी का एक और मामला दर्ज हो गया है। थाना शहर एनआईटी में 8 मई 2017 को एफआईआर नं. 179 के तहत दर्ज हुए इस मुकदमें के मुताबिक पलवल निवासी श्री मोहन लाल गुप्ता के पुत्र श्री प्रवीण गुप्ता (हिंदू अन डिवाइडेड फैमिली- एचयूएफ के कर्ता) ने एसआरएस रीयल इस्टेट इन्फ्रास्ट्रक्चर लि., उसके सीएमडी अनिल जिंदल, राजेश सिंघला और एसआरएस ऑटोमोटिव कॉम्पोनेंट्स प्राइवेट लि. के माध्यम से एसआरएस टॉवर में कमर्शल यूनिट नंबर 13, 14, 15,16,17,18,19 और 35 ए खरीदीं थीं। 12 जून 2014 को इस के लिए चैक से 75 लाख रुपये का भुगतान किया गया था और कब्जा ले लिया था। आरोप है कि एसआरएस ने इन यूनिट्स के अलॉटमेंट के  कुछ दिन बाद षडयंत्र रचते हुए श्री गुप्ता को चिकनी-चुपड़ी बातों में लगाकर मै. आकृति ग्लोबल कंपनी और उसके डायरेकटर प्रमोद कुमार के माध्यम से ये यूनिट किराए पर ले लिए। फिर अनिल जिंदल और राजेश सिंघला ने अपनी ही सहयोगी कंपनी मै. लेटेस्ट आईटी सॉल्यूशन्स  कंपनी जो पहले मै.एसआरएस आईटी सॉल्यूशन कंपनी थी के माध्यम से अगस्त 2014 में तीन साल बाद 1 करोड़ 68 लाख 75 हजार रुपये में वापस खरीद लेने का झांसा दिया। इसके लिए उन्होंने सिर्फ 50 हजार रुपये का भुगतान श्री गुप्ता को कर उनसे एग्रीमेंट साइन करवा लिया।
कंपनी सितंबर 2016 में एसआरएस ने किराया देना बंद कर दिया। तीन महीने बीतने के बाद भी जब किराया नहीं मिला तो करार के मुताबिक श्री गुप्ता अपनी संपत्ति वापस लेने के लिए स्वतंत्र थे। श्री गुप्ता जब अपनी संपत्ति को देखने एसआरएस टॉवर गए तो वहां उन्हें यह देखकर धक्का लगा कि उनकी इन कमर्शल यूनिट्स की दीवारों को दोषियों ने तोड़ दिया है और उन दुकानों के साज-सज्ज को नुकसान पहुंचाया है। वहां दीवारों पर लगे बिजली के उपकरण भी गायब हैं।  श्री गुप्ता के मुताबिक जब उन्होंने वहां मौजूद कंपनी के डायरेक्ट्र्स से इसकी शिकायत करनी चाही तो मौके पर मौजूद कंपनी के बाउंसरों ने उन्हें वहां से डरा कर खदेड़ दिया। श्री गुप्ता ने आरोप लगाया है कि ये सभी फर्म और लोग एक-दूसरे से मिले हुए हैं और जिसमें अनिल जिंदल और राजेश सिंगला इस षड्यंत्र के मुख्य रचनाकार हैं। राजेश सिंगला तो इन सभी करारों पर दस्तखत करने वाला व्यक्ति है। श्री गुप्ता के मुताबिक इससे पहले उन्होंने सेक्टर 31 के थाने में भी इस धोखाधड़ी की शिकायत की थी लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई।  इसके बाद उन्होंने 12 जनवरी, 2017 को पुलिस कमिश्नर को लिखित में शिकायत दी। श्री गुप्ता ने कहा कि एसआरएस के सीएमडी अनिल जिंदल और इस कंपनी से जुड़े डायरेक्टरों के खिलाफ लगातार मुकदमे दर्ज हो रहे हैं। हमारा यह मामला इसी कड़ी का हिस्सा है। उन्होंने मीडिया के माध्यम से पुलिस व प्रशासन से आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने और उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई करने की अपील की। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: