Tuesday, May 30, 2017

नशे के विरूद्ध छात्र-छात्राओं ने प्रस्तुत की लघु नाटिका


फरीदाबाद 30 मई,2017(abtaknews.com )दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान का सामाजिक प्रकल्प ‘मंथन-संपूर्ण विकास केंद्र’ द्वारा सेक्टर-10 स्थित राजस्थान सेवा सदन में ‘तमसो मा ज्योतिर्गमय’ बड़ी रोचकता के साथ मनाया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रुप में प्रदेश की मुख्य संसदीय सचिव श्रीमती सीमा त्रिखा, महापौर सुमन बाला व चेयरमैन धनेश अदलक्खा उपस्थित थे, जबकि विशिष्ट अतिथि के रुप मेें भारतीय उद्योग व्यापार मण्डल के जिलाध्यक्ष रामजुनेजा व समाजसेवी सरदार मोहन सिंह भाटी मौजूद थे। कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यातिथि व विशिष्ट अतिथियों ने दीप प्रज्जवलित करके किया। कार्यक्रम में मंथन की फरीदाबाद शाखा के लाभार्थी छात्रों ने नशे के विरुद्ध सामाजिक संदेश देती हुई एक लघु नाटिका प्रस्तुत की, जिसके उपरांत सभी आगुंतकों ने नशा न करने की शपथ भी ली। वैदिक मंत्रोच्चारण, नृत्य, गायन इत्यादि विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियों द्वारा मंथन के लाभार्थी छात्रों ने सबका मन मोह लिया। इन बच्चों की प्रस्तुति देखकर ये नहीं लग रहा था कि उन्हें पहली बार इतना बड़ा मंच मिला है। कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों ने इन बच्चों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए इन्हें उपकार देकर सम्मानित किया। उपस्थित अतिथियों ने दिव्य ज्योति जाग्रति संस्था के सामाजिक प्रकल्प मंथन संपूर्ण विकास केंद्र की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह संस्थान अभावग्रस्त बच्चों को मूल्याधारित शिक्षा प्रदान करके एक बेहतर कार्य कर रहा है। संस्थान के पूरे देश में 18 संपूर्ण विकास केंद्र चल रहे है, जिसमें लगभग 2000 बच्चों को शिक्षा व अच्छे संस्कार दिए जा रहे है, जो समाज के लिए एक बेहतर कार्य है। उन्होंने सामाजिक संस्थाओं से आह्वान किया कि वह भी ऐसे नेक कार्याे में अपना सहयोग देते हुए जरूरतमंद एवं गरीब बच्चों को शिक्षित बनाकर उनमें बेहतर संस्कार देने का बीड़ा उठाए ताकि ऐसे बच्चे कल बेहतर समाज निर्माण में अपना योगदान दे सके। कार्यक्रम की संयोजिका साध्वी दीपा भारती ने बताया कि प्रकल्प का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों को विविध स्तर जैसे शैक्षणिक, शारीरिक, मानसिक एवं आध्यात्मिक स्तर पर पोषित कर उनमें नैतिक मूल्यों को उन्नत करना है। मंथन में पढ़े लिखे छात्रों की अंतर्निहित प्रतिभाओं का विस्तार करने हेतु मंथन सदैव लक्षित रहता है। मंथन द्वारा गरीब च्चों को प्राथमिक शिक्षा देने के साथ-साथ अभावग्रस्त व बेरोजगार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने एवं उनके आर्थिक सशक्तिकरण के लिए प्रशिक्षण, सिलाई केंद्र और स्याही प्रौढ़ शिक्षा केंद्र भी खोले गए है। कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण केंद्र फोटोबूथ एवं प्रदर्शनी रहा, जिसने अतिथियों को अपने स्कूल टाईम की याद दिला दी। इस अवसर पर मंथन के सभी केंद्रों में उच्च श्रेणी प्राप्त करने वाले एवं मेधावी छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले छात्र-छात्राओं को अतिथियों ने उपकार देकर पुरस्कृत किया। कार्यक्रम में विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं, प्रतिष्ठित खिलाडियों, लार्सेन एंड टर्बाे कॉर्पाेरेट के प्रमुख अधिकारी सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: