Tuesday, May 30, 2017

यमुना से लगते दर्जनों गांवों की हुई महापंचायत, यमुना पर नहीं बनने देंगे बैराज और बूस्टर


बल्लभगढ (abtaknews.com) गांव मोहना से होकर गुजरने वाली यमुना नदी पर सरकार द्वारा बनाये जा रहे बैराज के विरोध में गांव मोहना में यमुना के साथ लगते 24 गांवों के हजारों लोगों की महापंचायत हुई, महापंचायत में पंचों और लोगों का कहना था कि वो यमुना पर अपने क्षेत्र में बेराज नहीं बनने देंगे और न ही बूस्टर लगने देंगे। क्योंकि बैराज बनने के बाद गांवों के पानी का स्तर नीचे चले जायेगा जिससे दर्जनों गांवों के  ग्रामीण पानी की बूंद - बूंद को तरस जायेंगे। इतना ही नहीं बैराज लगने से दिल्ली एनसीआर की फैक्ट्रीयों का कैमिकल युक्त गंदा पानी गांवों में आयेगा जिससे कैंसर जैसी भयानक बिमारी पलन का भी अंदेशा रहेगा।
गांव मोहना के मंदिर में महापंचायत के लिये ग्रामीण एकत्रित हुए, हजारों की संख्यां में पहुंचे ग्रामीणों का विरोध यमुना पर मोहना क्षेत्र में बनने जा रहे बैराज और बूस्टरो के खिलाफ है। महापंचायत में पंचों ने फैंसला लिया है कि वो अपने क्षेत्रों के गांवों की तबाही के लिये यमुना पर बैराज और बूस्टर नही लगने देंगे।
इस बारे में उनका कहना है कि बूस्टर लगने से गांवों के पानी का स्तर नीचे चला जायेगा और इतना ही नहीं पानी का स्वाद भी बदल जायेगा, जो कि उनकी आने वाली पीढी के लिये ठीक नहीं होगा, वहीं सरकार बैराज बनाने जा रही है जिसकी कोई जरूरत भी नहीं है। क्योंकि बरसात के दिनों में  ही थोडा बहुत पानी ही ओवर होता है मगर बैराज बनने से दिल्ली एनसीआर की फैक्ट्रियों का कैमिकल युक्त गंदा पानी गांवों में बिमारी लाकर खडा कर देगा, इसलिये महिलाओं और पुरूषों ने साफ तौर पर कह दिया कि वो किसी भी कीमत में यमुना पर बैराज और बूस्टर नहीं लगने देेंगे।

loading...
SHARE THIS

0 comments: