Wednesday, May 3, 2017

एसआरएस पर कोर्ट के आदेश पर दर्ज एफआईआर के बाद भी फरीदाबाद पुलिस ने नहीं की कार्रवाही

  
फरीदाबाद (abtaknews.com) 03 मई,2017; हजारों लोगों को निवेश के नाम पर चूना लगा चुके एसआरएस की धोखाधड़ी के शिकारों की फेरिस्त में एक और नाम जुड गया है। यह नाम है इविस नामक कम्पनी का, जो नोयडा की है। कम्पनी को जमीन दिलाने और उसे विकसित करने के नाम पर पांच करोड की धोखाधड़ी मामलें में कोर्ट के आदेश पर एसआरएस के कारिंदों के खिलाफ मामला तो दर्ज हो गया है, लेकिन एक माह बीत जाने के बाद भी पुलिस ने कोई कार्रवाही नहीं की है। राजनैतिक और पैसे दबाव के चलते ऐसे ही एक पीडि़त मक्कड भी मामला दर्ज होने के बावजूद न्याय के लिए पुलिस के आला अधिकारियों के चक्कर लगा रहे है। 

पीड़ित यतिन और उनके वकील ने पत्रकारों को बताया कि किये एसआरएस के करोडों की ठगी का शिकर हुए  है। इन लोगों की माने तो एसआरएस के निदेशक व कारिंदों ने 2012 में उनकी कम्पनी इविस के साथ एक एमओयू साइन किया था। जिसके तहत एसआरएस को नोयडा में दस एकड जमीन खरीदकर उसमें से 7 एकड जमीन विकसित करके उन्हे देनी थी।लेकिन एसआरएस ने केवल चार एकड जमीन की ही रजिस्ट्री उनके नाम कराई और उसे भी विकसित नहीं किया। यह जमीन भी विदादस्पद थी। जब उन्हे इस जमीन के बारे में कोर्ट का नोटिस आया तो उन्हे पता चला कि उनके साथ ठगी हुई है। उन्होने जब एसआरएस के कर्ता-धर्ताओं के साथ बात की तो वे पहले तो उन्हे गुमराह करते रहे और बाद में यह जमीन भी उनके हाथ से निकल गई। वे मामला दर्ज कराने के लिए पुलिस के चक्कर लगाते रहे, लेकिन पैसे और प्रभाव के चलते पुलिस ने उनकी नहीं सुनी। अंत में कोर्ट की शरण लेने पर मामला तो दर्ज हो गया। लेकिन पुलिस अभी एक माह से अधिक समय बीत जाने के बाद इस पर कोई जांच व कार्रवाही नहीं कर रही है। उन्होने सवाल किया कि क्या, ऐसा एक आम आदमी करता तो वह अब तक सलाखों के पीछे नहीं होता। 


loading...
SHARE THIS

0 comments: