Saturday, May 20, 2017

महिला बोली मेरे पति को विधायक व सांसद की गुंडागर्दी से बचाओ नहीं तो बच्चों संग करूंगी आत्महत्या


फरीदाबाद(abtaknews.com)थाना सारन क्षेत्र की डबुआ सब्जी मंडी में 10 मई को एक व्यक्ति को सल्फास खिलाने के आरोप में हरवीर  नाम का गौंछी का एक युवक पुलिस रिमांड पर है | रिमांड पर चल रहे युवक के परिजनों का कहना है कि हरवीर पूरी तरह से निर्दोष है उसे जानबूझ कर फंसाया गया है | गिरफ्तार किये गए हरवीर की माँ का कहना है कि पांच दिन से उनके बेटे को पुलिस परेशान कर रही है, रिमांड पर लेकर उसे मारपीटकर जबरन उससे जुर्म क़ुबूल करवाने का प्रयास किया जा रहा है | उनका कहना है कि पुलिस कुछ नेताओं के दबाव में उनके बेटे पर जुल्म ढा रही है | उन्होंने कहा कि वो स्थानीय विधायक एवं सांसद से मिलीं लेकिन उन्होंने उनकी बात सूनी तक नहीं |  उन्होंने बताया कि जिस दिन ये मामला हुआ उस दिन उनका बेटा डबुआ सब्जी मंडी की तरफ गया ही नहीं था पुलिस उसका लोकेशन पता कर सकती है | इस मामले में हरबीर की बहन पूजा का कहना है कि एक जमीनी रंजिश के कारण उनके भाई पर झूंठा आरोप लगाकर उसे गिरफ्तार करवाया गया |

 गिरफ्तार किये गए हरबीर की पत्नी का कहना है कि उसका पति पूरी तरह से निर्दोष है और पुलिस जिस तरह उनके पति को रोज पीट रही है उससे उनका पति बेहद परेशान है और जब वो अपने पति से मिलने गई तो उसके पति ने कहा कि जिस तरह उसे रोज पीटा जा रहा है ऐसे ही आगे भी पीटा गया तो वो आत्महत्या कर लेगा | हरबीर की पत्नी ने कहा कि अगर मेरे पति को कुछ हुआ तो वो ऍबे बच्चों सहित आत्महत्या कर लेगी | हरबीर की पत्नी ने कहा कि वो शहर के नेताओं और पुलिस अधिकारियों के चक्कर लगा चुकी है लेकिन उसकी कोई नहीं सुनता | हरबीर के पड़ोसी भी इस घटना से आहत हैं जिनका कहना है कि हरबीर किसी को जहर दे ही नहीं सकता उसे किसी रंजिश के कारण फंसाया गया है | 

हरबीर के भाई ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ लोग खड़े होकर उसके भाई को पुलिस से पिटवा रहे हैं| उसने बताया कि उसने खुद देखा था कि सुमंत भाटी, मनोज भाटी, वीरेंद्र डागर, महेश मणि खड़े होकर उसके भाई को पुलिस से पिटवा रहे थे | उसने बताया कि  मामले के पहले दिन मेरे भाई को सेक्टर 56 CIA ले जाया गया जहां वहां के इंचार्ज ने पल पल की जानकारी हासिल की और मेरे भाई को छोड़ दिया लेकिन उसके बाद मेरे भाई को CIA सेक्टर 65, DLF ले जाया गया जहाँ उसे जमकर पीटा गया | उसके बाद जगह बदल बदल कर मेरे भाई को ले जाया जा रहा है और पिटवाया जा रहा है |  

मालुम हो कि अनिल नामक व्यक्ति ने सारन थाने में शिकायत में शिकायत दर्ज करवाया था कि  उसके पिता गजराज 10 मई को डबुआ सब्जी में स्थित दुकान पर अकेले थे। दिन में करीब 12 बजे ड्राइवर बंटी का फोन आया कि पिता की तबीयत खराब हो गई है। मंडी पहुंचने पर पिता ने बताया कि पेट दर्द हो रहा है। इस पर हरवीर निवासी जीवन नगर गौछी से दवाई मंगाई। अनिल ने आरोप लगाया कि हरवीर ने जो दवा लाकर दी, उसे खाने के बाद पिता की तबीयत और बिगड़ गई। अनिल ने इस पर पिता गजराज को एक निजी अस्पताल भर्ती कराया गया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद कहा कि तबीयत बिगड़ने के जो लक्षण सामने आ रहे हैं, वो तो सल्फास खाने के लगते हैं। इसके बाद उसके पिता गजराज की मौत हो गई और हरवीर पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया था | हरवीर अब भी पुलिस रिमांड पर है | 

इस मामले में थाना सारन प्रभारी इंस्पेक्टर वेद प्रकाश का कहना है कि हरवीर से पूंछतांछ चल रही है | उन्होंने हरवीर की पिटाई की बात को बेबुनियाद बताया और कहा सच जो भी होगा जल्द सामने आ जाएगा अगर हरवीर बेकसूर पाया गया तो उसे रिहा कर दिया जाएगा और अगर दोषी पाया गया तो जेल भेज दिया जाएगा | थाना प्रभारी ने बताया कि डाक्टरों ने जहर की पुष्टि कर दी है तब हरवीर पर हत्या का मामला दर्ज किया गया | 

loading...
SHARE THIS

0 comments: