Tuesday, May 30, 2017

जलभराव को लेकर निगमायुक्त ने ली तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंता की मीटिंग


फरीदाबाद, 30 मई,2017(abtaknews.com )आने वाले मानसून सीजन को देखते हुए निगमयुक्त सोनल गोयल ने निगम मुख्यालय में निगम के चीफ इंजीनियरिंग ब्रांच और तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंता की मीटिंग ली और शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जलभराव की समस्या को दूर करने और जहां-जहां जलभराव की स्थिति रहती है उसकी रिपोर्ट पर विस्तार से चर्चा की और जलभराव की समस्या को दूर करने के लिए अधिकारियों को कहा।  मीटिंग में निगम के चीफ इंजीनियर डी.आर. भास्कर, कार्यकारी अभियन्ता रमेष बंसल, रमन शर्मा, सतीष अग्रवाल, विजय ढाका, स्वास्थ्य अधिकारी श्याम सिंह सहित तीनों जोनों के अधिकारी भी मौजूद थे।  मीटिंग में चीफ इंजीनियर डी.आर. भास्कर ने निगमायुक्त के संज्ञान में शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जहां जलभराव की समस्या रहती है के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मानसून सीजन के दौरान बल्लबगढ़ जोन में स्टार वायर से लेकर हास्पिटल मोड तक दोनों साइड दो-तीन फुट पानी बारिष का भरा होने,  बल्लबगढ़ हास्पिटल से अंबेडकर चैक, गल्र्स स्कूल, शमषान घाट तक  तथा सेक्टर-7 बल्लबगढ़ मिलन चैक से अग्रवाल स्कूल, पुलिस चैकी सेक्टर-3, जाट भवन से लेकर सेक्टर-3  के साथ-साथ  वाईएमसीए चैक से लेकर बाईपास रोड पर तथा बाटा चैक, कोर्ट मोड से लेकर इंडियन ऑयल रोड में पर दो-तीन फुट पानी जमा हो जाता है। जिसकी निकासी का उचित प्रबंध होना चाहिए। निगमायुक्त महोदया के ध्यान में यह भी लाया गया कि एनआईटी जोन में बरसाती सीजन में पुलिस चैकी सेक्टर-15 से लेकर सेक्टर-28-29 चैक तथा अजरौंदी चैक के आसपास पानी खड़ा रहता है  जिसके चलते जलभराव की समस्या उत्पन्न हो जाती है और लोगों को भारी परेषानी का सामना करना पड़ता है। इसके अतिरिक्त कई अन्य स्थान भी बताये गए जहां पर बरसाती सीजन में जलभराव की समस्या बनी रहती है। निगमायुक्त सोनल गोयल ने इंजीनियरिंग विभाग और तीनों जोनों के कार्यकारी अभियंताओं को 20 जून से पहले-पहले मीटिंग में बताए गए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जल निकासी के पुख्ता इंतजामात बरसाती सीजन से पहले-पहले करवाने को कहा ताकि आम जन को जलभराव की समस्या से निजात मिल सकें। उन्होंने निगम क्षेत्र केे अंदर टूटी सडक़ों की रिपेयरिंग नाले-नालों की सफाई करवाने को भी कहा जिससे लोगों को बरसात में परेषानी का सामना न करना पड़े। निगमायुक्त ने तीनों जोनों के कार्यकारी अभियन्ताओं को सख्त निर्देष देते हुए कहा कि शहर के सभी प्रमुख नालों जैसे एनआईटी एसीनगर के बीच जाने वाला नाला, 60 फुट रोड वाला नाला, बल्लबगढ़ में मोहना रोड वाला नाला, मलेरना रोड वाला नाला और एयरफोर्स वाला नाला इत्यादि की सफाई नियमित रूप से और बेहतर तरीके से कराई जाए तथा नालों पर हो चुके अतिक्रमण को तुरंत हटाया जाए ताकि आने वाले मानसून सीजन में इन इलाकों में जलभराव की स्थिति पैदा न हो।

loading...
SHARE THIS

0 comments: