Friday, May 12, 2017

कांग्रेसी नेताओं ने भी पुलिस कमिश्रर से की मामले की निष्पक्ष जांच की मांग, किया प्रदर्शन


फरीदाबाद(abtaknews.com) करीब 12 दिन पूर्व रहस्यमय परिस्थितियों में गायब हुए प्रापर्टी व्यवसायी रुपचंद शर्मा का कोई सुराग न मिलने को लेकर आज सैकड़ों लोग कांग्रेसी नेताओं के नेतृत्व में पुलिस कमिश्रर डा. हनीफ कुरैशी से सेक्टर-21ए स्थित उनके कार्यालय पर मिलने पहुंचे, जहां पुलिस कमिश्रर की अनुपस्थिति में पीडि़त लोग डीसीपी हैड क्वार्टर विक्रम कपूर से मिले। इस मौके पर मुख्य रुप से हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव सुमित गौड़, प्रदेश सचिव एडवोकेट दिनेश चंदीला, पूर्व युवा लोकसभा अध्यक्ष रिंकू चंदीला, संगठन सचिव ललित भड़ाना, मोतीलाल शर्मा, डा. सुरेंद्र कीना उपस्थित थे। इस दौरान प्रापर्टी व्यवसायी रुपचंद लाम्बा के सुपुत्र रोहित शर्मा ने डीसीपी महोदय को शिकायत पत्र सौंपते हुए बताया कि यह गुमशुदुगी का मामला नहीं अपितु उसके पिता का प्रापर्टी विवाद के चलते कुछ लोगों ने अपहरण कर लिया है। उक्त लोगों को जिले के एक विधायक का संरक्षण हासिल है, जिसके चलते पुलिस इस मामले में उचित कार्यवाही नहीं कर रही है। पीडि़त के सुपुत्र रोहित शर्मा ने बताया कि उसके पिता रुपचंद शर्मा प्रापर्टी का व्यवसाय करते है और उनका सिकरौना निवासी तेजपाल व कुछ अन्य किसानों के साथ प्रापर्टी को लेकर विवाद चल रहा था, जिसको लेकर कई बार बैठकें भी हुई परंतु वह बेनतीजा रही। गत 29 अप्रैल को भी उसके पिता इसी मामले को निपटाने के लिए घर से निकले थे परंतु वापिस नहीं लौटे, जिसके बाद अगले दिन उसकी गाडी लावारिस अवस्था में मिली, जिस पर उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई। रोहित का कहना है कि लेन-देन के विवाद के चलते ही तेजपाल शर्मा, ऋषि पाल पुत्र गिर्राज, सूरज, हरिचंद, डालचंद पुत्र किरोडी निवासी ग्राम सिकरौना ने उसके पिता का अपहरण कर लिया है परंतु इन आरोपियों पर जिले के एक विधायक का संरक्षण होने के कारण पुलिस उन पर कार्यवाही नहीं कर रही है। रोहित ने पुलिस प्रशासन से न्याय की गुहार लगाते हुए कहा कि अगर उपरोक्त लोगों से सख्ती से पूछताछ की जाए तो उसके पिता का पता चल जाएगा।  इस मौके पर कांग्रेसी नेताओं ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि सत्ता के नशे में चूर कुछ लोग कानून को बपौती बनाते हुए अपने निजी स्वार्थ की पूर्ति में लगे है परंतु कांग्रेस पार्टी ऐसे लोगों की सच्चाई जनता के समक्ष उजागर करके रहेगी, जो दिन में समाजसेवा का चोला ओढ़ लेते है, जबकि असल में वह असामाजिक तत्वों को संरक्षण देकर उनकी हौंसला अफजाई करते है। कांग्रेसी नेताओं ने एक स्वर में डीसीपी श्री कपूर से इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की और कहा कि अगर जल्द ही रुपचंद शर्मा की बरामदगी नहीं की गई तो कांग्रेस कार्यकर्ता सडक़ों पर उतरकर सरकार व प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करने को मजबूर होंगे। डीसीपी विक्रम कपूर ने उपस्थित लोगों को आश्वासन दिया कि उक्त शिकायत पत्र को वह पुलिस कमिश्रर तक पहुंचा देंगे और इस मामले की उच्चस्तरीय जांच करवाएंगे। इस अवसर पर आशु डागर झाड़सेंतली, योगेश रावत भनकपुर, देव पंडित, एडवोकेट गौतम नारायण सिंह, दिनेश पंडित, वरूण बंसल  सहित अनेकों लोग मौजूद थे।


loading...
SHARE THIS

0 comments: