Sunday, May 28, 2017

तक्ष अस्पताल में मिला नवजात शिशु को जीवनदान



taksh-hospital-faridabad

फरीदाबाद 28 मई,2017(abtaknews.com) तक्ष अस्पताल के बाल शल्य चिकित्सा डा. श्वेता मल्होत्रा ने चार दिन के बच्चे का सफलता पूर्वक आप्रेशन कर उसको नया जीवनदान दिया। यह जानकारी तक्ष अस्पताल के डायरेक्टर डा. धीरज मल्होत्रा ने देते हुए बतायाकि यह बच्चा पलवल का निवासी है जो कि पलवल के काफी डाक्टरों को दिखाने के बाद आराम ना मिलने एवं बीमारी की पकड ना होने के कारण उसे फरीदाबाद स्थित तक्ष अस्पताल की बाल शल्य चिकित्सा डा. श्वेता मल्होत्रा के पास रैफर किया गया। डा. मल्होत्रा ने बताया कि जब बच्चा उनके पास लाया गया तब उसे उल्टिया हो रही थी ओर वह दूध पीने में सक्षम नहीं था साथ ही उसे लैटरीन भी नहीं हो रही थी।
taksh-hospital-faridabad

उन्होंने बताया कि बच्चे को देखने के दौरान ऐसा प्रतीत हुआ कि बच्चे की आंत में रूकावट है और इसकी पुष्टि की जांच की गयी। जांच के दौरान डा. श्वेता मल्होत्रा ने बताया कि बच्चे की आंत सही तरीके से नहीं बनने के कारण बच्चे को यह तकलीफ हो रही है इसे मेडिकल ट्रम में मैल रोटेशन ऑफ इन्टसटाईन कहते हैं।
डा. मल्होत्रा ने बच्चे की नाजुक हालत को देखते हुए बच्चे के अभिभावको को उसकी स्थिति बतायी गयी उसका निदान आप्रेशन से संभव हे उसकी जानकारी दी गयी। अभिभावकों की सहमति के बाद बच्चे के आप्रेशन की तैयारी की गयी। आप्रेशन के दौरान यह पाया गया कि बच्चे की अंात घुमी हुई और आंत में रूकावट भी थी। इसका सफलता पूर्वक आप्रेशन किया गया। और आप्रेशन के बाद बच्चे को छह दिन निकू (हृढ्ढष्ट)में रखा गया। छठे दिन से बच्चे को दूध पिलाने का ट्रायल दिया गया और बच्चे ने सफलता पूर्वक दूध पचाया और साथ में उसकी लैटरीन खुलकर हुई और आज सातंवी दिन बच्चे को सफलता पूर्वक डिसचार्ज किया गया और बच्चे की बीमारी का समाधान और उसकी रिकवरी से उसके अभिभावक भी काफी संतुष्ट थे। जो भी नवजात शिशु जिनकी समस्याएं दुर्लभ लगे या जिनको आप्रश्ेान की सलाह की जरूरत हो वह तक्ष अस्पताल में एक बार आकर अपने बच्चे की जांच अवश्य कराये।


loading...
SHARE THIS

0 comments: