Tuesday, May 9, 2017

कैसी स्मार्ट सिटी जहां स्कूली बच्चे पढ़ाई की जगह मिल रही हैं बिमारियां


फरीदाबाद (abtaknews.com)स्मार्ट सिटी का गुणगान करने वाले नेताओं,नगर निगम और प्रशासन के अधिकारियों को यदि फरीदाबाद का असली चेहरा देखना है तो नीलम बाटा रोड़ के पंडित अमरनाथ हाई स्कूल के पास आए जहां  स्कूली बच्चों के जीवन के साथ किस तरह खिलवाड़ किया जा रहा है यह देखें। यहां बच्चे आ तो शिक्षा ग्रहण करने के लिए रहे है लेकिन अपने साथ कौन सी बिमारी लेकर जा रहे है इसका कोई पता नहीं। पंडित अमरनाथ हाई स्कूल के सह-कोषाध्यक्ष दिनेश बंसवाल ने बताया कि पिछले लगभग 8-10 दिनों से स्कूल के सामने सुबह शाम गटर से सीवरेज का गन्दा और बदबूदार पानी निकलकर एकत्रित हो रहा है। जिससे यहां पढऩे वाले स्कूली बच्चों के जीवन पर खतरा मडऱा रहा है। उन्होनें कहा कि इस बारे में उन्होनें लिखित शिकायत नगर निगम के उच्च अधिकारियों को भी दी  लेकिन आज तक इसका कोई समाधान नहीं निकला। दिनेश बंसवाल ने कहा कि यह समस्या कोई नई नहीं है पिछले कांग्रेस शासनकाल से यह समस्या चलती आ रही है और अब वर्तमान में भाजपा सरकार द्वारा इसको गंभीरता से ना लेना यहां पढऩे  बच्चों और अध्यापकों के साथ घोर अन्याय है। दिनेश बंसवाल ने कहा कि ऐसा कोई दिन नहीं है जब स्कूल आते और स्कूल से घर वापिस जाते समय इस सीवरजे के पानी में गिरकर कोई बच्चा घायल ना हुआ हो। उन्होनें बताया कि स्कूल आने का एकमात्र रास्ता यही है जिस कारण बच्चों को रोजाना इस गन्दे पानी से दो चार होना पड़ता है। उन्होनें बताया कि इन्हीें बच्चों में से निकलकर कल कोई देश का प्रतिनिधित्व कर कर सकता है लेकिन नगर निगम के अधिकारियों की लापरवाही के कारण हम अपनी युवा पाढी को बिमारियों की और धकेल रहे है। उन्होनें बताया कि  कल हम निगमायुक्त और महापौर के पास भी गए लेकिन उन्हें बच्चों के हालातों पर तरस नहीं आया। निगमायुक्त ने हमें एक हफ्ते का समय देकर टरका दिया जबकि महापौर ने भी देखते है कहकर इस गंभीर समस्या को नजरंदाज कर दिया। दिनेश बंसवाल ने बताया कि स्मार्ट सिटी के नाम पर सिर्फ पैसों का भारी हेरफेर हो रहा है जबकि धरातल पर कुछ नहीं हो रहा है, यह पंडित अमरनाथ हाई स्कूल के पास देखने से लगता है जहां लिखित शिकायत और स्कूली बच्चों के जीवन की दुहाई देने के बाद भी किसी नगर निगम अधिकारी ने यहां देखना भी उचित नहीं समझा।                                                            


loading...
SHARE THIS

0 comments: