Sunday, May 14, 2017

फरीदाबाद में एशियन हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने 63 वर्षीय महिला के पेट से निकाला 7 किलो का ट्यूमर

ashian-hospital-faridabad-

फरीदाबाद 14  मई 2017 (abtaknews.com ) बढ़ती उम्र के साथ कुछ स्वास्थ्य समस्याएं होना एक आम बात होती है। ऐसे में इन परेशानियों को नजरअंदाज कर देना कभी-कभी बड़ी बीमारी का रूप धारण कर लेता है। ऐसा ही कुछ हुआ हरियाणा निवासी श्यामवती दबदला हुआ नाम) के साथ। श्यामवती को कभी-कभी छाती में भारीपन व खट्टी डकारें आने की समस्या थी, लेकिन उम्रदराज होने के कारण वे इसे नजरअंदाज कर रही थी। तकरीबन १० दिन पहले पेट कठोर हो गया और दर्द भी तेज होने लगा। यह देख परिवार के सदस्य श्यामवती को पास के ही एक डॉक्टर के पास लेकर पहुंचे। डॉक्टर ने श्यामवती का अल्ट्रासाउंड करवाया। आल्ट्रासाउंड में पाया गया कि उसके पेट में एक बड़ी गांठ है। डॉक्टर ने श्यामवती की स्थिति को देखते हुए उसे फरीदाबाद स्थित एशियन अस्पताल जाने की सलाह दी।
एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज़ अस्पताल के सर्जन डॉ. प्रबल रॉय ने श्यामवती की पुरानी रिपोर्ट देखते हुए पेट का सीटी स्कैन कराने की सलाह दी। सीटी स्कैन की रिपोर्ट से यह बात स्पष्ट हो गई कि श्यामवती के पेट में एक बहुत बढ़ा ट्यूमर था और पित्त की थैली भी पथरियों से भरी हुई थी।
डॉक्टर ने ट्यूमर में कैंसर की संभावना जताते हुए परिजनों को श्यामवती की स्थिति के बारे में जानकारी दी और तुरंत सर्जरी कराने की सलाह दी। परिजनों की स्वीकृति मिलने पर उसकी सर्जरी की गई। डॉ. प्रबल रॉय, डॉ. अनुष्टुप डे, डॉ. सुनील कुमार और डॉ. पूनम दरसवाल की टीम ने यह सर्जरी सफलतापूर्वक की। सर्जरी के बाद महिला के पेट से ७ किलो का ट्यूमर और पथरी से भरी हुई पित्त की थैली निकाल दी। ट्यूमर की जांच फ्रोकान सेक्शन से की गई। जिसकी रिपोर्ट आधे घंटे के भीतर आ गई। जांच के बाद डॉक्टर ने ट्यूमर में कैंसर की पुष्टि की। जिसके बाद शरीर के बाकी अंगों को कैंसर से दुष्प्रभाव से बचाने के लिए तुरंत सर्जरी की गई।
डॉ. प्रबल ने बताया कि यह सर्जरी बहुत जटिल सर्जरी थी। महिला को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या थी और उम्रदराज होने के कारण यह समस्या निरंतर बढ़ रही थी।  सर्जरी के बाद अभी श्यामवती पूर्ण रूप से स्वस्थ हैं।


loading...
SHARE THIS

0 comments: