Wednesday, May 3, 2017

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने गुरुग्राम में रैपिड मेट्रो पार्ट 2 का उद्घाटन किया


गुरुग्राम(abtaknews.com ) शहर में रैपिड मेट्रो भाग २ का मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने उद्घाटन किया है ।उद्घाटन के उपरांत मुख़्यमंत्री बच्चों के और महिला सरपंचों के साथ यात्रा की । इस अवसर इन उनके ओएसडी जवाहर यादव विशेष रूप से मौजूद थे।

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने आज कहा कि ओवरलोडिंग के लिए कंपाऊंडिंग फीस का सिस्टम तैयार किया जा रहा है। राज्य सरकार प्रत्येक जिला में ड्राइविंग ट्रेनिंग स्कूल खोलेगी ताकि प्रशिक्षित चालक तैयार करके सडक़ दुर्घटनाओं में कमी लाई जा सके। इन ड्राइविंग स्कूलों की मदद से कार, ट्रक, बस, के्रन या दुपहिया वाहन चालकों को सुरक्षित वाहन चलाने की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके अलावा, प्रदेश में गाडिय़ों की पासिंग के लिए 6 ऑटोमैटिक फिटनेस सैंटर खोले जाएंगे जिसके लिए हरियाणा को छह जोन में बांटा गया है। इन ऑटोमैटिक सैंटरो में गाडिय़ों की फिटनेस संबंधी पूरी जांच होगी।
    वे आज गुरुग्राम में विश्व संसाधन संस्थान और नैसकॉम द्वारा सडक़ सुरक्षा पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। इस कार्यशाला में हरियाणा सरकार के परिवहन विभाग तथा नैसकॉम व विश्व संसाधन संस्थान(डब्ल्यूआरआई) ने इस सडक़ सुरक्षा के पायलट प्रौजेक्ट को प्रदेश के 10 जिलों में लेकर जाने के लिए एक एमओयू पर हस्ताक्षर भी किए।
    उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के रोहतक जिला में एक ऐसा फिटनैस सैंटर हाल ही में खोला गया है। उन्होंने कहा कि ओवरलोडिंग, ओवर साइज़, मालवाहक गाडिय़ां भी सडक़ दुर्घटना का मुख्य कारण है। मुख्यमंत्री ने कहा कि ओवरलोडिंग तथा ओवरसाइज़ पर सरकार ने पिछले दिनों सख्ती की थी जिसके बाद मूल्यों में वृद्धि की आशंका जताई गई लेकिन लोगों की जान की सुरक्षा के लिए सरकार कोई समझौता  नही करेगी। उन्होंने कहा कि मोटर व्हीकल एक्ट को भी कड़ाई से लागू करने की बात कही।
प्रदेश में सडक़ सुरक्षा उपायों को दृढ़ता से लागू करके सडक़ दुर्घटना में हताहत होने वाले लोगों की संख्या में कमी लाएंगे। उन्होंने कहा कि हरियाणा में हम सडक़ दुर्घटनाओं में मृत्यु की दर को शून्य करने का विज़न लेकर चल रहे हैं जो एकदम प्राप्त नही होगा परंतु इस पर चिंतन मनन करके लोगों को सडक़ सुरक्षा के बारे में जागरूक करके लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है। 
    अपने संबोधन में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि सडक़ सुरक्षा एक गंभीर मुद्द है। रोजाना लोग रैश ड्राइविंग, ओवर स्पीड, बिना हैलमेट दुपहिया वाहन चलाने या शराब पीकर गाड़ी चलाने ,यातायात व्यवस्था में कमी होने आदि विभिन्न कारणों के चलते सडक़ दुर्घटना का शिकार होते हैं।  पुलिस विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए गए है कि वे सडक़ सुरक्षा के  प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए स्वयंसेवी संस्थाओं या कारपोरेट जगत में सीएसआर के तहत गतिविधियां करवाएं। 
मुख्यमंत्री ने सिने अभिनेता मिलिंद सोमन द्वारा उठाई गई मांग पर गोल्फ कोर्स रोड़ के साथ पद यात्रियों और साईकिल चालकों के लिए अलग लेन का प्रावधान करवाने के लिए गुरुग्राम के पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार को आदेश दिए और कहा कि वे डीएलएफ और हुडा विभाग के अधिकारियों के साथ तालमेल करके अलग लेन का प्रावधान करवाएं। उन्होंने कहा कि गोल्फ कोर्स रोड़ 16 लेन की है, इसलिए इसमें पैदल यात्रियों और साइकिलस्टों के लिए अलग ट्रैक का प्रावधान किया जा सकता है। उन्होंने ये भी कहा कि गुरुग्राम में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था को सुदृढ़ किया जा रहा है। जहां एक ओर मैट्रो का जाल बिछाया जा रहा है वहीं दूसरी ओर सिटी बस सेवा का विस्तार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम में शहर के अंदर रैपिड मैट्रो सेवा शुरू हो गई है और गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण के गठन के बाद इस प्रकार के प्रोजैक्ट बनाकर लागू किए जाएंगे। 
    इससे पहले अपने विचार रखते हुए हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर ङ्क्षसह ने कहा कि सडक़ दुर्घटना का एक मुख्य कारण  गाडिय़ों के पीछे रिफ्लेक्टर टेप का ना होना है। उन्होंने कहा कि हरियाणा में यदि गाडिय़ों के पीछे रिफ्लेक्टर टेप होगी तो सडक़ दुर्घटना को 90 प्रतिशत तक कम किया जा सकता है। उन्होंने सुझाव दिया कि गाडिय़ों की पासिंग के समय इसे अनिवार्य किया जाना चाहिए। साथ ही साइनेज बोर्डों को धरातल से 18 फ़ीट ऊंचाई पर लगवाया जाना चाहिए ताकि कोई उस पर पोस्टर इत्यादि चिपका कर खराब ना कर सकें। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि सर्दी में धुंध के  समय वाहन चालकों की सुविधा के लिए सडक़ों पर सफ़ेद पट्टी भी लगाई गई है ।
हरियाणा के परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी की सोच हैकि  सन् 2020 तक देश में सडक़ दुर्घटनाओं में होने वाली मृत्यु दर को आधा किया जाए। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि ट्रैफिक चालान से वसूली जाने वाली राशि का 50 प्रतिशत भाग सडक़ सुरक्षा के लिए वहन किया जाएगा जिसका आज देश के दूसरे राज्य भी अनुसरण कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पिछले वित्त वर्ष में 90 करोड़ रूपये की राशि ट्रैफिक चालान से वसूली गई थी जिसका आधा भाग सडक़ सुरक्षा में लगाया जाएगा। दुपहिया वाहनों व गाडिय़ो में साइड मिरर का ना होना भी सडक़ दुर्घटना का एक मुख्य कारण है जिन पर सख्त कार्यवाही होना अत्यंत आवश्यक है। परिवहन मंत्री ने महिलाओं को दुपहिया वाहन ट्रेनिंग दिए जाने संबंधी जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश के खानपुर स्थित महिला विश्वविद्यालय में होंडा ग्रुप ने 10 दुपहिया वाहन उपलब्ध करवाएं है। इसी प्रकार अन्य शिक्षण संस्थाओं में भी विद्यार्थियों को सडक़ सुरक्षा के प्रति जागरूक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि अमूमन देखने में आता है कि अधिकतर मौतें सडक़ दुर्घटना के प्रथम एक घंटे में ही हो जाती हैं क्योंकि उन्हें समय पर प्राथमिक उपचार नही मिल पाता। प्रदेश सरकार इस दिशा में भी काम कर रही है और राज्य व राष्ट्रीय राजमार्गों पर प्रत्येक 60 किलोमीटर की दूरी पर ट्रामा सैंटर खोले गए हैं। अब तक 7 ट्रामा सैंटर स्थापित किए जा चुके है तथा 12 और बनाए जाएंगे। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय राजमार्ग पर हर 30 किलोमीटर पर सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। 
इस अवसर पर सडक़ सुरक्षा के लिए डब्ल्यूआरआई के ब्रांड एम्बेसडर व अभिनेता मिलिंद सोमन ने बताया कि सडक़ सुरक्षा का उत्तरदायित्व केवल सरकार या किसी विशेष संस्था का ही नही है बल्कि इसके लिए समाज के सभी लोगों को भी सहयोग करना चाहिए। आज के समय में जो परिस्थितियां है उन्हें बेहतर करने के लिए लोगों में जागरूकता लानी अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने प्रदेश सरकार की इस पहल की सराहना करते हुए आम जनता से अपील करते हुए कहा कि वे इस मुहिम को सफल बनाने के लिए प्रदेश सरकार का सहयोग करें। इस अवसर पर परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एस एस ढिल्लों, पुलिस महानिदेशक के के संधु और परिवहन आयुक्त सुप्रभा दहिया ने भी अपने विचार रखे। 
इस अवसर पर लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह, सोहना के विधायक तेजपाल तंवर, पटौदी की विधायक बिमला चौधरी, हरियाणा हाऊसिंग बोर्ड के चेयरमैन जवाहर यादव, भाजपा के जिला अध्यक्ष भूपेन्द्र चौहान, जिला परिषद् के चेयरमैन कल्याण सिंह चौहान, परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुदीप सिंह ढील्लों, परिवहन आयुक्त सुप्रभा दहिया, गुरुग्राम के मंडलायुक्त डा. डी सुरेश, गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण के कार्य अधिकारी वी. उमाशंकर, पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार, उपायुक्त हरदीप सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, हुडा प्रशासक यशपाल यादव सहित कई अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे। 

loading...
SHARE THIS

0 comments: