Monday, April 10, 2017

पलवल में आंगनवाड़ी केंद्रों की होगी ऑनलाइन मॉनिटरिंग


training-for-aganwadi-worker-palwal

पलवल,10 अप्रैल,2017(abtaknews.com ) जिला में आंगनवाड़ी केन्द्र की ऑनलाइन मॉनिटरिंग और उनके सुदृढ़ीकरण का कार्य पायलट के तौर पर लिया गया है। इसकी सफलता के पश्चात पूरे प्रदेश में इसे लागू किया जा सकेगा। स्थानीय महात्मा गांधी सामुदायिक केन्द्र एवं पंचायत भवन में आयोजित दो दिवसीय आंगनवाड़ी केन्द्रों को  प्ले स्कूल के रूप में विकसित करने का प्रशिक्षण कार्यशाला के शुभारंभ के अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त अंजू चौधरी ने आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि जिला में 30 तथा प्रत्येक खण्ड से पांच-पांच आंगन वाड़ी कार्यकर्ताओं  जिन्होंने मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल से स्कूल पूर्व अनौपचारिक शिक्षा का प्रशिक्षण प्राप्त किया है वे अपने आंगनवाड़ी केन्द्रों पर इसे कार्यान्वयन करने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। 
training-for-aganwadi-worker-palwal

उन्होंने कहा कि बच्चे देश का भविष्य है अत: आंगनवाड़ी कार्यकताओं की जिम्मेदारी ओर बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि विषय की गंभीरता को समझे  तथा बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति संचेत रहे। उन्होंने कहा कि आंगनवाड़ी केन्द्र की साफ-सफाई, बच्चों में व्यवहारिक ज्ञान,बच्चों को स्नेह देना, गुणवत्ता शिक्षा प्रदान करें। उन्होंने कहा कि जिला को खुले में शौच मुक्त बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाए। इस अवसर पर उन्होंने श्रेष्ठ आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को दुप्ट्टा देकर सम्मानित भी किया। 
कार्यशाला को मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी गौरव कुमार ने सम्बोधित करते हुए कहा कि जिला में सभी आंगनवाड़ी केन्द्रों को मॉडल आंगनवाड़ी केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा। जिसमें होने वाली गतिविधिया किसी भी प्ले स्कूल के पैमाने पर खरा उतरेगी। मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल से स्कूल पूर्व अनोपचारिक शिक्षा का प्रशिक्षण प्राप्त गांव जनौली की संगीता, टीकरी ब्राहम्ण गांव की मीना, पेलक गांव की सुषमा, रायपुर की कमलेश व मलोखड़ा की हेमलता आदि अन्य आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपने अनुभव सांझा किए। जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग श्रीमती नीना खत्री ने आभार व्यक्त करते हुए कहा कि प्ले स्कूल के रूप में विकसित करने का प्रशिक्षण प्राप्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता अपने अनुभवों से आंगनवाड़ी केन्द्रों को मॉडल के रूप में विकसित कर सकेंगी। 
इस दौरान पाथ फाइंडर की रिया शर्मा ने अपनी टीम के साथ सलामती प्रोजेक्ट पर प्रजेटेंशन दिया। उपस्थित करीब 700 आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के बीच बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के ऊपर एक लघु फिल्म भी दिखाई गई। कार्यशाला को परियोजना अधिकारी स्वच्छ भारत मिशन नवीन शर्मा ने भी कार्यशाला को सम्बोधित किया । कार्यशाला में हथीन की महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्रीमती शशि बाला, पलवल की महिला एवं बाल विकास अधिकारी सपना अरोड़ा, हसनपुर की महिला एवं बाल विकास अधिकारी श्रीमती मंजू वर्मा सहित अन्य संबंधित अधिकारी एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताएंं मौजूद थी।

loading...
SHARE THIS

0 comments: