Sunday, April 23, 2017

पीड़ित दिनेश मक्कड बोले आखिर कौन बचा रहा है एसआरएस के मालिक अनिल जिंदल को ?

srs-victim-dinesh-makkad-faridabad
video

फरीदाबाद (abtaknews.com) 23अप्रैल,2017; लूटपाट और मार - पिटाई का मामला दर्ज होने के बावजूद दस दिनों के बाद भी एसआरएस के मालिक अनिल जिंदल के खिलाफ कोई कार्यवाही न होने से पीडि़त दिनेश मक्कड़ का कहना है कि जो व्यक्ति अपने घर बुलाकर उनकी यह हालत करा सकता है, बाहर तो कुछ भी करा सकता है। उसे बचाने के पीछे किस का हाथ है, यह उनकी समझ में नहीं आ रहा है। उन्हें अपनी जान का खतरा बना हुआ है, अगर  उन्हें व उनके दोस्तों को कुछ होता है तो इसका जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ अनिल जिंदल ही होगा। इसलिए उनकी मांग है की उनके मामले को सीआईए को सौंप दिया जाये।   

अबतक न्यूज़ पोर्टल के कार्यालय पहुंचे पीड़ित दिनेश मक्कड ने बताया कि एसआरएस के मालिक अनिल जिंदल व उसके साथियों के खिलाफ थाना सैक्टर 31 में मामला दर्ज कराया था कि पैसे व जमीन वापिस मांगने के लिए बुलाने पर अनिल जिंदल ने अपने कार्यालय में उनपर  व उनके साथियों पर जानलेवा हमला कराया और पिस्तौल की नोंक पर उनके साथ लूटपाट करके उन्हे कमरे में बंद कर दिया। 12 मार्च को दर्ज एफआईआर के बावजूद अनिल जिंदल न तो पुलिस तफतीश में शामिल हुए है और न ही पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी की है। जिससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्र चिन्ह लग रहा है। 

निवेश के नाम पर लोगों के करोड़ों रूपए डकारने वाले एसआरएस ने उनके पैसे लौटाने के नाम पर कुछ लोगों को जमीन व फ्लेट के फर्जी कागजात दे दिए। लेकिन न तो यह जमीन ही कहीं थी और न ही फ्लेट व व्यवसायिक प्रोपर्टी। ऐसा ही कुछ होडल निवासी दिनेश मक्कड के साथ भी हुआ।  दिनेश मक्कड ने जब उन्हे दी गई जमीन चाही तो अनिल जिंदल ने उन्हे बार-बार बुलाकर लॉलीपाप दिया। अंत में जब वे निवेश के बदले में मिली जमीन का निपटारा करने के लिए उनके कार्यालय में गए तो उनके व उनके साथियों के साथ गन पाइंट पर लूटपाट व मारपिटाई की गई। दिनेश मक्कड का कहना है कि उन्हे यहां तक कहा गया कि वे उनकी शिकायत किसी भी थाने में कर सकते है,कोई उनका कुछ नहीं बिगाड सकता है।  वे चाहते है कि इस मामले ंकी जांच क्राइम बा्रंच को सौंपी जाएं ताकि उन्हे न्याय मिल सकें। 



loading...
SHARE THIS

0 comments: