Sunday, April 30, 2017

देशद्रोही छात्रों व प्रोफेसरों को बाहर निकालो, शहीदों पर फोटो पॉलिटिक्स बंद करें नेता;- बिट्टा


m-s-bitta-faridabad-speach-today

फरीदाबाद (abtaknews.com) 30 अप्रैल,2017; सुकमा हमले का बदला सरकार जल्द ही कम से कम 100 नक्सलियों को मारकर लेगी, जिसको लेकर रणनीति बनाई जा रही है - ऐसा कहना है जिंदा शहीद कहे जाने वाले एम एस बिट्टा का, बिट्टा आज फरीदाबाद में प्रयास संस्था के 18वें बार्षिकउत्सव में मुख्यअतिथि के रूप में पहुंचे थे जहां उन्होंने कहा कि  शहीदों की शाहदत का बदला आने वाले 10 दिनों ले लिया जायेगा, इतना हीं नहीं बिट्टा ने कहा कि जेएनयू को 5 महीने के लिये बंद कर देना चाहिये और इस में रहने वाले देशद्रोही विद्याथियों और प्रोफेसरों की छटनी करके बाहर निकाने के बाद नये सिरे से शुरू करना चाहिये, वहीं बिट्टा ने इस आयोजन में राजनेताओं को भी नहीं बख्सा, कटाक्ष करते हुए कहा कि राजनेता शहीदों पर फोटो पॉलिटिक्स करना बंद करें उनके परिवारों की दुर्दशा को देखें। 
फरीदाबाद सैक्टर 64 स्थित प्रयास संस्था का आज 18वां वार्षिक उत्सव मनाया गया जिसमें मुख्यअतिथि के रूप में जिंदा शहीद कहे जाने वाले एम एस बिट्टा पहुंचे, जिन्होंने दीप प्रज्वोलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की। बता दें कि प्रयास संस्था पिछले 18 सालों से गरीब और बेसाहरा बच्चों को शिक्षा दे रही है जिसमें उनका पढाई से संबधित सारा खर्च भी स्वयं उठाती है, बच्चों को शिक्षित कर रही संस्था से जुडे दानदाताओं का एम एस बिट्टा ने सम्मानित किया।
इस अवसर पर संबोधित करते हुए एम एस बिट्टा ने जोशिले उद्बोधन के साथ कहा कि वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाना बहुत आसान होता है, अगर देश के लिये कुछ करना है तो संस्था की तरह आने वाली पीढी को शिक्षित करो उनमें देश भक्ति और अपने देश की संस्कृति कूट कूट कर भरो। वहीं मीडिया से रूबरू होते हुए बिट्टा ने कहा कि सुकमा हमले में शहीद हुए जवानों का बदला सरकार आने वाले 10 दिनों में ले लेगी, इसके लिये रणनीति बनाई जा रही है, वहीं उन्होंने शहीदों की शाहदत पर फोटो पॉलिटिक्स करने वाले नेताओं पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जो नेता मीडिया में सुर्खियां बनने के लिये शहीदों के नाम पर फोटो पॉलिटिक्स करते हैं उन्हें ये करना बंद कर देना चाहिये, इतना ही नहीं इस बीच उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल पर भी टिप्पडी करते हुए कहा कि जेएनयू में देश विरोधी नारे लगाये जाते हैं और सत्ता में बैैठे केजरीवाल छुपछाप बैठे रहते हैं, ऐसे देशद्रोहियों के खिलाफ कार्यवाही करते हुए जेएनयू को 5 महीने के लिये बंद कर देना चाहिये और जेएनयू में रहने वाले ऐसे विद्यार्थी और प्रोफेसरों को बाहर निकाल देना चाहिये जो देशद्रोही हैं और जेएनयू को नये सिरे से शुरू करना चाहिये।

loading...
SHARE THIS

0 comments: